इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आयोजित की मेडिकल एजुकेशन सेमिनार - Arth Parkash
Saturday, September 22, 2018
Breaking News
Home » Uncategorized » इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आयोजित की मेडिकल एजुकेशन सेमिनार
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आयोजित की मेडिकल एजुकेशन सेमिनार

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आयोजित की मेडिकल एजुकेशन सेमिनार

दिनेश पटियाल

शिमला। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कंटीन्युअस मेडिकल एजुकेशन (सीएमई) के तहत शिमला में डॉक्टर्स के लिए होटल कॉम्बरमेर में एक सेमिनार का आयोजन किया। यह आयोजन डॉक्टर्स के लिए अग्रणी हेल्थकेयर नेटवर्किंग एप क्यूरोफाई के सहयोग से किया गया।

आईएमए शिमला के प्रेसिडेंट डॉ. अशोक कुंदल ने कहा, ”सेमिनार के सभी सत्र दिलचस्प और ज्ञानवर्धक थे। मैं चाहता हूं कि क्यूरोफाई के साथ यह साझेदारी लंबी चले ताकि हम हमारे साथ जुड़े डॉक्टर्स को इससे ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचा सकें।”

सेमिनार का नेतृत्व इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) की पटियाला ब्रांच के महासचिव डॉ. अजातशत्रु कपूर ने किया और इस दौरान उन्होंने डॉक्टर्स के बीच ‘यंग फॉरेवर’ के कॉन्सेप्ट के बारे में चर्चा की। यह सेमिनार डॉक्टर्स के लिए काफी महत्वपूर्ण रही क्योंकि इससे उनका प्रोफाइल काफी अच्छा होगा। सेमिनार में 60 डॉक्टर्स ने हिस्सा लिया। सीएमई केवल एक आयोजन भर नहीं है, यह डॉक्टर्स और हेल्थकेयर से जुड़े अन्य प्रोफेशनल्स के लिए नई स्किल्स सीखने और मरीजों की बेहतर देखभाल में निपुणता हासिल करने का एक अवसर है।

इस तरह की सेमिनार की मदद से क्यूरोफाई डॉक्टर्स की जानकारी बढ़ाकर न केवल उनके बीच अपनी स्थिति को मजबूत कर रही है बल्कि इस तरह की सीएमईज में डिजिटल टेक्नोलॉजी की आवश्यकता को भी स्थापित कर रही है, ताकि शिमला में होने वाली सीएमई का लाभ देशभर के डॉक्टर्स उठा सकें।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) भारत में चिकित्सा की आधुनिक वैज्ञानिक प्रणाली के डॉक्टर्स का एक राष्ट्रीय स्वैच्छिक संगठन है, जो डॉक्टर्स के हितों और समाज के स्वास्थ्य के लिए काम करता है। दूसरी तरफ, क्यूरोफाई डॉक्टर्स का एक नेटवर्किंग एप है जो डॉक्टर्स को एक दूसरे से जोडऩे, मेडिकल परामर्श लेने, सैकंड ओपीनियन लेने, अपनी जरूरतें पोस्ट करने और चिकित्सा के क्षेत्र में नई सूचनाएं पढऩे और साझा करने का मंच है। क्यूरोफाई के प्लेटफॉर्म से देशभर के 2,60,000 से भी ज्यादा डॉक्टर्स जुड़े हुए हैं और गूगल, फाइजऱ, सीएनबीसी आदि क्यूरोफाई के काम की प्रशंसा कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share