मुजफ्फरनगर में नगर पालिका बोर्ड की बैठक में राष्ट्र गीत वंदे मातरम का अपमान, कुर्सी पर बैठी रहीं मुस्लिम महिला सभासद
मुजफ्फरनगर में नगर पालिका बोर्ड की बैठक में राष्ट्र गीत वंदे मातरम का अपमान

मुजफ्फरनगर में नगर पालिका बोर्ड की बैठक में राष्ट्र गीत वंदे मातरम का अपमान, कुर्सी पर बैठी रहीं मुस

मुजफ्फरनगर में नगर पालिका बोर्ड की बैठक में राष्ट्र गीत वंदे मातरम का अपमान, कुर्सी पर बैठी रहीं मुस्लिम महिला सभासद

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में शनिवार को पालिका बोर्ड बैठक में हंगामे के बीच 196 करोड़ रुपये के विकास कार्यों के प्रस्ताव ध्वनिमत से पारित हुए। हालांकि इस बैठक से कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं हैं। कहा जा रहा है कि पालिका बोर्ड बैठक में दो मुस्लिम महिला सभासदों ने राष्ट्रगीत का अपमान किया। दोनों सभासद राष्ट्रगीत गाए जाने के दौरान कुर्सी से खड़ी नहीं हुईं जबकि अन्य सभी खड़े होकर राष्ट्रगीत गा रहे थे। वहीं इसे लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

पालिका बोर्ड बैठक में तय हुआ कि रेलवे स्टेशन के सामने से शौचालय और दुकानें हटाई जाएंगी। पालिका की 509 दुकानों के प्रीमियम और किराए को लेकर रखा गया प्रस्ताव पास हुआ, जिससे शहर के व्यापारियों को बड़ी राहत मिलेगी। पालिका को 15 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। पालिकाध्यक्ष ने बताया कि अगली बोर्ड बैठक 13 जुलाई को होगी। 

शनिवार को पालिका सभागार में केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. संजीव बालियान, कौशल विकास राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, पालिकाध्यक्ष अंजू अग्रवाल, पर्यवेक्षक सिटी मजिस्ट्रेट अनूप कुमार, ईओ हेमराज सिंह की मौजूदगी में बोर्ड बैठक हुई।

बताया गया कि पालिका बोर्ड बैठक को राष्ट्रगीत 'वंदे मातरम' के साथ शुरू किया गया, लेकिन इस दौरान दो मुस्लिम सभासद राष्ट्रगीत का अपमान करती दिखीं और कुर्सी से खड़ी नहीं हुईं। इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं और लोगों ने इस पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। हालांकि इस संबंध में बैठक में शामिल नेता व जनप्रतिनिधियों की और से कोई टिप्पणी अभी नहीं की गई है।
 
खोद दी शहर की सड़कें, सभासद नाराज
सभासद  विपुल भटनागर और प्रेमी छाबड़ा ने कहा कि  नवंबर 2021 में आईजीएल कंपनी से बिछाई जा रही गैस पाइपलाइन पर गृह कर की तरह टैक्स वसूली रनिंग मीटर के आधार पर वसूली करने का प्रस्ताव पारित किया गया था, परंतु अभी तक एक पैसे का भी भुगतान नहीं किया गया। शहर की सड़कों को खोद खोद कर गड्ढों में तब्दील कर दिया गया है। इन पर करोड़ों रुपये का पालिका का टैक्स बैठता है। केंद्रीय मंत्री डॉ संजीव बालियान ने कहा कि जो भी उन पर करोड़ों की राशि बताई जा रही है, उसका भुगतान हम उनसे पालिका को कराएंगे।

कपिल पहले आए और उद्घाटन में नहीं पहुंचे
पालिका के नए सभागार का उद्घाटन होना था। गेट पर फीता लगाया गया था। कौशल विकास राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल सबसे पहले पहुंचे और रिबन खुलवाकर डायस पर जाकर बैठ गए। कुछ देर बार उद्घाटन करने केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान और पालिकाध्यक्ष पहुंची।

दोनों ने कपिल देव को बुलाने का प्रयास किया, लेकिन कपिल देव डायस से नहीं उठे। इसके बाद उनके बिना ही उद्घाटन हुआ। पालिका बोर्ड बैठक में दो प्रस्ताव स्थगित हुए। पालिकाध्यक्ष ने कहा कि इन्हें अगली बोर्ड बैठक में शामिल किया जाएगा।

कांवड़ यात्रा पर खर्च किए जाएंगे करोड़ों रुपये
कांवड़ यात्रा को लेकर बोर्ड बैठक में प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास हुआ। शिव चौक पर कंट्रोल रूम बनेगा, जिस पर करीब 96 हजार रुपये खर्च होंगे। इसके अलावा खोया पाया केंद्र पर एक लाख 62 हजार रुपये खर्च किए जाएंगे।

प्रकाश व्यवस्था, जीपीएस और सेंसर पर हंगामा
पालिका बोर्ड बैठक में प्रकाश व्यवस्था, वाहनों में जीपीएस और सेंसर लगाए जाने के प्रस्ताव को लेकर हंगामा हुआ।

सभासदों पर जाहिर की नाराजगी
वार्ड संख्या 17 एवं 43 के सभासद राजीव शर्मा एवं मनोज वर्मा ने स्टेनो गोपाल त्यागी के नाम पर आपत्ति की। इस पर पालिकाध्यक्ष ने  दोनों सभासदों से नाराजगी जाहिर की। संचालन अधिशासी अधिकारी हेमराज सिंह एवं स्टेनो गोपाल त्यागी ने संयुक्त रूप से किया।

इन कार्यों का हुआ लोकार्पण
केंद्रीय मंत्री डॉक्टर संजीव बालियान, राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, पालिका अध्यक्ष अंजू अग्रवाल ने  संयुक्त रुप से नेताजी सुभाष चंद्र बोस एवं चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा का भव्य सुंदरीकरण का लोकार्पण किया गया। इसके बाद संयुक्त रूप से रानी झांसी पर पालिका द्वारा निर्मित कराए गए वर्टिकल गार्डन लोकार्पण किया गया।

ईओ के खिलाफ निंदा प्रस्ताव
सभासद गयूर अली ने अधिशासी अधिकारी के सभासदों के खिलाफ किए जा रहे आचरण पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए इनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की मांग की, जिस पर निंदा प्रस्ताव रखा गया। सभासद ममतेश ने सदन में यहां तक कहा कि अधिशासी अधिकारी उनसे एवं उनके पति से द्वेष रखते हैं। अगर मेरे पति को कुछ हुआ तो ईओ की जिम्मेदारी होगी।

नगर स्वास्थ्य अधिकारी नियुक्त करने की मांग
सभासदों ने कहा कि बरसात का मौसम शुरू हो गया है। मगर, पालिका के पास नगर स्वास्थ्य अधिकारी ही नहीं है। केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान ने समाधान कराने का भरोसा दिया।