Arth Parkash : Latest Hindi News, News in Hindi
Leopard took the girl away हिमाचल : घर के आंगन से लड़की को उठा ले गया तेंदुआ
Sunday, 21 Nov 2021 18:00 pm
Arth Parkash : Latest Hindi News, News in Hindi

Arth Parkash : Latest Hindi News, News in Hindi

सोलन। हिमाचल प्रदेश में तेंदुए के हमले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। शिमला के बाद अब सोलन  जिले में तेंदुआ एक लड़की को उठाकर ले गया। हालांकि, पिता की बहादुरी के चलते बेटी की जान बच गई। वन विभाग की टीम ने लड़की के घर पर जाकर उसका हाल चाल जाना है। 

जानकारी के अनुसार, सोलन के जाबली में गांव सूजी से लड़की को तेंदुआ उसके घर से ही घसीटता हुआ कुछ दूर खेतों तक ले गया, मगर लड़की के पिता ने निर्भय होकर तेंदुए के पीछे छलांग लगाई और लाठी और पत्थर से तेंदुए को मारना शुरू किया। उसके बाद अन्य घरों से भी कुछ लोग बाहर निकले और शोर मचाना शुरू किया। इस वजह से तेंदुआ लड़की को खेत में ही छोड़कर भाग गया। शाम को करीब सात बजे पूजा अपने घर के बाहर बने शौचालय के लिए निकली थी। इस दौरान घर के आंगन में तेंदुआ पहले से ही हमले की फिराक में बैठा था। मौका पाते ही खूंखार जानवर लड़की को आंगन से उठा ले गया। शोर मचाने पर लड़की के पिता खेम राज बाहर निकले और तेंदुए का पीछा करने लगे। खेमराज ने पत्थर व डंडों से तेंदुए पर हमला किया। अपनी जान दांव पर लगाकर पिता ने बड़ी मुश्किल से बेटी को बचाया। यदि खेमराज समय पर बाहर नहीं निकलते तो तेंदुआ लड़की को अपना शिकार बना लेता। हैरानी की बात है कि इस घटना के करीब आधे घंटे बाद तेंदुआ फिर से खेमराज के आंगन में वापस पहुंच गया। इस दौरान ग्रामीणों ने बड़ी मुश्किल से तेंदुए को पत्थर व डंडों से भगाया।

फॉरेस्ट विभाग आया एक्शन में 

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, 22 नवंबर यानी सोमवार शाम को साढ़े सात बजे के करीब की यह घटना है। गांव सूजी में तेंदुए का आतंक के देखने को मिला है। घटना के अगले दिन वन विभाग के डीएफओ ने मंगलवार सुबह अपनी पूरी टीम के साथ जाबली पंचायत के सूजी गांव पहुंचे और मौके का मुआयना किया है. इस दौरान घर में पहुंची जाबली पंचायत की प्रधान भी उपस्थित रही। विभागीय टीम लड़की को मेडिकल जांच के लिए हॉस्पिटल ले गई है, ताकि किसी भी प्रकार की कोई अंदरूनी चोट तो नहीं है, इसका पता लगाया जा सके।

शिमला में तेंदुए का कहर

बता दें कि शिमला जिले में दिवाली की रात को 5 साल के बच्चे को तेंदुआ उठा कर ले गया था। बाद में जंगल में बच्चे के शव के अवशेष मिले थे। हालांकि, घटना के 15 दिन बाद इस तेंदुए को वन विभाग की टीम ने पकड़ लिया था। इससे पहले, 5 अगस्त को शिमला के कनलोग बच्ची को तेंदुआ उठा ले गया था।