Punjab government's report card on corruption, see how much action has been taken so far
Bhagwant-Man1

Punjab government's report card on corruption, see how much action has been taken so far

पंजाब सरकार का करप्शन पर रिपोर्ट कार्ड, देखें अब तक हुईं कितनी कार्रवाई

चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने अब तक भ्रष्टाचार पर की गई कार्रवाई का रिपोर्ट कार्ड जारी कर दिया है। सरकार बनने के बाद अब तक 28 केस दर्ज किए जा चुके हैं। जिनमें 45 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। हालांकि 8 आरोपी अभी फरार हैं। इनमें सबसे ज्यादा 22 केस माइनिंग और जंगलात विभाग के हैं। भ्रष्टाचार के 14 केस वाली पंजाब पुलिस दूसरे नंबर पर है।

करप्शन केस में पकड़े आरोपियों में सरकार के ही हेल्थ मिनिस्टर डॉ. विजय सिंगला, पूर्व कांग्रेसी मंत्री साधु सिंह धर्मसोत, पूर्व कांग्रेस विधायक जोगिंदरपाल भोआ और आईएएस अफसर संजय पोपली शामिल हैं। इसके अलावा पूर्व मंत्री संगत सिंह गिलजियां की तलाश हो रही है। वहीं पूर्व मंत्री भारत भूषण आशू की विजिलेंस जांच की जा रही है।

पंजाब सरकार में सेहत मंत्री डॉ. विजय सिंगला ने विभाग के हर काम में 1 प्रतिशत कमीशन मांगा। विभाग के अफसर ने सीएम भगवंत मान को शिकायत कर दी। जिसके बाद सिंगला को कैबिनेट से बर्खास्त कर गिरफ्तार किया गया। पूर्व कांग्रेसी मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने एक पेड़ कटाई के बदले 500 रुपए की रिश्वत ली। करीब सवा करोड़ के घपले के बाद विजिलेंस ने उन्हें अमलोह स्थित घर से सोते वक्त ही गिरफ्तार कर लिया।

भोआ से पूर्व कांग्रेसी विधायक जोगिंदरपाल का नाम अवैध माइनिंग में सामने आया। पुलिस ने केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। एएसआई अफसर संजय पोपली ने सीवरेज बोर्ड के ष्टश्वह्र रहते 7.30 करोड़ के टेंडर अलॉटमेंट के बदले 7 लाख की रिश्वत मांगी। 3.50 लाख की पहली किश्त ले ली थी। दूसरी किश्त मांगने पर ठेकेदार ने शिकायत कर दी। 24 मार्च को जालंधर तहसील की क्लर्क पर केस दर्ज हुआ। नौकरी के बदले 4 लाख रुपए मांगे थे।

25 मार्च को गुंडा टैक्स वसूलने के केस में 17 लोग गिरफ्तार हुए। 1.65 करोड़ की रिकवरी हुई। तरनतारन में सब इंस्पेक्टर समेत 4 लोगों पर केस दर्ज हुआ। एसआई 5 हजार की रिश्वत मांग रहा था। प्रोडक्शन वारंट के प्रोसेस के लिए यह रिश्वत मांगी गई थी। संगरूर में एएसआई पर 10 हजार रुपए रिश्वत मांगने के आरोप लगे। एएसआई ने पूछताछ की बा कहकर चालान सबमिट करने के लिए रिश्वत मांगी थी।

तरनतारन में एएसआई पर 20 हजार रुपए की रिश्वत मांगने के आरोप लगे। इसका 14 सेकेंड का वीडियो सामने आया था। किसी जांच के संबंध में उससे रिश्वत मांगी गई थी कि उसमें उसका नाम नहीं आएगा। नवांशहर में सरकारी बुक डिपो के कर्मचारियों पर पर्चा दर्ज हुआ। शिकायत करने वाले ने कहा कि उनके बेटे के नाम के करेक्शन के लिए 1700 रुपए लिए थे। उन्होंने बेटी का नाम ठीक करवाना था तो उससे 15 हजार रुपए मांगे जा रहे थे।

सीएम मान ने जारी की एंटी करप्शन हेल्पलाइन

सीएम भगवंत मान ने पंजाब में सरकार बनने के बाद एंटी करप्शन हेल्पलाइन नंबर 95012-00200 जारी किया है। कोई भी व्यक्ति इस पर रिश्वत मांगने या लेने की ऑडियो या वीडियो बनाकर भेज सकता है। अगर शिकायत सही मिली तो इस पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी।