Home » पंजाब » कोरोना का कहर: मोहाली में Night Curfew, जानें डीसी ने क्या कहा?
Night Curfew in Mohali

कोरोना का कहर: मोहाली में Night Curfew, जानें डीसी ने क्या कहा?

Night Curfew in Mohali : जो कोरोना वायरस एकदम थमता दिख रहा था वो इसतरह एक बार फिर लौटेगा, ऐसा शायद किसी ने नहीं सोचा था और यही वजह रही कि लोग ढील बरतने लगे| मास्क लगाना छोड़ दिया, सोशल डिस्टेंससिंग को महत्व नहीं दिया गया| मतलब, कोरोना वायरस को लेकर हर प्रकार की लापरवाही बरती जाने लगी| अब आलम यह है कि कोरोना वायरस अपना दायरा बढ़ाने पर उतारू है| देश के कई राज्यों में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों ने वहां की सरकार और प्रशासन की नींद उड़ा दी है| अभी हाल ही में पंजाब में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री ने बैठक की थी| जिसमें उन्होने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए कई पाबंदियों वाले फैसले लिए थे जो कि 1 मार्च से प्रभावी होंगे| इस दौरान उन्होने यह भी कहा था कि अगर जरुरत पड़ती है तो लॉकडाउन और नाईट कर्फ्यू लगाने के बारे में भी सोचा जा सकता है| कैप्टन ने यह फैसला क्षेत्रीय प्रशासन पर स्थिति को देखते हुए छोड़ा था|

फ़िलहाल, पंजाब में अगर लॉकडाउन और नाईट कर्फ्यू लगता है तो इसमें नुकसान और दिक्कत लोगों को ही है| इसलिए अगर इससे बचना है तो कोरोना को लेकर ढिलाई न बरतें| सावधान रहें और औरों को भी करें| कोरोना से बचाव के नियमों के प्रति आपकी जिम्मेदारी कोरोना के फैलाव को वहीं का वहीं रोक सकती है| मोहाली के डीसी गिरिश दयालन ने कहा कि फिलहाल मोहोली में नाईट कर्फ्यू(Night Curfew in Mohali) और लॉकडाउन लगाने जैसी कोई स्थिति नहीं है पर ऐसी ही स्थिति बनी रहे यह लोगों पर निर्भर करता है|

डीसी ने कहा कि लोग अगर सतर्कता बरतेंगे तो इसकी कोई जरूरत नहीं पड़ेगी। अभी लोग लापरवाही बरत रहे हैं इसलिए इतने केस सामने आ रहे हैं| लोग अपनी जिम्मेदारी समझें और कर्फ्यू और लॉकडाउन से बचें| वह अगर ऐसा नहीं करते हैं तो मजबूरन हमें सख्ती दिखानी होगी क्योंकि कोरोना को तो रोकना ही है| डीसी ने कहा कि लोग हर कीमत पर एहतियात बरतें। डीसी ने कहा कि पुलिस प्रशासन और संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें। नियमों की उल्लंघना करने वालों पर कार्रवाई की जाए। कोरोना वैक्सीन पर डीसी ने कहा कि फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। अगले सप्ताह से केंद्र की गाइडलाइन के मुताबिक 45 साल के ऊपर के लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएगी।

बतादेंकि, महाराष्ट्र में कोरोना ब्लास्ट हुआ है| महाराष्ट्र में वाशिम में एक ही हॉस्टल में रहकर पढ़ने वाले 229 स्टूडेंट्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं| इसके साथ ही इस हॉस्टल के 3 कर्मचारी भी COVID19 से पीड़ित मिले हैं| वहीं एक ही हॉस्टल में इस तरह से इतने सारे स्टूडेंट्स का एक साथ कोरोना पॉजिटिव आ जाना यहां के प्रशासन और राज्य सरकार के लिए बेहद चिंताजनक हो गया है| वहीं महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 8,807 नए मरीज मिले हैं और राज्य में बीते 24 घंटे में 80 मरीजों की मौत हो गई है| फिलहाल राज्य सरकार व प्रशासन द्वारा कोरोना की वृद्धि को रोकने के लिए तरह-तरह के प्रभावकारी कदम उठाये जा रहे हैं| लोगों से अपील की गई है कि वे कोरोना के नियमों का पालन करें| बेवजह बाहर न निकलें| उनके लिए मास्क और सोशल डिस्टेंससिंग बेहद जरुरी है|

Check Also

जिला नोडल आफिसर सुमित सिंह ने सेहत विभाग ने कोविड मरीजों के दाखिले के लिए जारी किए अस्पतालों का नंबर

पटियाला : सोमवार को सेवक कालोनी में छह केस आने के कारण संता दी कुटिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel