Home » Photo Feature » Exclusive: कुछ ऐसी है Chandigarh Police में दर्ज सबसे पहली FIR की कहानी, पढ़ेंगे तो कई बातें मन में जरूर पैदा होंगी

Exclusive: कुछ ऐसी है Chandigarh Police में दर्ज सबसे पहली FIR की कहानी, पढ़ेंगे तो कई बातें मन में जरूर पैदा होंगी

(Exclusive Report by Virendra Singh)

(Edited by Shiva Tiwari)

जब वजूद में आई चंडीगढ़ पुलिस और हुई यहां चोरी

नई-नई गठित हुई चंडीगढ़ पुलिस में तब हुआ FIR का शुभारंभ

चंडीगढ़: चंडीगढ़ शहर वाासियों आज आपको  arthparkash.com कुुुछ ऐसा बताने जा रहा है जिससे शायद हो सकता है आप अभीतक अंजान हों।दरअसल, हम बात कर रहे हैं FIR की ..अब आप कहेंगे कि इससे हम भला कौन अपरचित है…इसमे नया क्या है..क्या बड़ी बात है….अरे रुकिए तो भाई हम भी जानते हैं कि आप FIR से भलीभांति परिचित हैैं इसके बारे में सबकुछ जानते हैं।इसलिए हम आपको FIR के बारे में थोड़ा न बताने आए हैं।हम तो आपको यह बता रहे हैं कि आपके शहर के थाने में सबसे पहली FIR किस बेस पर दर्ज हुई थी।आपके शहर की बात है भाई क्या जानना नहीं चाहेंगे आप? शहर के नागरिक होने के नाते जानना तो बनता है तो जानिए…

चंडीगढ़ झलख

प्रसिद्द चंडी मंदिर के नाम पर नाम पाने वाला चंडीगढ़ जिसे केंद्रशासित प्रदेश(UT) का दर्जा प्राप्त है और अपने बेहद नजदीकी राज्य पंजाब और हरियाणा की राजधानी के रूप में जाना जा रहा है और भारत का पहला और प्रमुख ऐसा शहर बना हुआ है जो एक शानदार योजनाबद्ध तरीके से निर्माणरत है।शिवालिक पहाड़ियों के बीच विराजमान इस शहर की फ्रांसीसी कला से बनी आकर्ति अद्भुत है।इसे यूँ ही सिटी ब्यूटीफुल नहीं कहते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि यहां पुलिस का निर्माण कब हुआ और हुआ तो पहली वारदात क्या थी जो कि चंडीगढ़ पुलिस के पास आई और उसने दर्ज की अपनी पहली FIR…

टॉपिक पर बात करें इससे पहले FIR के बारे में जान लेते हैं कुछ…

FIR(First Information Report यानि प्रथम सूचना रिपोर्ट या प्राथमिकी) यह किसी आपराधिक या अप्रिय घटना का पीड़ित घटना के संबंध में पुलिस के पास कार्यवाई के लिए दर्ज करवाता है।पुलिस जो fir दर्ज करती है वह पीड़ित की ओर से दी जाने वाली घटना की  जानकारी होती है जिसके बेस पर पुलिस आगेे की कार्रवाई को अंजाम देती है।मसलन, जब कोई अप्रिय घटना होने के बाद हम पुलिस स्टेशन जाते हैं तथा हम अपनी जानकारी के अनुसार घटना का जो ब्यौरा पुलिस को देते हैं पुलिस सर्वप्रथम उस ब्यौरे को लिखित रूप में दर्ज करती है और उसे हमें पढाकर उसपर हमारे हस्ताक्षर लेती है।इसी लिखित रूप में दर्ज जानकारी को FIR कहा जाता है।FIR में दी गई जानकारी के आधार पर ही पुलिस आगे की कार्यवाही करती है।लेकिन आपको तो यह जानना है कि चंडीगढ़ में किस बेस पर दर्ज हुई सबसे पहली FIR तो जानिए..

…तो कुछ ऐसी है Chandigarh Police में दर्ज सबसे पहली FIR की कहानी…

1 नवंबर सन 1966 का वो दौर जब चंडीगढ़ पुलिस जन्मी।जहां चंडीगढ़ पुलिस जिस दिन गठित हुई उसी दिन शहर के एक घर में चोरी हो गई।मसलन 1 नवंबर 1966 को ही यहां एक घर में चोरी हो गई।घर था सेक्टर 16 का।पूरा परिवार देर शाम कहीं गया हुआ था तभी चोरों ने घर पर धावा बोल दिया और चोर घर से जो चुरा कर ले गए उसे जानकर हो सकता है आपको मजाक सूझे या आश्चर्य हो लेकिन यही सत्य है।चोर घर से 3 चद्दरें जो हम ओढ़ते हैं, 1 थाली, एक कटोरी, घर में रखी पढ़ने वाली 2 मैग्ज़ीन, 2 डायरी,घर में खड़ी साईकल का सीट कवर और 4 किलो रुई इतना सब कुछ चोर घर से ले उड़े।जब घरवाले वापस घर आये तो घर में चोरी हुई यह देख उन्होंने तुरंत अपने एरिया के थाने में जाकर चोरी की शिकायत की।घर के मुखिया ने पुलिस को चोरी कब हुई क्या क्या चोरी हुआ यह सबकुछ लिखित दर्ज करवाया यानि Fir दर्ज करवाई।यह FIR चंडीगढ़ की पहली FIR के रूप में दर्ज की गई।अब आपको भले ही इस प्रकार की चोरी पर हंसी आये क्योंकि जो चीजें चोर तब चोरी कर ले गए वह आज के जमाने मे बहुत छोटी हैं परन्तु उस दौर में यही चीजें कितनी महत्व रखती होंगी यह इस बात से पता लगता है कि घर के मुखिया की ओर से थानेदार से चोरी हुए सामान को जल्द से जल्द रिकवर करने की गुजारिश की गई।

Pics- Complaint & FIR..

 

Check Also

दैनिक राशिफल: समय की गति आपके पक्ष में होगी, हनुमान चालीसा का पाठ करें

दैनिक राशिफल: चंद्र राशि पर आधारित यह दिन सभी बारह राशियों के लिए कैसा रहेगा? …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel