Home » Photo Feature » बहुत खूब: 23 साल की इस खूबसूरत मॉडल ने 93 रैंक के साथ पहली बार में ही क्लियर की UPSC परीक्षा, 19 साल की उम्र में रह चुकी है मिस इंडिया फाइनलिस्ट

बहुत खूब: 23 साल की इस खूबसूरत मॉडल ने 93 रैंक के साथ पहली बार में ही क्लियर की UPSC परीक्षा, 19 साल की उम्र में रह चुकी है मिस इंडिया फाइनलिस्ट

नई दिल्ली: जब कुछ करने का जज्बा आपके अंदर होता है तो आप बहुत कुछ कर जाते हैं और इसके बाद लोग आपको बस देखते रह जाते हैं।जहां कुछ ऐसा ही हो रहा है ऐश्वर्या श्योराण के साथ।दरअसल, ऐश्वर्या ने UPSC Civil Services Exam Final Result 2019 में अपना झंडा फहराया है।ऐश्वर्या श्योराण ने 93 रैंक हासिल की है।उनकी इस शानदार परफॉर्मेंस को देख लोग दंग है।

बात कुछ यूं है कि ऐश्वर्या श्योराण एक मॉडल हैं जो कि अभीतक मॉडलिंग करती आई हैं।मॉडलिंग के क्षेत्र में ऐश्वर्या श्योराण का एक अच्छा-खासा नाम है और हो भी क्यों न ऐश्वर्या श्योराण 2016 में 19 साल की उम्र में मिस इंडिया फाइनलिस्ट जो रह चुकी हैं।इसलिए लोगों के दंग रहने का जहां एक कारण है UPSC में उनका सफल होना वहीं दूसरा सबसे बड़ा कारण है कि क्या एक मॉडल इतना कुछ भी कर सकती है।फिलहाल, लोग दांतों तले उंगली दबाने को मजबूर हैं।

ऐश्वर्या श्योराण कहती हैं कि लक्ष्य देश की सेवा करना था, मां के कहने पर मॉडलिंग की…

ऐश्वर्या श्योराण बताती हैं कि उनकी मां मिस वर्ल्ड 1994 एवं बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्या राय से काफी इम्प्रेस हैं या यूं कहें कि वह उनकी बड़ी फैन हैं।इसलिए उनकी मां का सपना था कि जब उनकी बेटी होगी और अगर वह ऐश्वर्या जैसी खूबसूरत हुई तो वह उसे मॉडल बनाएंगी।जहां जब 1997 में उनका जन्म हुआ और वह सुंदर पैदा हुईं तो उनका नाम भी ऐश्वर्या रख दिया।ऐश्वर्या श्योराण बताती हैं कि उनका नाम ऐश्वर्या रखने का एक कारण यह भी था कि उस दौरान ऐश्वर्या राय का नाम काफी चल रहा था।ऐश्वर्या श्योराण बताती हैं कि उनकी मां ने उनका नाम तो ऐश्वर्या रख दिया था।

वहीं, अब बारी थी उनके मॉडल बनने की और नाम करने की।मां की इच्छा के अनुसार उन्होंने मॉडलिंग के क्षेत्र में कदम रखा और यहाँ वह मिस वर्ड तो नहीं मिस इंडिया फाइनलिस्ट जरूर बनीं।जहां उनके मिस इंडिया फाइनलिस्ट बनने पर उनकी मां की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा था।ऐश्वर्या श्योराण बताती हैं कि उनकी मां ने या उनके पिता ने कुछ भी उनपर जबरजस्ती नहीं थोपा।उनका जो भी करने का मन हुआ उसमे उन्हें घरवालों के पूरा सहयोग मिला।ऐश्वर्या श्योराण बताती हैं कि वह मॉडलिंग कर जरूर रही थीं लेकिन उनका लक्ष्य था देश की सेवा करना जो वह UPSC पास करके ही कर सकती थीं।इसलिए उन्होंने मॉडलिंग को एक साल ब्रेक दिया और जुट गईं UPSC क्लियर करने की तैयारी में और पा ली सफलता।

ऐश्वर्या श्योराण के सफलता के राज…

ऐश्वर्या श्योराण ने महज 23 साल की उम्र में UPSC जैसी बड़ी परीक्षा क्लियर की।ऐसे में उन्होंने इसके एक सुद्रण योजना बनाकर काम किया होगा जिससे उन्हें सफलता मिलें।सफलता प्राप्त करने को लेकर ऐश्वर्या श्योराण बताती हैं कि वर्ष 2017 में उन्होंने डीयू के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी) से इकोनॉमिक्स ऑनर्स से स्नातक की पढ़ाई की है।वहीं जैसे ही उनकी स्नातक की डिग्री कंपलीट हुई उनके पिता जो सेना में अफसर हैं उनकी पोस्टिंग मुंबई में हो गई।जब वह यहां आईं तो उन्होंने मश्हूर फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा, दक्षिणी के मश्हूर फैशन डिजाइनर विशाल विडप्पा के साथ काम किया साथ ही बड़े बड़े शोज फैशन में हिस्सा लिया।लेकिन 2018 में वह रुक गईं और उन्होंने मॉडलिंग को एक किनारे रख अपने एम UPSC में पास होने की ठान ली।बस फिर क्या था वह 2018 से जुट पड़ीं UPSC की तैयारी में।

बिना कोचिंग के इंटरनेट से की तैयारी…पिता की मदद ली…

ऐश्वर्या श्योराण ने कहा कि मैंने मई 2018 से यूपीएससी की परीक्षा के लिए तैयारी शुरू कर दी थी। मैंने बिना किसी कोचिंग के अपनी पढ़ाई जारी रखी। इस दौरान मैंने मॉडलिंग के साथ साथ अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को भी बंद कर दिया था। मुझे जो भी पाठ्य सामग्री चाहिए होती थी तो उसके लिए पिता से संपर्क करती थी। मेरी तैयारी में पिता ने काफी मदद की।इसके अलावा मैंने इंटरनेट को अपनी पढ़ाई का सोर्स बनाया।इंटरनेट से नोट्स डाउनलोड कर के प्रिंट कराती थी।इंटरनेट पर बहुत सारे सोर्स हैं जो यूपीएससी में आपकी मदद कर सकते हैं लेकिन ज़्यादा सोर्स से उलझन ज़्यादा हो सकती है।मैंने कोचिंग नहीं ली लेकिन मॉक टेस्ट बहुत दिए और सिर्फ एक कमरे में बैठ कर इस परीक्षा की तैयारी की।मैंने 10+8+6 का मंत्रा अपनाया।मैंने यूपीएससी की पढ़ाई के लिए 10+8+6 फॉर्मूला बनाया, यानि कि 10 घंटे पढ़ाई ,8 घंटे सोना और 6 घंटे खाने-पीने और अपनी पसंद का कोई भी काम करना।मैं सुबह 6 बजे उठती थी इसकी मुझे पहले से ही आदत थी क्योंकि मेरे घर में सभी लोग सुबह 6 बजे उठ जाते हैं।इस परीक्षा में स्ट्रेटर्जी बहुत ज़रूरी है। यूपीएससी सिलेबस के बाहर कुछ नहीं पूछता इसलिए आपको नोट्स बनाने बहुत ज़रूरी हैं।मै 100 पेज की किताब के 2 पेज नोट्स बना लेती थी।मटेरियल कलेक्टर करके रखने से अच्छा है मटेरियल शेडर बनें।

ऐश्वर्या श्योराण का मानना है कि जीवन में जो भी आप हासिल करना चाहते हैं वह बिना अथक परिश्रम के नहीं मिल जाता है।आपको उसके लिए मेहनत करनी होती है।और हां मेहनत के साथ साथ स्मार्ट तरीके से भी खुद को प्रीपेयर करना जरूरी है।ऐश्वर्या श्योराण कहती हैं कि मैं क्या कोई भी कुछ भी कर सकता है कोई भी UPSC जैसी परीक्षा क्लियर कर सकता है।बस इसके जरूरत है आपके लगन की।अगर आप में लगन है तो आप सबकुछ करने में सक्षम हैं।यह उनकी लगन ही थी कि उन्होंने एक साल की तैयारी में पहली बार में UPSC को क्लियर कर लिया।बतादेंकि, ऐश्वर्या श्योराण ने यूपीएससी परीक्षा में पहली बार में ही पूरे भारत में 93वां स्थान प्राप्त कर इतिहास रच दिया है।

नरेंद्र मोदी को मानती हैं आदर्श…

ऐश्वर्या श्योराण अपना सबसे बड़ा आदर्श पीएम नरेंद्र मोदी को मानती हैं।पीएम मोदी का सामाजिक जीवन उनके लिए सबसे बड़ी प्रेरणा है।

मूल रूप से हरियाणा की हैं ऐश्वर्या श्योराण …

ऐश्वर्या श्योराण ने बताया कि वह मूल रूप से हरियाणा की रहने वाली हैं।ऐश्वर्या श्योराण ने यह भी बताया जब वह UPSC का इंटरव्यू देने गईं तो उनसे हरियाणा के बारे में काफी कुछ पूछा गया।

Edited by Shiva Tiwari

Check Also

दैनिक राशिफल: गड़बड़ी होना देरी का कारण बन सकती है, शारीरिक स्वास्थ्य पर ध्यान दें

दैनिक राशिफल (21-सितम्बर-2020) मेष छात्रों को शिक्षा में अपेक्षित माहौल मिलेगा। नेत्र विकार हो सकते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel