Home » Photo Feature » लोन लेना पड़ेगा… एक किलो आम खरीदने में 2 लाख से ज्यादा का आएगा खर्च, स्वाद के लिए क्या कुछ भी करेंगे लोग?
World Costliest tamago mango

लोन लेना पड़ेगा… एक किलो आम खरीदने में 2 लाख से ज्यादा का आएगा खर्च, स्वाद के लिए क्या कुछ भी करेंगे लोग?

World Costliest tamago mango: शायद ऐसे बहुत कम लोग होंगे, जिन्हें आम पसंद न हो| लोग तो आम का जमकर स्वाद चखते हैं। फलों में आम की अपनी एक अलग अहमियत है और इसे राजा का दर्जा मिला हुआ है| भारत में आम की कई सारी किस्में हैं| लेकिन एक किस्म के आम को खाने से पहले आपको सौ बार सोचना पड़ेगा| यह किस्म भारत में वैसे नहीं उगाई जाती है मगर अब इसकी शुरुआत हुई है| बतादें कि, इस किस्म के आम को खाने के लिए आपको लोन लेने की जरुरत पड़ सकती है| क्योंकि इस आम की कीमत ही इतनी महंगी है| इसकी कीमत जानकर आप एकदम दंग रह जाएंगे|

दरअसल, यह जापानी किस्म का आम है, जिसे ‘ताईयो नो तामागो’ नाम मिला हुआ है| इसे 1 किलो खरीदने पर आपको 2 लाख से ज्यादा की रकम खर्च करनी पड़ती है| बताया जाता है कि साल 2017 में दो तमागो आम की बिक्री रिकॉर्ड करीब दो लाख 72 हजार रुपये में हुई थी| ऐसे में आप सोच सकते हैं कि एक किलो खरीदने के लिए आपको कितने पैसे खर्च करने पड़ेंगे। बताया तो यह भी जाता है कि इस किस्म का एक ही आम 2.70 लाख की कीमत में बिक चुका है| बरहाल, यह विश्व का सबसे महंगा आम है| यह आम अपना एक अलग वातावरण मांगता है और इसके पेड़ को उगाने से लेकर इसके उत्पादन तक बेहद सावधानी और सूझ-बूझ दिखानी पड़ती है| ये आम खाने में बहुत स्वादिष्ट और रसदार होता है। यह तामागो रेडिस कलर का होता है, इस वजह से इसे ‘एग ऑफ सन’ भी कहा जाता है।

World Costliest tamago mango

बताया था न कि भारत में भी अब इसकी शुरुवात हो चुकी है…

एमपी के जबलपुर में दुनिया के इस सबसे महंगे आम की खेती हो रही है। जबलपुर के चरगवां में संकल्प परिहार इसकी खेती कर रहे हैं| संकल्प परिहार इस आम को अपने बगीचे में उगा रहे हैं। संकल्प परिहार ने अपने 4 एकड़ के बगीचे में जापानी तामागो आम के 52 पेड़ लगाए हैं। इसके अलावा उन्होने 14 अलग-अलग किस्म के आम के और पेड़ भी लगायें हुए हैं| परिहार का कहना है कि जबलपुर में हमने प्रयोग के तौर पर इसे लगाया था और अब इस आम को जबलपुर का वातावरण अच्छा लगा और इसके पेड़ यहां पर लग गए। परिहार कहते हैं कि अभी मैं इन्हें बेचना नहीं चाहता हूँ| भारत में इसकी पैदावर को बढ़ाना है| जबलपुर में मैंने इसकी शुरुवात की है| इस किस्म के आम के और पेड़ मैं अभी तैयार करूंगा| इनके बच्चे करने हैं और उन्हें बड़ा करना है|

World Costliest tamago mango

तीन साल से कर रहे हैं खेती…..

संकल्प परिहार ने कहा कि हम तीन साल से तामागो आम की खेती कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बगीचे में जब से जापानी आम लगना शुरू हुआ है, तब से चोरों की निगाहें भी उनके बगीचे पर लगी हुई हैं। उन्होंने कहा कि वह अपनी पत्नी के साथ रात को आम के बगीचे की रखवाली करते हैं। संकल्प परिहार बताते हैं कि जब वह जबलपुर से हैदराबाद ट्रेन में जा रहे थे| तब उस समय एक सज्जन ने उन्हें यह जापानी आम के पौधे दिए थे। जहां जापानी आम के पौधे घर लाकर बगीचे में लगा दिए थे। समय-समय पर वह इनकी देखभाल करते रहे और आज इस आम ने उन्हें प्रसिद्धि दिला दी है। इस आम की खेती जबलपुर में होने से जबलपुर की ख्याति देश भर में तो फैली ही है साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी पहुंच गई है।

World Costliest tamago mango

 

Check Also

चरणबद्ध तरीके से लागू होगी दो बच्चों की नीति

गुवाहाटी: हिमंत बिस्व सरमा ने शनिवार को कहा कि असम सरकार राज्य की ओर से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel