Saturday, September 21, 2019
Breaking News
Home » चंडीगढ़ » दो सगी बहनों की हत्या का आरोपी चंडीगढ़ पुलिस के रिटायर्ड एसआई का बेटा

दो सगी बहनों की हत्या का आरोपी चंडीगढ़ पुलिस के रिटायर्ड एसआई का बेटा

इकलौते भाई को राखी बांधने जाना था बहनों ने

चंडीगढ़। स्वतंत्रता दिवस और राखी वाले दिन यहां पूरा देश स्वतंत्रता दिवस और राखी का त्यौहार मनाने में जुटा हुआ था। वहीं चंडीगढ़ के सेक्टर 22 में आरोपी दो सगी बहनों के साथ आरोपी दोस्त बुरी तरह से उलझ/हाथापाई कर तेजधार नुकीली चीज के साथ हत्या कर फरार हो गया था। जिसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की पड़ताल करते हुए आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपी की पहचान जीरकपुर के रहने वाले चंडीगढ़ पुलिस के रिटायर्ड सब इंस्पेक्टर के बेटे कुलदीप के रुप में हुई है।

जानकारी के अनुसार एसएसपी निलाबरी जगदले ने पुलिस मुख्यालय में हुई प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया कि सेक्टर 22 के हाउस नंबर 2598 की टॉप फ्लोर पर रहने वाली दो सगी बहने राजवंत कौर और मनप्रीत कौर पीछे से पजाब के फाजिलका के पास एक गांव की रहने वाली थी। दोनों सगी बहने चंडीगढ़ के सैक्टर 22 मे करीब 4 सालों से रह रही थी। और दोनों बहने जीरकपुर मे अपना ही केमिकल ट्रेडिंग का काम करती थी। उनका भाई हरप्रीत सिंह मोहाली के फेज 7 पुडा में जॉब करता है। वह भी कभी कभी अपनी बहनों के पास आता जाता था। उनका भाई मंगलवार को राखी का त्यौहार होने के चलते अपने घर पंजाब के जिला फाजिल्का गया हुआ था। स्वतंत्रता वाले दिन राखी का त्यौहार दोनो बहनों ने अपने घर जाना था। परिवार वाले बेटियो के आने का इंतजार हो रहा था। जब परिवार वालो ने अपनी बेटियो को ूपूछना चाहा की वह कहा पर है। उन्होंने अपनी बेटियों को कईं बार फोन किया। तो दोनों बहने फोन नहीं उठा रही थी। तो परिवार वालों ने फाजिल्का से अपने चंडीगढ़ में रहने वाले किसी जानकार को फोन किया। कि उनकी बेटियां फोन नहीं उठा रही। तो देख कर आना जैसे ही जानकार सेक्टर 22 के हाउस नंबर 2598 में टॉप फ्लोर पर देखने आया। तो घर के बाहर दरवाजे को लॉक लगा हुआ था। आसपास के लोग को पूछा तो जिसकी सूचना पुलिस को दे दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजे का ताला तोड़ा तो देखा दोनों बहने खून से लथपथ फर्श पर पड़ी थी। हड़कंप मच गया आसपास के लोग इक_े हो गए। दोनों बहनों के सर पर गले के पास हाथ की कलाई के पास किसी तेजधार नुकीली चीज से वार किया हुआ था। एक बहन के गले में आरोपी ने चुन्नी के साथ गला भी दबा रखा था। जिसके चलते हड़कंप मच गया। पुलिस ने दोनों के शवों को अपने कब्जे में लेकर शुक्रवार को पोस्टमार्टम करवां कर शव परिजनो को सोप दिया है।

आरोपी सीसीटीवी कैमरे में कैद

जानकारी के मुताबिक सेक्टर 22 की टॉप फ्लोर पर रहने वाली दोनों बहनों का हत्यारोपी ने इस वारदात को स्वतंत्रता वाले दिन अलसुबह करीब 4 बजे बार दात अंजाम देख कर 5 बजे के करीब फरार हो गया था। जो सारा वाक्य आरोपी का सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। आरोपी वारदात को अंजाम देकर सीधा अपने जीरकपुर घर में गया वहां सुबह उसने 7 बजे करीब अपनी बहन से राखी बनवाई और अंबाला चला गया अंबाला से वह ट्रेन पकड़कर दिल्ली निकल गया जैसे ही थाना 17 पुलिस को इस मामले की सूचना मिली कि आरोपी दिल्ली जा रहा है थाना 17 के प्रभारी इंस्पेक्टर जसपाल सिंह भुल्लर की सुपर विजन में एक टीम गठित की गई टीम में सेक्टर 22 चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर सतनाम सिंह और आईएसबीटी सेक्टर 17 पुलिस चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर कुलदीप कुमार ने मामले में पूरी तरह से सफलता हासिल करते हुए आरोपी को दिल्ली के पहाडग़ंज के पास से काबू कर लिया जिसकी सूचना लोकल पुलिस स्टेशन को देकर हत्या के मामले के आरोपी और चंडीगढ़ पुलिस के रिटायर सब-इंस्पेक्टर के बेटे कुलदीप को काबू कर लिया पकड़े गए आरोपी को पुलिस शनिवार को जिला अदालत में पेश करेगी अदालत के दौरान पुलिस आरोपी का रिमांड लेगी क्योंकि रिमांड के दौरान पुलिस ने आरोपी से नुकीली चीज तेजधार जैसी बरामद करनी है पुलिस ने आरोपी से फोन के कपड़े घर को ताला लगाया गया था उसकी चाबी और दो मोबाइल फोन बरामद कर लिए हैं पुलिस ने बताया कि आरोपी ने शक के आधार पर मनप्रीत की हत्या की है जबकि उसकी बहन बीच बचाव के लिए और उलझी तो आरोपी कुलदीप ने उसकी हत्या कर दी। मामले की सूचना पाते ही एसएसपी नीलांबरी जगदले एसपी क्राइम विनीत कुमार, डीएसपी सेंट्रल कृष्ण कुमार, थाना 17 प्रभारी इंस्पेक्टर जसपाल सिंह भुल्लर, थाना 11 प्रभारी इंस्पेक्टर राजीव कुमार, और क्राइम ब्रांच की टीम मौजूद थी

सेक्टर 22 में दहशत का माहौल

सैक्टर 22 के टॉप फ्लोर पर रहने वाली दोनो बहनों की हुई हत्या के मामले में सेक्टर 22 के मोहल्ले में पूरी तरह से दहशत का माहौल बन हुआ था। आसपास के लोगों का कहना है कि मृतक दोनों बहनो ने हाल ही में कुछ दिन पहले सेक्टर 22 अपने घर के पास लंगर का आयोजन भी किया था।

मृतक दोनों बहनों के पिता ने बताया

जानकारी के मुताबिक मृतक दोनों सगी बहनों के पिता सिकंदर सिंह ने बताया कि उनके तीन बेटियां और एक बेटा है। दो बेटियां चंडीगढ़ में थी। एक बेटी सिंगापुर में है। और बेटा मोहाली में पुडा में जॉब करता है। उनकी बेटी 26 साल की मनप्रीत बड़ी बेटी थी। राजवंत कौर छोटी बेटी थी। दोनों बेटी 10 साल पहले आरोपी कुलदीप जानकारी हुई थी। दोनों बेटियां और आरोपी एक ही जगह पर जॉब करते थे। आरोपी कुलदीप उनके घर भी आता जाता रहता था। लेकिन उनको ऐसा नहीं पता था कि आरोपी एक ऐसी बड़ी घटना को अंजाम दे देगा। पिता ने बताया कि उनकी दोनों बेटियां बहुत समझदार थी। 15 अगस्त के 1 दिन पहले पिता ने अपनी बेटियों को फोन से बात हुई थी। कि वह अगले दिन घर आ रही है। और वह अपने इकलौते भाई हरप्रीत के लिए कुछ गिफ्ट बाजार में खरीदने के लिए आई हुई है। वह अगले दिन सुबह तक अपने घर आ जाएंगे। लेकिन वह घर नहीं पहुंच पाई परिवार वालों को दोनों बहनों की हत्या की खबर ही आई। पिता सिकंदर के मुताबिक वह अपनी बेटियों को प्रतिदिन सुबह 8:00 बजे के करीब हालचाल पूछने के लिए फोन पर बात करता रहता था।

Check Also

कश्मीर मुद्दे पर बोलने जा रहा था ये पाक एनालिस्ट, वीडियो में देखें कुर्सी से कैसे जमीन पर गिरा..

लोग बोले- कुर्सी तो संभल नहीं रही, इन्हे कश्मीर चाहिए… नई दिल्ली: पाक को अब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel