Home » हरियाणा » कुरुक्षेत्र के तीर्थ स्थलों को बनाया जाएगा दर्शनीय : धीरेन्द्र

कुरुक्षेत्र के तीर्थ स्थलों को बनाया जाएगा दर्शनीय : धीरेन्द्र

श्रीकृष्णा सर्किट प्रोजेक्ट के तहत निर्माण कार्यो की रिपोर्ट की तलब

कुरुक्षेत्र। उपायुक्त धीरेन्द्र खडगटा ने कहा कि कुरुक्षेत्र महाभारत काल से ही पूरे विश्व में प्रसिद्घ है और पर्यटन के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान रखता है। इस पवित्र भूमि के सभी तीर्थ स्थलों को दर्शनीय और सुंदर बनाने पर विशेष फोकस रखा जाएगा। इसके लिए सभी विभागों के अधिकारियों को आपसी तालमेल के साथ काम करना होगा।

वे सोमवार को केडीबी कार्यालय में श्रीकृष्णा सर्किट प्रोजेक्ट के तहत किए जा रहे निर्माण कार्यो को लेकर अधिकारियों को दिशा-निर्देश दे रहे थे। इससे पहले सूचना जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के सयुंक्त निदेशक एवं केडीबी सीईओ गगनदीप सिंह ने उपायुक्त धीरेन्द्र खडगटा को काफी टेबल बुक, स्मृति चिन्ह और अपनी लिखी पुस्तक लौहगढ भेंट की है।

उन्होंने ज्योतिसर तीर्थ पर पर्यटन विभाग द्वारा किए जा रहे निर्माण कार्यो की रिपोर्ट पर चर्चा करते हुए कहा कि ज्योतिसर में घाटों के निर्माण कार्यो को पर्यटन विभाग की रिपोर्ट के अनुसार पूरा कर लिया गया है और इस पर 54 लाख रुपए की राशि खर्च की गई है। इसी तरह आरसीसी रेलिंग लेक के कार्य पर 3 लाख 85 हजार रुपए खर्च किया गया है और प्रवेश द्वारों का कार्य 75 प्रतिशत पूरा किया गया है। इस कार्य के लिए करीब 1 करोड रुपए की राशि मंजूर हुई है।

ज्योतिसर में महाभारत थीम पर बनने वाले भवन की राशि मंजूर
उन्होंने कहा कि ज्योतिसर में ही महाभारत थीम पर आधारित भवन के लिए सरकार की तरफ से 14 करोड 38 लाख रुपए की राशि मंजूर हुई है और यह कार्य भी 40 प्रतिशत पूरा हुआ है और क्लोकरूम व एवी रूम के लिए 1 करोड 10 लाख की राशि मंजूर हुई है और यह कार्य भी 65 प्रतिशत पूरा हो चुका है, सार्वजानिक शौचालयों के लिए 3 करोड रुपए 31 लाख रुपए मंजूर हुआ है और यह कार्य 90 प्रतिशत पूरा हो चुका है। इसके लिए बहुउद्देशीय पर्यटन केन्द्र के भवन का कार्य पूरा हो चुका है और इसके लिए भी सरकार की तरफ से 35 लाख 65 हजार रुपए की राशि मंजूर हुई थी।

निर्माण में लापरवाही सहन नहीं
उपायुक्त ने कहा कि लोक निर्माण विभाग, पर्यटन विभाग तथा अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को आदेश दिए कि श्रीकृष्णा सर्किट के तहत किए जा रहे निर्माण कार्यो में लापरवाही ना बरती जाए और सभी कार्यो को निर्धारित समय अवधि में पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि अगर किसी भी स्तर पर निर्माण कार्यो की गुणवत्ता में कमी पाई गई और देरी की तो सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ तुरंत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इस मौके पर सीईओ केडीबी गगनदीप सिंह, डीआईपीआरओ सुरेश सरोहा, केडीबी सदस्य डा.मधूदीप सिंह, केडीबी सदस्य विजय नरूला, लेखा अधिकारी लक्ष्मी नाथ, अमर सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Check Also

प्रॉपर्टी टैक्स के बकायादारों को आज थमाए जाएंगे अंतिम नोटिस

टैक्स न जमा कराने वालों की बुधवार से प्रापर्टी सील करने प्रक्रिया होगा शुरू गन्नौर। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel