रोडवेज की किलोमीटर स्कीम में शामिल होंगी एक हजार बसें
रोडवेज की किलोमीटर स्कीम में शामिल होंगी एक हजार बसें

रोडवेज की किलोमीटर स्कीम में शामिल होंगी एक हजार बसें

रोडवेज की किलोमीटर स्कीम में शामिल होंगी एक हजार बसें

चंडीगढ़। हरियाणा रोडवेज में किमी स्कीम के तहत एक हजार और बसों को शामिल किया जाएगा। मनोहर सरकार के पहले कार्यकाल में इस योजना की शुरूआत हुई थी। रोड़वेज कर्मचारी शुरू से ही किमी स्कीम का विरोध करते रहे हैं। किमी स्कीम के तहत वर्तमान में परिवहन बेड़े में 690 बस हैं। इनकी संख्या बढ़ाकर 1690 करने का फैसला हो चुका है। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया कि किलोमीटर स्कीम बसों को बढ़ाने के लिए टेंडर जारी करने की प्रक्रिया भी जल्द शुरू की जाएगी।

किलोमीटर स्कीम में बस प्राइवेट कंपनियों व व्यक्ति विशेष की होती हैं। ड्राइवर भी बस मालिक का होता है और इसमें कंडक्टर सरकार नियुक्त करती है। इन बसों का साइज और रंग रोडवेज बसों जैसा ही होता है। पहले की योजना कामयाब होने के बाद ही सरकार ने इसका विस्तार करने का निर्णय लिया है। 
परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सरकार ने परिवहन बेड़े में 1000 नई बसें भी शामिल करने का निर्णय लिया है। अभी तक सरकार चेसिज खरीदती थी और बाद में बस की बॉडी तैयार करवाई जाती है। हर प्रकार के पुर्जों व बस में लगने वाले सामान के लिए बार-बार हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक में एजेंडा आता था। अब बनी बनाई बसों की खरीद होगी। 
नई बसों में जीपीएस सहित सभी प्रकार की आधुनिक सुविधाएं होंगी। साथ ही, परिवहन बेड़े में 150 लग्जरी बसों की खरीद का निर्णय लिया है। इन वातानुकूलित बसों को प्रदेश में विभिन्न रूट्स पर चलाया जाएगा। अभी तक परिवहन बेड़े में शामिल 29 वोल्वो बसों को ही नई दिल्ली से चंडीगढ़, चंडीगढ़ से नई दिल्ली और गुरुग्राम तक के लिए चलाया जा रहा है। 150 नई लग्जरी बसों को नई दिल्ली से हिसार, करनाल, चंडीगढ़ से सोनीपत, रोहतक, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, हिसार के अलावा दूसरे राज्यों में भी चलाया जाएगा।  शर्मा ने बताया कि पिछले साल 800 से अधिक बसों की खरीद की गई थी। उस समय चेसिज लिए गए थे और गुरुग्राम स्थित इंजीनियरिंग वर्कशॉप में बसों की बॉडी बन रही हैं। इन बसों को डिमांड के हिसाब से डिपो में भेजा जा रहा है।

150 इलेक्ट्रिक बसों की खरीद पर मुहर 
प्रदेश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए सरकार नीति भी बना रही है। परिवहन बेड़े में भी 150 इलेक्ट्रिक बसों को शामिल करने पर मुहर लगी है। इन बसों को फिलहाल छोटे रूट्स व सिटी में चलाया जाएगा। नई दिल्ली से गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत व बहादुरगढ़ जैसे शहरों में इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी। इसी तरह से चंडीगढ़ से पंचकूला, अंबाला सहित कई अन्य रूट्स पर भी इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी।