Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » UP विधानसभा में हंगामा: गर्वनर पर बरसे कागज के गोले, CM योगी बोले- ये सरासर गुंड़ागर्दी है

UP विधानसभा में हंगामा: गर्वनर पर बरसे कागज के गोले, CM योगी बोले- ये सरासर गुंड़ागर्दी है

राज्यपाल पर फेंके गए कागज़ के गोले, कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

  • उत्तर प्रदेश विधानमंडल बजट सत्र की हंगामेदार शुरुआत

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानमंडल के बजट सत्र में आज मंगलवार को दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राज्यपाल रामनाईक के अभिभाषण शुरू होते ही उनपर कागज़ के गोले फेंके जाने लगे|इसके अलावा विपक्ष ने जमकर नारेबाजी भी की।वहीँ विपक्षी विधायकों की इन हरकतों पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे गुंडागर्दी करार दिया और इस हंगामें के बाद विधानसभा और विधानपरिषद की कार्यवाही कल 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई|

आपको बता दें कि विपक्षी दलों के विधायक राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान ‘राज्यपाल वापस जाओ’ के नारे लगा रहे थे।उधर समाजवादी पार्टी के विधायक आज अलग ही तेवर में दिखे|खबरों के मुताबिक, राज्यपाल राम नाइक ने सुबह 11 बजे समवेत सदन में जैसे ही अभिभाषण पढ़ना शुरू किया, विपक्षी सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया। उन्होंने ‘राज्यपाल वापस जाओ’ के नारे लगाए और नाईक की तरफ कागज के गोले फेंके। हालांकि राज्यपाल की ओर फेंके गए कागज के गोले उन तक नहीं पहुंच सके और सुरक्षाकर्मियों ने फाइल कवर के सहारे उन्हें रोक लिया।

कागज के गोले उछाले जाने के बाद योगी की विपक्ष पर प्रतिक्रिया….

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभिभाषण के दौरान राज्यपाल के सामने समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस सदस्यों ने जिस तरह का आचरण किया है वह निंदनीय है। योगी ने कहा, ‘इस तरह के असंवैधानिक और आलोकतांत्रिक प्रदर्शन से संसदीय लोकतंत्र और सदन की गरिमा भंग होती है।’ उन्होंने विपक्षी सदस्यों के आचरण को संसदीय लोकतंत्र को कमजोर करने वाला बताते हुए कहा कि इससे साबित होता है कि इन सदस्यों की लोकतंत्र में निष्ठा नहीं है और वे संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने का प्रयास कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा सदस्यों ने गुंडागर्दी कर राज्यपाल पर कागज के गोले उछाले। उन्होंने कहा, ‘इससे स्पष्ट है कि सपा गुंडागर्दी वाले आचरण से अब भी बाज नहीं आ पा रही है। इनकी कार्यप्रणाली जब सदन में इतनी अराजक, अनुशासनहीन और बर्बर हो सकती है तो सार्वजनिक जीवन में इनका आचरण कैसा होता होगा?

Check Also

दो सगी बहनों की हत्या का आरोपी चंडीगढ़ पुलिस के रिटायर्ड एसआई का बेटा

इकलौते भाई को राखी बांधने जाना था बहनों ने चंडीगढ़। स्वतंत्रता दिवस और राखी वाले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel