ब्रेकिंग न्यूज़
Home » Punjab » डॉ बी. एस. चीमा ब्रह्मलीन हुए-
डॉ बी. एस. चीमा ब्रह्मलीन हुए-

डॉ बी. एस. चीमा ब्रह्मलीन हुए-

मोहाली (अप्रस)।  सन्त निरंकारी मंडल चंडीगढ़ जोन के पूर्व जोनल इंचार्ज व मोहाली ब्रान्च के पूर्व संयोजक डॉ बी. एस. चीमा जी आज सुबह 1-30 बजे फेज़ 4 में स्थित अपने पारिवारिक चीमा मैडिकल कॉम्पलैक्स में ब्रह्मलीन हो गए। उनका अन्तिम संस्कार आज मोहाली के शमशान घाट में किया गया, जहां इनके पार्थिव शरीर को मुख्य अग्नि इनके दोनो सपुत्रों ने दी। डॉ. चीमा के निधन पर ट्राईसिटी से हज़ारों की संख्या में उनके चाहवानों के अतिरिक्त शहर की प्रमुख हस्तियां व सन्त निरंकारी मंडल के केन्द्रीय योजना एवं सलाहकार बोर्ड के चेयरमैन श्री गोबिंद सिंह जी सत्गुरू माता संविदर हरदेव जी महाराज का आर्शीवाद लेकर पहुंचे। डॉ. चीमा का जन्म 14 मार्च, 1930 को जिला लुधियाना के गांव लसोई में हुआ। उनकी आयु 88 वर्ष थी। वे वर्ष 1988 में पंजाब हैल्थ सर्विसिज़ के निदेशक के पद से सेवानिवृश्र हुए थे और उसके बाद उन्होंने फेज़-4 में चीमा मैडिकल कॉम्पलैक्स की स्थापना की जिसके वे चीफ डॉयरेक्टर थे। इस मैडिकल कॉम्पलैक्स को चीमा नर्सिंग होम के नाम से भी जाना जाता है।    मोहाली (अप्रस)।  सन्त निरंकारी मंडल चंडीगढ़ जोन के पूर्व जोनल इंचार्ज व मोहाली ब्रान्च के पूर्व संयोजक डॉ बी. एस. चीमा जी आज सुबह 1-30 बजे फेज़ 4 में स्थित अपने पारिवारिक चीमा मैडिकल कॉम्पलैक्स में ब्रह्मलीन हो गए। उनका अन्तिम संस्कार आज मोहाली के शमशान घाट में किया गया, जहां इनके पार्थिव शरीर को मुख्य अग्नि इनके दोनो सपुत्रों ने दी। डॉ. चीमा के निधन पर ट्राईसिटी से हज़ारों की संख्या में उनके चाहवानों के अतिरिक्त शहर की प्रमुख हस्तियां व सन्त निरंकारी मंडल के केन्द्रीय योजना एवं सलाहकार बोर्ड के चेयरमैन श्री गोबिंद सिंह जी सत्गुरू माता संविदर हरदेव जी महाराज का आर्शीवाद लेकर पहुंचे। डॉ. चीमा का जन्म 14 मार्च, 1930 को जिला लुधियाना के गांव लसोई में हुआ। उनकी आयु 88 वर्ष थी। वे वर्ष 1988 में पंजाब हैल्थ सर्विसिज़ के निदेशक के पद से सेवानिवृश्र हुए थे और उसके बाद उन्होंने फेज़-4 में चीमा मैडिकल कॉम्पलैक्स की स्थापना की जिसके वे चीफ डॉयरेक्टर थे। इस मैडिकल कॉम्पलैक्स को चीमा नर्सिंग होम के नाम से भी जाना जाता है।     परिवार की ओर से बताया गया है कि डॉ. चीमा जी के जीवन से प्रेरणा लेने के लिए 16 जनवरी दिन मंगलवार को फेस-6 में स्थित सन्त निरंकारी सत्संग भवन में प्ररेणा दिवस (श्रद्धांजलि समारोह) रखा गया है जिसका समय दोपहर 12 से 1:30 तक का निश्चित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Share