Corona-1

Now corona infection over speed in Chandigarh, helpless in stopping administration

चंडीगढ़ में अब कोरोना संक्रमण ओवर स्पीड, प्रशासन रोकने में लाचार

शहर में नए कोविड मरीजों का पुराना रिकार्ड टूटा

एक ही दिन में 1834 केस सामने आए तो दो मरीजों ने तोड़ा दम

मनीमाजरा में 163 नए केस तो सैक्टर 22 में 73 केस सामने आए

अर्थ प्रकाश/साजन शर्मा

चंडीगढ़। शहर में आए दिन कोरोना के नये मरीजों के नए रिकार्ड बन रहे हैं। शहर में कोरोना की पहली व दूसरी लहर में इतनी संख्या में कोरोना के मरीज आ रहे हैं जो लोगों को डरा रहे हैं। इतने लहर में सामने आ रहे हैं। शहर में कोरोना पूरे पीक पर चल रहा है। शहर में हर रोज रिकार्ड केस सामने आ रहे हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की ओर से कहा जा रहा है कि शहर में कोविड के माइल्ड केस ज्यादा आ रहे हैं। वहीं यह भी देखने को मिल रहा है कि कई लोगों ने अभी तक कोविड की वैक्सीन की पहली डोज तक नहीं लगाई है। शहर में शुक्रवार को अब तक सभी पुराने रिकार्ड टूट गए हैं और एक दिन में 1834 नये कोरोना संक्रमित केस सामने आए हैं। ऐसे में शहर में कोविड एक्टिव मरीजों की संख्या 7257 हो गई है। वहीं शहर में आज दो मरीजों ने कोविड संक्रमण के चलते दम तोड़ दिया।

अब तक शहर में 1086 मरीज दम तोड़ चुके हैं।  शहर में आज शुक्रवार को कोविड के कारण दम तोडऩे वालों में एक 44 साल का व्यक्ति सैक्टर 26 के रैनबसेरा के बाहर सोया हुआ पाया गया तो उसे पुलिस की ओर जीएमएसएच 16 में ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने इसे ब्रॉट डेड घोषित किया। इसके बाद इस व्यक्ति का कोविड सैंपल लेने पर जांच में पाजिटिव पाया गया। उक्त व्यक्ति शराब के नशे में धुत्त था और किडनी रोग से पीडि़त बताया गया। इस व्यक्ति को कोविड वैक्सीन की कोई भी डोज नहीं लगी थी।

दूसरा केस सैक्टर 32 की रहने वाली 50 साल की महिला को बेहोशी की हालत में जीएमसीएच 32 में लाया गया तो उसे चिकित्कों ने ब्रॉट डेड घोषित करने के बाद उसका कोविड सैंपल जांचने में पाजिटिव पाया। उक्त महिला को कोविड की दोनों डोज लगी थी।

शहर में  शुक्रवार को कोविड प्रतिशतता 25.21 आंकी गई है। शहर में सबसे ज्यादा पाजिटिव केस मनीमाजरा में 163 नये केस सामने आए हैं।  मौली जागरां में 38 केस, पीजीआई कैंपस, हल्लोमाजरा,सैक्टर 42 में 28,28,28 केस सामने आए। सैक्टर 22 में 73 केस, सैक्टर 15 में 62,सैक्टर 19 में 35, सैक्टर 20 में 42,सैक्टर 23 में 41, सैक्टर 26 में 37, सैक्टर 27 में 34, सैक्टर 32 में 38, सैक्टर 35 में 40, सैक्टर 38 में 42, सैक्टर 41 में 40,सैक्टर 44 में 47, सैक्टर 45 में 58,सैक्टर 46 में 44, सैक्टर 47 व48 में 26,26 केस, सैक्टर 49 में 58, सैक्टर 50में 20, सैक्टर 51 में 27, धनास में 50,डडडूमजारा में 28, सैक्टर 38 वेस्ट में 21,रामदरबार में 27,सारंगपुर में 12 केस सामने आए। 

सैक्टर 14 में 10,सैक्टर 16 में 24,सैक्टर 11 में 17,सैक्टर 9 में 16,सैक्टर 21 में 25,सैक्टर 30 में 20, सैक्टर 33 में 26, सैक्टर 34 में 19,सैक्टर 40 में 29केस सामने आए। शहर के अन्य सैक्टरों,गांवों व कालोनियों से भी 4,5,6,8 केस सामन आए हैं।    शहर में जहां एक दिन में 1834 नये केस सामने आए तो कोविड से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 391 रही। शहर में प्रशासन की ओर से अब हर सैक्टर की गली में माइक्रो कंटेंमेंट जोन बनाए गए हैं ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

गलत पता देकर टेस्ट करा रहे लोग

नगर के स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग ने सभी सरकारी एवं प्राइवेट कोविड टैस्टिंग करने वालों को कड़े निर्देश दिये हैं कि वह उनके पास अपना कोविड टैस्ट करवाने के लिए आने वाले लोगों आधार कार्ड लेकर पंजीकरण  करें। ऐसा करने से शहर में लोगों की ओर से गलत पता देने वालों से निजात मिलेगी और जो पाजिटिव पाया जाता है उसका पता लगाना आसान होगा। उन्होंने बताया कि शहर में पाजिटिव पाए जाने वाले लोगों की ओर से गलत पता देने से संक्रमण से ग्रस्त मरीजों को खोजने में परेशानी आ रही है और उक्त लोग ही आगे संक्रमण फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग गलत पता देकर अपना टेस्ट करवाते हैं और बाद में पकड़े जाते हैं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
 


Comment As:

Comment (0)


shellindir ucuz fiyatlara garantili takipçiler Tiny php instagram followers antalya haberleri online beğeni al

>