Home » उत्तराखंड » यायायात निदेशालय एक्शन मोड में, क्रेन से उठाए जाएंगे सड़क किनारे खड़े वाहन
Travel directorate action mode

यायायात निदेशालय एक्शन मोड में, क्रेन से उठाए जाएंगे सड़क किनारे खड़े वाहन

देहरादून। उत्तराखंड के देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर व नैनीताल में विकराल रूप ले चुकी ट्रैफिक समस्या से निजात पाने के लिए यातायात निदेशालय अब एक्शन मोड में नजर आ रहा है। निदेशालय सड़क किनारे खड़े वाहनों को क्रेनों से उठाने का अभियान शुरू करने जा रहा है। इसके लिए क्रेन पीपीपी मोड पर ली जाएंगी। इस बाबत यातायात निदेशालय ने शासन को प्रस्ताव भेजा है। शासन से मंजूरी मिलते ही टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज व लखनऊ जिलों में क्रेन पीपीपी मोड पर ली गईं थीं। वहां यह प्रयोग सफल होने के बाद यहां यह कदम उठाया जा रहा है।

चारों शहरों की भीतरी सड़कें पहले ही संकरी हैं और सड़क किनारे वाहन खड़े होने के बाद जगह-जगह जाम की स्थिति बन जाती है। यातायात निदेशालय के पास क्रेन की भी भारी कमी है। 13 जिलों में केवल 54 क्रेन हैं। इन क्रेन से सालभर में 2309 वाहन उठाए गए हैं। इनमें सबसे अधिक कार्रवाई नैनीताल जिले में की गई। देहरादून में 367, हरिद्वार में 111 व ऊधमसिंह नगर में एक भी कार्रवाई नहीं की गई।

जिन क्रेन को ट्रैफिक निदेशालय पीपीपी मोड पर लेगा, उनमें सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इससे वाहन को उठाने की जगह से लेकर ट्रैफिक कार्यालय पहुंचाने तक की सारी फुटेज रहेगी। ताकि यदि कोई वाहन चालक किसी तरह से कोई आरोप लगाता है तो उसे वीडियो फुटेज दिखाई जा सके।

यातायात निदेशक केवल खुराना ने बताया कि सड़क किनारे खड़े वाहन ट्रैफिक जाम का एक बड़ा कारण हैं। इसलिए ऐसे वाहनों को उठाने के लिए क्रेन पीपीपी मोड पर ली जा रही हैं। यह काम पीपीपी मोड पर देने से राजस्व भी बढ़ेगा। उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में यह प्रयोग सफल रहा है।

Check Also

Truck wheels jammed in Haridwar

ई-वे बिल और डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में हरिद्वार में ट्रकों के पहिये जाम रहे

Truck wheels jammed in Haridwar : हरिद्वार में ई-वे बिल और डीजल के बढ़ते दामों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel