Home » ब्रेकिंग न्यूज़ » Monsoon 2020: बरसात का मौसम आया, केरल पहुंचा मानसून

Monsoon 2020: बरसात का मौसम आया, केरल पहुंचा मानसून

(Edited by Shiva Tiwari)

नई दिल्ली: मानसूनी बारिश होने का टाइम आ गया है।अपने तय समय पर मानसून केरल पहुंच गया है।भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि मानसून केरल 1 जून के पहले या इससे बाद पहुंचता है लेकिन इस बार मानसून ने अपने निर्धारित समय पर 1 जून को ही केरल में एंट्री मार दी है।अबकी बार मानसून न जल्दी आया है और न ही देरी से आया है।जब उसे आना चाहिए था तभी आया है।केरल में मानसून की दस्तक के साथ झमाझम बारिश शुरू हो गई है।वहीं, यहां मानसून के आने से देश के अन्य कई हिस्सों के मौसम बिगड़ सकता है और तूफानी बारिश हो सकती है, ओले गिरने की भी संभावना है।

बतादें कि, मौसम पर नजर रखने वाली स्काईमेट ने तो 30 मई को ही केरल में मॉनसून पहुंचने का ऐलान कर दिया था लेकिन भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने 1 जून को मानसून के केरल पहुंचने की पुष्टि की।

जून से सितंबर 4 महीने चलने वाली मानसूनी बारिश अबकी बार ठीक ठाक है…

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, देशभर में अबकी बार की मानसूनी बारिश सामान्य रहने वाली है।यह मानसून 15 जून तक देश के कुछ हिस्सों और जून अंत तक कई हिस्सों में सक्रिय हो जाएगा जबकि पूरा देश में जुलाई के पहले हफ्ते तक मानसून सक्रिय हो चुका होगा।

कृषि प्रधान देश है भारत, अच्छी मानसूनी बारिश है जरूरी…

भारत के लिए मॉनसून काफी अहम है क्योंकि देश में होने वाली खेती इसके बिना अच्छी उपज नहीं दे सकती है।बतादें पूरे साल में होने वाली कुल बारिश की तीन चौथाई बारिश मॉनसून के दौरान होती है।इसलिए सिंचाई आधारित कृषि को सहारा देने के लिए मॉनसून का योगदान सबसे ज्यादा है।एक अच्छे मॉनसून की मदद से पैदावार बढ़ती है वहीं देश के जलाशयों को भी भरने में मदद मिलती है, जिससे बाकी साल पानी की जरूरतें पूरी की जाती है।

Check Also

देश ने पार किया 10 करोड़ कोरोना जांच का आंकड़ा

देश ने पार किया 10 करोड़ कोरोना जांच का आंकड़ा

अब तक 68 लाख से ज्यादा मरीज हो चुके हैं रिकवर नई दिल्ली। देश में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel