Home » पंजाब » जयकारों की गूंज के साथ हुआ नगर कीर्तन का स्वागत

जयकारों की गूंज के साथ हुआ नगर कीर्तन का स्वागत

डेराबस्सी में जगह-जगह लगे फल फ्रूट के स्टाल, लोग सुबह से ही कर रहे थे इंतजार
डेराबस्सी। श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित श्री ननकाना साहब पाकिस्तान से सजाए गए अंतरराष्ट्रीय महान नगर कीर्तन का आज डेरबस्सी हलके मे पहुँचने पर पूरी शानों शौकत और जयकारों की गूँज के साथ संगत की तरफ से स्नेहपूर्ण स्वागत किया गया। नगर कीर्तन का नेतृत्व गुरू ग्रंथ साहब की छत्र छाया मे पाँच प्यारे कर रहे थे। इस मौके समूह संगत ने ननकाना साहब से सुंदर पालकी में सुशोभित श्री गुरु ग्रंथ साहब के दर्शन किये और सतनाम वाहिगुरू का जाप किया। यह महान नगर कीर्तन आज 12वें दिन गुरुद्वारा नाडा साहब से हलका डेराबस्सी हलके मे पहुँचा जहाँ पहले जीरकपुर के नज़दीक ऐतिहासिक गुरुद्वारा बोहली साहब में संगत की तरफ से भरवाँ स्वागत किया गया।

इस के बाद बालाजी एन्क्लेव और गाँव लोहगड़ में संगत ने इस महान नगर कीर्तन के दर्शन किये। डेराबस्सी शहर मे जगह जगह फल, पानी आदि के स्टाल लगाए गए व नगर कीर्तन के दीदार के लिए भारी संख्या मे लोग सुबह से ही ईंतजार करते दिखे। इस मौके हलका विधायक एन.के.शर्मा ने गुरू साहब को रुमाला साहब भेंट किया और पाँच प्यारों को सिरोपा के साथ सम्मानित किया इस के बाद उन्होने जीरकपुर, डेराबस्सी, लालड़ू और हंडेसरा में समूह संगत के साथ पैदल यात्रा करते नगर कीर्तन में हाजिऱी भरी। उन्होने समूह संगत को श्री गुरु नानक देव जी के 550वें अवतार पर्व की बधाई दी और संगत की तरफ से दिए गए सहयोग के लिए सब का तह दिल से धन्यवाद किया। उन्होने कहा कि गुरू नानक देव जी ने सभी लोगों को शान्ति का पैग़ाम दिया है और इस महान नगर कीर्तन के साथ जहाँ पूरे संसार में शान्ति का संदेश गया है वहां भारत और पाकिस्तान में आपसी भाईचारक सांझ मज़बूत होगी।

उन्होने समूह धार्मिक, सामाजिक जत्थेबंदियाँ और संगत से अपील की कि जहाँ भी नगर कीर्तन की आमद होती है तो वह गुरू साहब के सत्कार के लिए उपस्थित हों। इस मौके गुरू घर के श्रद्धालुओं की तरफ से फल, दूध, ब्रैड पकौड़े, आईस क्रीम और अन्य वस्तुओं के स्टाल लगाए गए जिसे प्रसाद के रूप में संगत को बांटा गया। श्रद्धालुओं ने बहुत श्रद्धा के साथ झाड़ू और पानी की सेवा निभाई। गुरू के सिंहों की तरफ से गत्तके के जौहर भी दिखाए गए। इस मौके संगत ने गुरू साहब के खड़ावें, पत्थर और अन्य निशानियों के दर्शन किये।
डेराबस्सी हलके के बाद नगर कीर्तन जयकारों की गूँज में अगले पड़ाव के लिए रवाना हुई।

Check Also

सुल्तानपुर लोधी में लाईट एंड साउंड शो में पम्मा डूंमेवाल ने अपनी सुरीली आवाज़ से दर्शक किए मंत्रमुग्ध

शो की एक झलक पाने के लिए हज़ारों की तादाद में श्रद्धालु हुए इकट्ठे 15 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel