अपना भवन बनाने के लिए पड़ौसी के भवन को खतरे में डाला
अपना भवन बनाने के लिए पड़ौसी के भवन को खतरे में डाला

अपना भवन बनाने के लिए पड़ौसी के भवन को खतरे में डाला

अपना भवन बनाने के लिए पड़ौसी के भवन को खतरे में डाला

मामला पुलिस के पास पहुंचा,खुदाई कर रहा मशीन चालक मशीन छोउक़र भागा

पंचकूला। पंचकूला औद्योगिक एरिया फेज 1 में  प्लॉट नंबर 352 के मालिक सुनील शर्मा अपने पड़ोसी से बेहद परेशान हैं।  क्योंकि प्लॉट नंबर 351 के मालिक उनके पड़ोसी सुर्दशन सिंगला ने प्लाट में इतनी गहरी खुदाई कर दी है कि सुनील के प्लाट में बने नये भवन को ही खतरा हो गया है। मामला पुलिस एवं माईनिंग विभाग तक भी पहुंच गया है और मामले में दोनों विभाग को शिकायत दे दी गई है।

अपना भवन बनाने के लिए पड़ौसी के भवन को खतरे में डाला

मिली जानकारी के अनुसार सुनील शर्मा ने अपने प्लॉट नंबर 352 में पिछले दिनों चार मंजिल का निर्माण कार्य पूरा किया है और इसकी कंप्लीशन प्रमाणपत्र लेने केे लिए एचएसआईडीसी को आवेदन कर रखा है। इसी बीच अचानक उन्हें पता लगरा कि उनका पड़ौसी प्लॉट नंबर 351 का मालिक भी पुराने ढांचे को तोडक़र दोबारा नये भवन का  निर्माण कर रहा है। उसने इसमें दो मंजिला बेसमेंट बनाने के लिए खुदाई तो शुरु कर दी, मगर सुनील शर्मा के नये बने भवन को कोई नुक्सान न पहुंचे इसके लिए कोई भी पुख्ता प्रबंध किये बिना खुदाई शुरु कर दी। जिससे कि सुनील शर्मा के भवन की ईंटे बाहर दिखने लगीं। इस मामले में जब सुनील शर्मा ने उनसे बात की तो वह इस समस्या का समाधान करने के बजाय उनसे झगड़ा करने लगा और मामला थाने तक भी जा चुका है।

अपना भवन बनाने के लिए पड़ौसी के भवन को खतरे में डाला

सुनील शर्मा ने इस संबंध में माईनिंग विभाग को भी सूचित किया तो उनके कर्मचारियों के आते ही खुदाई का काम कर रहा पोकिंग मशीन का चालक अपनी मशीन की चाबी निकाल कर मशीन छोडक़र भाग गया। पता चला है कि मशीन चालक के पास खुदाई करने के लिए 30 मार्च तक की अवधि का ही समय था और वह करीब 20 फुट तक ही खुदाई कर सकता था, बावजूद इसके वह अभी करीब 25 फुट से ज्यादा तक की खुदाई कर चुका है। सुनील शर्मा का कहना है कि नियमानुसार अगर आपने ङ्क्षसंगल मंजिल बेसमेंट की खुदाई करनी है तो आपका 8 फुट जगह छोडनी होगी औश्र यदि आपने दो मंजिला बंसमेंट बनानी है तो उसमें नीचे पाईलिंग करवानी पड़ती है। शर्मा का कहना है कि उनका पड़ौसी सिंगला दो मङ्क्षजला बेसमेंट बना रहा है और उसने इसके लिए कोई सावधानी नहीं बरती। उनका आरोप है कि सिंगला ने अपने करीब 20 लाख रुपये बचाने के चक्कर में उनकी ईमारत को खतरे में डाल दिया है। उनका कहना है कि जो हम दोनों की सांझी दीवार है, वह चार फुट है जिसके चलते मिट्टी खिसकनी शुरु हो गई है। हालांकि उसकी अगर साथ साथ मिट्टी गिरवाई जाती रहती तो भी दीवार को सहारा मिलता रहता। मगर उन्होंने भरत करवाने की बजाये साथ की साथ ख्ुादाई जारी रखी,जिसके चलते उनकी दीवार की इंटे नजर आने लगीं हैं। इस सबंध में जब सिंगला का पक्ष जानने के लिए उनके फोन पर संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने फोन ही नहीं उठाया।