Instructions for Installing Sign Boards on Highways: मुख्य सचिव ने सड़क हादसों में कमी लाने के लिए सभी राजमार्गों पर साइन बोर्ड लगाने के दिए निर्देश
Instructions for Installing Sign Boards on Highways

Instructions for Installing Sign Boards on Highways: मुख्य सचिव ने सड़क हादसों में कमी लाने के लिए स

Instructions for Installing Sign Boards on Highways: मुख्य सचिव ने सड़क हादसों में कमी लाने के लिए सभी राजमार्गों पर साइन बोर्ड लगाने के दिए निर्देश

यात्री व भारी वाहनों के बायें ओर चलने के नियम का सख्ती से पालन हो सुनिश्चित – मुख्य सचिव

संजीव कौशल की अध्यक्षता में हुई रोड सेफ्टी फंड मैनेजमेंट कमेटी की बैठक

सड़क सुरक्षा गतिविधियों के लिए लगभग 36 करोड़ रुपये के बजट को दी गई मंजूरी


चंडीगढ़, 22 सितंबर - Instructions for Installing Sign Boards on Highways: हरियाणा के मुख्य सचिव(Chief Secretary) श्री संजीव कौशल ने सड़क हादसों में कमी लाने के उद्देश्य से संबंधित अधिकारियों को सभी राजमार्गों पर उपयुक्त साइन बोर्ड(sign boards) लगाने और दुर्घटना संभावित क्षेत्रों की पहचान कर वहाँ पर यातायात नियमों(traffic rules) का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

श्री कौशल ने आज यहां रोड सेफ्टी फंड मैनेजमेंट कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश देते हुए कहा कि भारी वाहनों का बार-बार लाइन बदलना दुर्घटनाओं के मुख्य कारणों में से एक है। इसलिए सड़कों पर यात्री और भारी वाहनों के बायें ओर चलने के साइन बोर्ड लगाए जाएं और इस नियम का सख्ती से पालन किया जाना भी सुनिश्चित किया जाए। 

उन्होंने कहा कि सभी राजमार्गों पर उपयुक्त लाइट, साइन बोर्ड व सौंदर्यकरण का कार्य किया जाना चाहिए। इसके अलावा, रिफलेक्टिव टेप व साइन बोर्ड भी लगाए जाएं, ताकि रात्रि के समय ब्लाइंड स्पॉट व क्रासिंग पर दुर्घटनाओं की संभावना को कम किया जा सके। 

बैठक में इस वर्ष यातायात नियमों को सख्ती से लागू करने, इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर करने और यातायात नियमों के प्रति जनता को जागरूक करने के लिए किये जाने वाले कार्यों हेतू लगभग 36 करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी प्रदान की गई। 

जिला सड़क सुरक्षा समितियां आवंटित बजट का सुनियोजित ढंग से करें उपयोग

मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि जिला सड़क सुरक्षा समितियां को आवंटित बजट का सुनियोजित ढंग से उपयोग सुनिश्चित हो, इसके लिए समितियां उनके द्वारा वर्ष में सड़क सुरक्षा के लिए की जाने वाली विभिन्न गतिविधियों का चार्ट तैयार करें। साथ ही, प्रत्येक गतिविधि की समय सीमा और उस पर खर्च की जाने वाली राशि का भी उल्लेख किया जाए। 

लाइव मैप के जरिये की जा रही दुर्घटना संभावित क्षेत्रों की पहचान  

बैठक में बताया गया कि अब तकनीक का उपयोग कर लाइव मैप के माध्यम से दुर्घटना संभावित क्षेत्रों की पहचान की जा रही है। जहाँ ज्यादा दुर्घटनाएं घटित हो रही हैं, लाइव मैप पर ऐसे स्थानों के लिए स्वत: एक ग्रिड तैयार हो जाता है, जिससे पुलिस को तुरंत ऐसे स्थानों की जानकारी मिलती है। इसलिए सड़क सुरक्षा गतिविधियों के तहत सभी हितधारक विभागों जैसे पुलिस, लोक निर्माण, स्वास्थ्य, परिवहन और शहरी स्थानीय निकाय विभागों के साथ भी यह डाटा साझा किया जाएगा ताकि ऐसे क्षेत्रों पर विशेष फोकस कर दुर्घटनाओं में कमी लाई जा सके। 

जिला सड़क सुरक्षा समितियों को 30-30 लाख रुपये का बजट आवंटित

बैठक में जिला सड़क सुरक्षा समितियों को 30-30 लाख रुपये का बजट आवंटित किया गया। यमुनानगर, पलवल और सोनीपत में स्थापित किये जाने वाले ड्राइविंग प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान (आईडीटीआर) के लिए विभिन्न कार्यों हेतू 3 करोड़ रुपये से अधिक की राशि आवंटित की गई। 

बैठक में बताया गया कि कॉलेज विद्यार्थियों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने हेतू उच्चतर शिक्षा विभाग द्वारा सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत, आर्ट वर्क तैयार करना, विभिन्न जागरूकता गतिविधियों का आयोजन व सड़क सुरक्षा नियमों का व्यापक प्रचार - प्रसार किया जाता है। इस अभियान के लिए उच्चतर शिक्षा विभाग को 1.20 करोड़ रुपये आवंटित किये गए। इसी प्रकार, स्कूल शिक्षा विभाग को भी सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान हेतू 1.74 करोड़ रुपये आवंटित किये गए। इसके अलावा, सड़क सुरक्षा गतिविधियों के तहत अन्य गतिविधियों के लिए भी बजट आवंटित किया गया। 

बैठक में गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टीवीएसएन प्रसाद, लोक निर्माण (भवन एवं सड़कें) विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अंकुर गुप्ता, पुलिस महानिदेशक श्री पी के अग्रवाल, परिवहन विभाग के प्रधान सचिव श्री नवदीप विर्क, पुलिस महानिरीक्षक श्री अमिताभ ढिल्लों और परिवहन आयुक्त श्री राजनारायण कौशिक सहित अन्य अधिकारी उपिरस्थत रहे।