Breaking News
Home » संपादकीय

संपादकीय

धरती के ‘भगवानों’ की नाराजगी

धरती के भगवान यानी डॉक्टर आजकल रुठे हुए हैं। उनकी यह नाराजगी जायज भी है, लेकिन उनके रुठने से देश में कोहराम मच गया है। सरकारी अस्पतालों में मरीजों की लाइनें लग गई हैं, बदतर से बदतर हालात से गुजर रहे मरीजों को इलाज नसीब नहीं हो रहा है। पश्चिम बंगाल जहां से इस विवाद की शुरुआत हुई वहीं 5 …

Read More »

दिल्ली में मुफ्त यात्रा का चुनावी दांव

क्या आज के समय में कोई भी चीज फ्री संभव है? हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में किसानों के कर्ज माफी के राजनीतिक हथकंडों की खूब चर्चा होती है, सत्ता में आने के लिए राजनीतिक दल ऐसी लोकलुभावन घोषणाएं करते हैं, लेकिन बगैर किसी ठोस आधार के ये अर्थव्यवस्था पर भार ही साबित होती हैं। अब ऐसी ही एक …

Read More »

हरियाणा में अवैध खनन पर कार्रवाई जरूरी

हरियाणा में यमुना और घग्गर के किनारों को खोखला कर रहा खनन माफिया अब आफत बन चुका है। यमुनानगर, करनाल, घरौंडा, सोनीपत और अन्य इलाकों में अवैध खनन का धंधा इतना पुरजोर हो चुका है कि नदियों के किनारे पर खेती की जमीन खत्म हो रही है वहीं यमुनानगर, करनाल जिले के अनेक गांवों में बाढ़ के पानी का खतरा …

Read More »

विश्वास जीतें, सत्तापक्ष भी और विपक्ष भी

देश बदलने की गूंज आप सुन चुके हैं, अब तो यह गूंज एक आलाप बनने जा रही है। विचार किसी के मन के किसी कोने से एकाएक फूटता है और फिर पूरे समाज, देश और दुनिया में फैल जाता है। भारत में आजकल यही हो रहा है। बदलाव की इस घड़ी में यह पूछा जाना जरूरी है कि आखिर विचारधारा …

Read More »

समय के बीच और समय के पार बात करती है कविता

‘कविता समय के बीच और समय के पार बात करती है। कविता मेरे लिए एक हथियार है।’ यह कहना है साहित्यकार अमित मनोज का। दक्षिण हरियाणा में महेंद्रगढ़ जिले के कोथल कलां के अमित मनोज इस समय महेंद्रगढ़ में हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय के हिंदी व भारतीय भाषा विभाग में सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं और पिछले छह साल …

Read More »

अब भी समाज में बहुत गहरी हैं अंधविश्वास की जड़ें

जमाना कितना ही आगे बढ़ गया हो, लेकिन तांत्रिक अब भी लोगों को चंद पैसों के लिए अपने जाल में फंसा ही लेते हैं। न केवल जाल में फंसा लेते हैं, बल्कि उनके हाथों ऐसा अपराध भी करवा डालते हैं, जिसकी वजह से उन्हें अपनी सारी जिंदगी सलाखों के पीछे काटनी पड़ती है। आम तौर पर ऐसे लोगों के चंगुल …

Read More »

और पलक झपकते ही बर्बाद हो गए दो परिवार

देश में तीसरे नंबर के चावल निर्यातक के साथ ऐसा होगा, किसने सोचा था? ऐसी कल्पना तो खुद उसने भी नहीं की होगी। लेकिन हकीकत यही है कि अब वह इस दुनिया में नहीं है। वह भी दुनिया छोड़ चुकी है, जिसके लिए उसने अपनी जान जोखिम में डाल दी थी। दुनिया से छुप कर जो संबंध बनाये जाते हैं, …

Read More »

माखनलाल चतुर्वेदी ने खड़ा किया था पत्रकारिता से देशव्यापी आंदोलन

पंडित माखनलाल चतुर्वेदी उन विरले स्वतंत्रता सेनानियों में अग्रणी हैं, जिन्होंने अपनी संपूर्ण प्रतिभा को राष्ट्र की स्वतंत्रता के लिए समर्पित कर दिया। उन्होंने साहित्य और पत्रकारिता, दोनों को स्वतंत्रता आंदोलन में हथियार बनाया। आज की पत्रकारिता के समक्ष जैसे ही गोकशी का प्रश्न आता है, वह हिंदुत्व और सेकुलरिज्म की बहस में उलझ जाता है। इस बहस में मीडिया …

Read More »

साध्वी प्रज्ञा ‘प्रखर हिंदुत्व’ का नया चेहरा

भारतीय जनता पार्टी को अरसे से जिस नेता की आवश्यकता थी, लगता है प्रज्ञा ठाकुर के रूप में वह पूरी हो गई है। साध्वी उमा भारती और अन्य साध्यिवों की ‘रिटायरमेंट’ के बाद पार्टी का हिंदुत्ववादी चेहरा फीका पडऩे लगा था और हालात ऐसे बन गए थे, कि विपक्षी जिन्हें कभी मंदिर के दरवाजे चढ़ते नहीं देखा, वे मंदिरों में …

Read More »

चुनावों में भी दिखा बॉलीवुड हस्तियों का जलवा

नयी दिल्ली। अपनी अदाकारी से लोगों के दिलों पर राज करने वाली बॉलीवुड हस्तियां चुनाव मैदान में भी अपने जलवे दिखाने में पीछे नहीं रहीं हैं और उन्होंने कई बार राजनीति के बड़े-बड़े धुरंधरों को पछाड़ा है। लोकप्रियता और प्रशंसकों की पसंदगी की बदौलत चुनावी राजनीति में अपना असर दिखाने वाले बॉलीबुड कालाकारों में सुनील दत्त, महानायक अमिताभ बच्चन, ड्रीमगर्ल …

Read More »
Share
See our YouTube Channel