Breaking News
Home » Photo Feature » सेक्टर-25 में धक्का-मुक्की करके पोलिंग सेंटर के भीतर घुसी जनता

सेक्टर-25 में धक्का-मुक्की करके पोलिंग सेंटर के भीतर घुसी जनता

चंडीगढ़। सेक्टर-25 गवर्नमेंट मॉडल स्कूल में सुबह 7 बजे मतदान होने से पहले ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी लाईन लगवा रहे थे। अधिक भीड़ होने के कारण एक गेट खोलकर लोगों को लाइन में अंदर भेजना था। लेकिन टाईम हो जाने और कुछ मिनट की देरी से गेट खोलने पर अचानक से भारी संख्या में लोग धक्का.मुक्की करते हुए अंदर घुस गए। इसके चलते रिजर्व फोर्स बुलानी पड़ी। जानकारी के अनुसार भीड़ इस कदर अंदर गई कि एक गेट टूट गया।

बहुत सी जगह ऐसी शिकायतें भी मिली कि बूथ कार पार्किंग या स्कूटर पार्किंग से 150 मीटर से भी ज्यादा दूरी पर हैं। वहां तक चलने में बुजुर्गों को परेशानी हुई। उनके लिए कोई प्रबंध नहीं थे।

तीन लेअर में रहेगी स्ट्रांग रूम की सुरक्षा

एसएसपी ने बताया कि चुनाव बाद सभी ईवीएम स्ट्रांग रूम में रखे जाएंगे। इसकी सुरक्षा व्यवस्था तीन लेअर में होगी। इसमें इंट्रनल में सीआरपीएफ तैनात होगी, वहीं इसके बाद लेअर में आईआरबी और चंंडीगढ़ पुलिस तैनात होगी और बाहर चंडीगढ़ पुलिस को तैनात किया जाएगा। वहीं पोलिंग बूथों पर 2900 चंडीगढ़ पुलिस तैनात की जाएगी। साथ ही 40 रिजर्व पार्टी रखी गई है। सेक्टर 26 सीसीईटी में बनाया गया है स्ट्रांग रूम। मतगणना प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए वेबकास्टिंग के जरिए एलइडी स्क्रीन पर प्रक्रिया को दिखाया जाएगा।

5 कंपनियां शहर में तैनात

शहर में शांतिपूर्ण चुनाव कराने को लेकर शहर के लिए 5 कंपनी फोर्स तैनात रही। इसमें 360 कर्मचारी सभी बूथों पर लगाए गए। इसके साथ सभी थानों की फोर्स के साथ एक पेट्रोलिंग टीम करती रही। तीन क्यूआरटी शहर भर में तैनात रही। कॉलोनी एरिया में स्पेशल तैनाती की गई है।

डीसी आफिस पहुंची सैकड़ों शिकायतें

डीसी आफिस पर बने कंट्रोल रूम में पोलिंग शुरू होने के बाद से ही शिकायतों का अंबार लगने लगा। दोपहर बाद तक कंट्रोल रूम में सैंकड़ों शिकायतें पहुंच चुकी थी। कोई अप्रिय स्थिति न बने लिहाजा इलेक्शन आफिस के मुलाजिमों को तुरंत शिकायत स्थल पर भेजा गया। हालांकि इसमें कोई ज्यादा बड़ा मामला नहीं था लेकिन इलेक्शन आफिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई की।

नहीं डालने दी वोट

सेक्टर 27 सी के सरकारी स्कूल के एक बूथ पर महिला आधार कार्ड लेकर अपना वोट करने पहुंची लेकिन उसे कहा गया कि उनके रिकार्ड में तो उनकी मृत्यु हो चुकी है लेकिन महिला ने कहा कि मैं आपके सामने खड़ी हूं। इस महिला को वोट नहीं डालने दी गई। वहीं सेक्टर 27 सी में सरकारी स्कूल पर बने एक बूथ में आधार कार्ड को लेकर जो मतदाता वोट करने पहुंचे थे उनकी पोलिंग अफसरों से काफी देर बहस होती रही। कहा गया कि आधार कार्ड पर गलत एड्रेस छपा है। वोटरों ने बताया कि वह पहले किराये पर रहते थे लेकिन अब एड्रेस बदल गया है। उन्हें कहा गया कि केवल और केवल वोटर कार्ड ही लेकर आओ तभी वोट करने दिया जाएगा।

लंच पैकेट न मिलने पर कर्मचारियों ने जताया रोष

लोकसभा चुनाव में सुबह से लगे कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि उन्हें लंच पैकेट तक नहीं दिया गया। रिफरेशमेंट के नाम पर एक केला, एक सेब और एक ड्रिंग थमा दिया गया। सुबह से लगे कर्मचारियों ने इस पर रोष जताया कि यह अव्यवस्था का आलम है।

जानकार को थमाए मोबाइल फोन

वोट देने पहुंचे मतदाताओं को उस समय असहज स्थिति का सामना करना पड़ा जब उनसे मोबाइल फोन बाहर रखने को कहा गया। मतदाता अपने मोबाइल फोन साथ लेकर ही पोलिंग बूथ में जा रहे थे इसपर वहां मौजूद सुरक्षा कर्मचारियों ने इसपर रोक लगाई। फिर मतदाता अपने जानकार के पास मोबाइल फोन रखकर मतदान करने गए।

Check Also

इन वजहों से अपने बच्चों को मार देते हैं जानवर

मानव विज्ञानी और प्राइमेटोलॉजिस्ट सारा हर्डी अपनी बात शुरू करते हुए कहती हैं, “आम तौर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel