Home » ब्रेकिंग न्यूज़ » किसान आंदोलन पर बढ़ी टेंशन, सुप्रीम कोर्ट की चार सदस्यी कमेटी से सदस्य भूपिंदर सिंह मान अलग
Kisan Andolan

किसान आंदोलन पर बढ़ी टेंशन, सुप्रीम कोर्ट की चार सदस्यी कमेटी से सदस्य भूपिंदर सिंह मान अलग

Kisan Andolan : किसान नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़कर आंदोलन छोड़ने को राजी नहीं हैं| वहीँ इस मामले पर हल के लिए सुप्रीम कोर्ट ने जिस चार सदस्यी कमेटी का गठन किया था वह कमेटी भी तितर-बितर होते हुए नजर आ रही है| सुप्रीम कोर्ट की चार सदस्यी कमेटी में शामिल सस्दय भूपिंदर सिंह मान ने खुद को कमेटी से अलग कर लिया है| भूपिंदर सिंह मान के अलग हो जाने पर अब चार सदस्यी इस कमेटी में तीन सदस्य ही बचे हैं| जिनका नाम अशोक गुलाटी, अनिल घनवंत और प्रमोद जोशी है|

किसान कमेटी से बात करने को राजी नहीं…

किसान (Kisan Andolan) कमेटी से बात करने को राजी नहीं है| उनका सीधी पहली बात ये है कि कानून रद्द किये जाएँ, कमेटी न बनाई जाये| किसानों का आरोप है जो कमेटी बनाई भी गई है उसमें शामिल लोग नए कृषि कानून के समर्थक हैं|

12 जनवरी को सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इन चार सदस्यों की कमेटी बनाई थी। जानिए इनके बारे में….

1. प्रमोद जोशी- नेशनल एकेडमी ऑफ एग्रिकल्चर रिसर्च मैनेजमेंट के डायरेक्टर रह चुके प्रमोद कुमार जोशी को आर्थिक-कृषि मामलों का जानकार माना जाता है|

2. अनिल घनवंत- महाराष्ट्र के बहुचर्चित शेतकारी संगठन के प्रमुख अनिल घनवंत की किसानों पर पकड़ मानी जाती है| इस संगठन की शुरुआत किसान नेता शरद जोशी ने की थी, जिनकी मांग थी कि किसानों को खुले बाजार में आने का अवसर मिले|

3. अशोक गुलाटी- कृषि विशेषज्ञ अशोक गुलाटी ICRIER में तीन साल प्रोफेसर रह चुके हैं| भारत सरकार को MSP के मुद्दे पर सलाह देने वाली कमेटी के सदस्य भी रह चुके हैं, 2015 में उन्हें पद्म श्री सम्मान दिया गया|

4. भूपिंदर सिंह मान- पूर्व राज्यसभा सांसद रह चुके हैं| भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष हैं| इसके साथ ही वह ऑल इंडिया किसान कॉर्डिनेशन कमेटी के प्रमुख भी हैं|

Check Also

Rahul Gandhi

सत्ता में आए तो जीएसटी का करेंगे पुनर्गठन : राहुल गांधी

तमिलनाडु में चुनावी अभियान का  ने किया शंखनाद Rahul Gandhi : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel