Home » चंडीगढ़ » Lucknow : बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में बरी हुए महंत नृत्य गोपाल दास की तबीयत बिगड़ी
The Prime Minister, Shri Narendra Modi at the foundation stone laying ceremony of ‘Shree Ram Janmabhoomi Mandir’, in Ayodhya, Uttar Pradesh on August 05, 2020.

Lucknow : बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में बरी हुए महंत नृत्य गोपाल दास की तबीयत बिगड़ी

लखनऊ l अयोध्या आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की तबीयत अचानक बिगड़ने के बाद उन्हें एंबुलेंस से लखनऊ लाया गया है. सूत्रों के हवाले से पता चला है कि महंत नृत्य गोपाल दास को सांस लेने में परेशानी हो रही है. उन्होंने सीने में दर्द होने की भी शिकायत की है. ज्ञात रहे कि अभी कुछ दिन पहले ही महंत नृत्य गोपाल दास कोरोना से ठीक हुए हैं, महंत नृत्यगोपाल दास अगस्त के महीने में कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे, तब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नृत्यगोपाल दास को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया था.

बाबरी मस्जिद मामले में बरी हो चुके हैं महंत गोपाल दास
नृत्य गोपाल दास का जन्म बरसाना मथुरा के कहोला गांव में 1938 में हुआ है. महज 12 वर्ष की उम्र में ही उन्होंने संन्यास ले लिया था और मथुरा से अयोध्या आ गए थे. अयोध्या आने के बाद वो काशी चले गए. काशी जाने का मकसद संस्कृत की पढ़ाई करना था. 1953 में वह अयोध्या लौटे और मणिराम दास छावनी में रुके. उन्होंने राम मनोहर दास से दीक्षा ली थी. नृत्यगोपाल दास पर बाबरी विध्वंस में शामिल रहने का आरोप था. हालांकि सीबीआई कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया है.

जानें महंत नृत्य गोपाल दास
छोटी छावनी के हैं महंत नृत्यगोपाल दास. उनके शिष्य देश और दुनिया में फैले हुए हैं. वो सिर्फ राम जन्म भूमि न्यास के ही अध्यक्ष नहीं, बल्कि कृष्ण जन्म भूमि न्यास के भी अध्यक्ष हैं. इसी नाते वो मथुरा में कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर वहां शिरकत करते रहे हैं. आपको बता दें कि जब राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को लेकर शुरू में साधु-संतों में असंतोष था. लेकिन बाद में इस ट्रस्ट में इसके अध्यक्ष के तौर पर महंत नृत्य गोपाल दास को लाया गया और उसके बाद साधु-संत संतुष्ट हो पाए थे.

Check Also

एक्साइज विभाग में उमदा कारगुजारी दिखाने वाले 10 इंस्पेक्टरों सम्मानित

जालंधर : एक्साइज विभाग में उमदा कारगुजारी दिखाने वाले 10 इंस्पेक्टरों को सोमवार को विभाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel