Home » खेल » क्यों सनराइजर्स हैदराबाद के लिए आखिरी हो सकता है डेविड वॉर्नर का यह सीजन, डेल स्टेन ने बताई वजह

क्यों सनराइजर्स हैदराबाद के लिए आखिरी हो सकता है डेविड वॉर्नर का यह सीजन, डेल स्टेन ने बताई वजह

नई दिल्ली। लगातार दो जीत के साथ लय में लौटी गत चैंपियन मुंबई इंडियंस मंगलवार को यहां आइपीएल मैच में अंतिम स्थान पर चल रही सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत की प्रबल दावेदार होगी। मुंबई ने अपने पिछले मैच में कीरोन पोलार्ड की तूफानी पारी की बदौलत फॉर्म में चल रही सीएसके को चार विकेट से हराया था। दूसरी तरफ सनराइजर्स को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 55 रन की शर्मनाक हार झेलनी पड़ी, जो मौजूदा सत्र में उसकी सात मैचों में छठी हार है। टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है, जिसमें खराब फॉर्म से जूझ रहे डेविड वार्नर से कप्तानी केन विलियमसन को सौंप दी गई है।

मुंबई के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (250 रन) और क्विंटन डिकॉक (155 रन) एक बार फिर पांच बार की चैंपियन टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने के अलावा बड़ी पारी खेलना चाहेंगे। मुंबई का आक्रामक मध्यक्रम पिछले दो मैचों में प्रभावी प्रदर्शन करने में सफल रहा है, जो टीम प्रबंधन के लिए राहत की बात है। चेन्नई के खिलाफ 34 गेंद में नाबाद 87 रन की मैच विजेता पारी खेलने वाले पोलार्ड (168 रन) इस फॉर्म को बरकरार रखने उतरेंगे। क्रुणाल पांड्या (100 रन), हार्दिक पांड्या (52 रन) और सूर्यकुमार यादव (173 रन) विरोधी टीम को ध्वस्त करने में सक्षम हैं और एकजुट होकर प्रदर्शन करने का प्रयास करेंगे। यह भी देखना होगा कि क्या मुंबई की टीम जेम्स नीशाम की जगह इशान किशन और जयंत यादव में से एक को मौका देती है या नहीं। नीशाम ना तो बड़ी पारी खेल पाए हैं और ना ही विकेट हासिल कर पाए हैं।

मुंबई के गेंदबाजों को हालांकि चेन्नई के खिलाफ खराब प्रदर्शन को भुलाकर नई शुरुआत करनी होगी। जसप्रीत बुमराह (6 विकेट) और ट्रेंट बोल्ट (8 विकेट) ने डेथ ओवरों में शानदार गेंदबाजी की है और सनराइजर्स के बल्लेबाजों को परेशान करने में सक्षम हैं। लेग स्पिनर राहुल चाहर (11 विकेट) मुंबई के सबसे सफल गेंदबाज हैं, लेकिन उन्हें क्रुणाल से सहयोग की जरूरत है, जो सिर्फ तीन विकेट चटका पाए हैं। पोलार्ड ने भी पिछले मैच में दो महत्वपूर्ण विकेट चटकाए थे और पांचवें या छठे गेंदबाज की भूमिका निभा सकते हैं।

सनराइजर्स की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। टीम अपने शीर्षक्रम विशेषकर जॉनी बेयरस्टो (248 रन) पर काफी अधिक निर्भर है, लेकिन मध्यक्रम ने अधिकांश मौकों पर टीम को निराश किया है। रॉयल्स के खिलाफ टीम ने वार्नर को बाहर करके मनीष पांडे और बेयरस्टो से पारी का आगाज कराया, जबकि विलियमसन तीसरे नंबर पर आए। टीम अगर इसी क्रम को बरकरार रखती है तो इन तीनों को अधिकतर मौकों पर बड़े स्कोर बनाने होंगे। विजय शंकर (58 रन), केदार जाधव (40 रन), अब्दुल समद (36 रन) और मुहम्मद नबी (31 रन) को भी बल्ले से बेहतर योगदान देना होगा।

स्टार लेग स्पिनर राशिद खान 10 विकेट के साथ टीम के सबसे सफल गेंदबाज हैं, लेकिन तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (3 विकेट) और खलील अहमद (4 विकेट) उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे हैं। यह देखना होगा कि संदीप शर्मा को दोबारा मौका मिलता है या फिर सिद्धार्थ कौल को खिलाया जाता है।

टीमें

मुंबई इंडियंस : रोहित शर्मा (कप्तान), एडम मिल्ने, आदित्य तारे, अनमोलप्रीत सिंह, अनुकूल रॉय, अर्जुन तेंदुलकर, क्रिस लिन, धवल कुलकर्णी, हार्दिक पांड्या, इशान किशन, जेम्स नीशाम, जसप्रीत बुमराह, जयंत यादव, कीरोन पोलार्ड, क्रुणाल पांड्या, मार्को जैनसेन, मोहसिन खान, नाथन कूल्टर नाइल, पीयूष चावला, क्विंटन डिकॉक, राहुल चाहर, सौरभ तिवारी, सूर्यकुमार यादव, ट्रेंट बोल्ट और युद्धवीर सिंह।

सनराइजर्स हैदराबाद : केन विलियमसन (कप्तान), डेविड वार्नर, जॉनी बेयरस्टो, मनीष पांडे, श्रीवत्स गोस्वामी, रिद्धिमान साहा, प्रियम गर्ग, विजय शंकर, अभिषेक शर्मा, अब्दुल समद, विराट सिंह, जेसन होल्डर, मुहम्मद नबी, राशिद खान, शाहबाज नदीम, भुवनेश्वर कुमार, संदीप शर्मा, खलील अहमद, सिद्धार्थ कौल, बासिल थंपी, जगदीश सुचित, केदार जाधव और मुजीब उर रहमान।

Check Also

कर्नल बेटा मरीजों की जान बचाने में व्यस्त, न आ सका बीमार माँ से मिलने

लखनऊ। एक तरफ कोरोना से संक्रमित मरीजो की जान बचाने के लिए सामने फर्ज था, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel