अमृतसर रेल हादसा: जांच रिपोर्ट में नवजोत सिंह सिद्धू और नवजोत कौर को मिली क्‍लीन चिट! - Arth Parkash
Sunday, December 16, 2018
Breaking News
Home » पंजाब » अमृतसर रेल हादसा: जांच रिपोर्ट में नवजोत सिंह सिद्धू और नवजोत कौर को मिली क्‍लीन चिट!
अमृतसर रेल हादसा: जांच रिपोर्ट में नवजोत सिंह सिद्धू और नवजोत कौर को मिली क्‍लीन चिट!

अमृतसर रेल हादसा: जांच रिपोर्ट में नवजोत सिंह सिद्धू और नवजोत कौर को मिली क्‍लीन चिट!

नई दिल्‍ली: अमृतसर के जौड़ा फाटक पर दशहरा के दिन रावण दहन कार्यक्रम के दौरान रेल लाइन पर हुए भयानक हादसे की जांच रिपोर्ट में पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर को क्लीन चिट दे दी गई है|दरअसल, इस मामले में न्यायिक जांच बिठाई गई थी और इसका जिम्‍मा जालंधर के डिविजनल कमिश्नर बी पुरुषार्थ पर था| उन्‍होंने अपनी 300 पन्नों की जांच रिपोर्ट में सिद्धू दंपति को कलीन चिट दी है|

इस रिपोर्ट की खास बातें ये है कि नवजोत सिंह सिद्धू के बारे में इस रिपोर्ट में लिखा गया है कि वो घटना के दिन अमृतसर में मौजूद ही नहीं थे|वहीँ नवजोत कौर सिद्धू के बारे में लिखा गया है कि वो इस कार्यक्रम की चीफ गेस्ट थीं, लेकिन चीफ गेस्ट किसी भी वेन्यू पर जा कर ये चेक नहीं करता कि वहां किस तरह के इंतजाम है, ये आयोजकों को ही सुनिश्चित करना होता है|

रिपोर्ट में लिखा गया है कि आयोजकों ने जान-बूझकर इस दशहरे के कार्यक्रम को काफी देरी से शुरू किया और आयोजकों ने सिद्धू दंपति के नाम का फायदा उठाकर जरूरी विभागों से ना तो सही से परमिशन ली आयोजन की कई खामियों के साथ समझौता भी किया| इस रिपोर्ट में स्थानीय प्रशासन की भी गलती बताई गई है कि स्थानीय प्रशासन ने परमिशन देने से पहले आयोजन स्थल पर सही इंतजाम है या नहीं इस बात को चेक नहीं किया|

साथ ही स्थानीय नगर निगम और लोकल पुलिस ने भी उस वेन्यू पर हो रहे कार्यक्रम की तैयारियों को चेक नहीं किया और जब कार्यक्रम चल रहा था तब भी किसी पुलिस या नगर निगम कर्मचारी ने रेलवे ट्रैक पर खड़े लोगों को लेकर आपत्ति नहीं जताई| साथ ही इस रिपोर्ट में रेलवे ट्रैक के गेटमैन की भी गलती बताई गई है कि उसने भीड़ होने के बावजूद ट्रेन को धीमी गति से निकालने के लिए या रोकने के लिए सिग्नल नहीं दिया|

सूत्रों के मुताबिक यह रिपोर्ट 21 नवंबर को पंजाब सरकार को सौंपी गई थी| बता दे कि जालंधर के डिविजनल कमिश्नर बी पुरुषार्थ ने ये जांच पूरी करके अपनी रिपोर्ट पंजाब सरकार को सौंपी थी और अब इस रिपोर्ट पर आगे क्या एक्शन लिया जाएगा, ये खुद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह तय करेंगे| उधर इस रिपोर्ट में भविष्य में ऐसी घटना न हो इसको लेकर कई तरह के गाइडलाइन बनाने का सुझाव भी दिया गया है|

गौरतलब है कि बीते 19 अक्टूबर को अमृतसर में दशहरे के मौके पर एक भीषण रेल हादसा हो गया था| जिसमे दशहरा के इस मौके पर अमृतसर के जौड़ा फाटक के पास धोबी घाट मैदान में रावण के पुतले का दहन हो रहा था जिसे देखने के लिए कई लोग मैदान में खड़े थे तो वहीँ बड़ी संख्या में लोग मैदान से सटे रेलवे ट्रैक पर भी मौजूद थे। तभी तेज रफ्तार में ट्रेन आ गई और लोगों को कुचलते हुए निकल गई। कुछ ही सेकंडों में सारी खुशियां मातम में तब्दील हो गई और इस हादसे में 61 लोगों की मौत हो गई थी व 72 अन्य घायल हो गए थे|वहीँ इस हादसे में रेल सुरक्षा के मुख्य आयुक्त (सीसीआरएस) द्वारा की गई जांच में इस त्रासदी के लिए रेलवे ट्रैक के समीप खड़े लोगों की ‘लापरवाही’ और ‘अनधिकार प्रवेश’ को जिम्मेदार ठहराया  था|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share