'एक शाम उतराखंड के देवी देवताओं के नाम' कार्यक्रम आयोजित - Arth Parkash
Saturday, March 23, 2019
Breaking News
Home » उत्तराखंड » ‘एक शाम उतराखंड के देवी देवताओं के नाम’ कार्यक्रम आयोजित
‘एक शाम उतराखंड के देवी देवताओं के नाम’ कार्यक्रम आयोजित

‘एक शाम उतराखंड के देवी देवताओं के नाम’ कार्यक्रम आयोजित

कुराली(गुरसेवक): गढ़वाल सभा (रजि.) नयागांव द्वारा ‘एक शाम उतराखंड के देवी देवताओं के नाम’ धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आदर्श नगर नयागांव स्थित गढ़वाल भवन / धर्मशाला में आयोजित इस पहली विशाल भजन संध्या में लोगों ने अपने परिवारों सहित पहुँच कर देवी देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त किया। इस मौके मुखय मंत्री पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह की पूर्व ओ.एस.डी. बीबी लखविन्दर कौर गरचा विशेष तौर पर पहुँचे और उन्होंने गढ़वाल सभा के पदाधिकारियों को इस कार्यक्रम की बधाई दी और कहा कि ऐसे धार्मिक कार्यक्रम आपसी भाईचारे को मजबूत करते हैं।

कार्यक्रम में उतराखंड के प्रसिद्ध भजन गायक और कथावाचक पंडित हरीश शर्मा ने अपने भजनों के साथ श्रद्धालुओं को झूमने लगा दिया। कार्यक्रम की शुरुआत में प्रात:काल 9बजे पूजा अर्चना की गई दोपहर 12 बजे सुंदर कांड पाठ, दोपहर 2 बजे भजन संध्या शुरू हुई और शाम 7 बजे प्रसाद वितरण गया। इस मौके सभा का वर्ष 2019 वाला नव वर्ष का कैलेंडर भी रिलीज किया गया। इस मौके सभा के पदाधिकारियों में राकेश नैनवाल प्रधान, गणेश चंद रमोला, प्यार सिंह रणावत, गबर सिंह महर महासचिव आदि द्वारा बीबी लखविन्दर कौर गरचा को विशेष तौर पर सम्मानित भी किया गया और उनके द्वारा नयागांव के विकास कार्यों में तथा लोगों की समस्याओं को हल करवाने में डाले गए योगदान प्रति धन्यवाद भी किया गया।

इस मौके गढ़वाल सभा चंडीगढ़ के प्रधान विक्रम सिंह बिष्ट, विनोद सिंह बिष्ट पूर्व पंच नयागांव, ज्योति प्रसाद भट्ट, गुरबचन सिंह, काऊंसलर, गुरध्यान सिंह अकाली नेता, कुलबीर सिंह बिष्ट, राजिन्दर प्रसाद भट्ट, देवेंद्र सिंह रावत प्रधान उतराखंड जन चेतना मंच चंडीगढ़ आदि भी उपस्थित थे। कार्यक्रम को सफल बनाने में संतोष शर्मा, तिलक टैंट सर्विस, गुरुदेव जी, बिकी, बिरेन, वीरेंद्र पियाल, केदार चंद रमोला, दिनेश कोठियाल, संजय उनियाल, देवेन्द्र नैडियाल आदि ने भी सहयोग दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share