Home » भारत » कोरोना पर महामंथन: मोदी ने की पंजाब समेत ज्यादा प्रभावित 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बैठक
मोदी ने की पंजाब समेत ज्यादा प्रभावित 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बैठक
मोदी ने की पंजाब समेत ज्यादा प्रभावित 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बैठक

कोरोना पर महामंथन: मोदी ने की पंजाब समेत ज्यादा प्रभावित 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बैठक

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक कर हालात की समीक्षा की। बुधवार शाम को हुई इस वर्चुअल मीटिंग में इन राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी हिस्सा लिया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कोरोना महामारी से निपटने की रणनीति और इसके प्रबंधन को लेकर चर्चा की। पीएम मोदी ने कहा कि देश में 700 से अधिक जिले हैं, लेकिन कोरोना के जो बड़े आंकड़े हैं वो सिर्फ 60 जिलों में हैं, वो भी 7 राज्यों में।

मुख्यमंत्रियों को सुझाव है कि एक 7 दिन का कार्यक्रम बनाएं और प्रतिदिन 1 घंटा दें। वर्चुअल तरीके से हर दिन 1 जिले के 1-2 ब्लॉक के लोगों से सीधे बात करे। संयम, संवेदना, संवाद और सहयोग का जो प्रदर्शन इस कोरोना काल में देश ने दिखाया है, उसको हमें आगे भी जारी रखना है।संक्रमण के विरुद्ध लड़ाई के साथ-साथ अब आर्थिक मोर्चे पर हमें पूरी ताकत से आगे बढऩा है।

प्रधानमंत्री के साथ हुई वर्चुअल मीटिंग में जिन 7 राज्यों के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री शामिल हुए, उनमें महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली और पंजाब शामिल हैं। देश में कोरोना संक्रमण के कुल ऐक्टिव केसों में से 63 प्रतिशत से ज्यादा इन्हीं 7 राज्यों से हैं। इसके अलावा देश में कोरोना के कुल मामलों में इन राज्यों की हिस्सेदारी 65.5 प्रतिशत है। इसी तरह देश में कोरोना से हुई कुल मौतों में 77 फीसदी इन्हीं 7 राज्यों से हैं। इनमें से पंजाब और दिल्ली में हाल ही में कोरोना संक्रमण की ‘दूसरी लहरÓ देखने को मिल रही है। अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र, पंजाब और दिल्ली में अब मृत्यु दर भी तेजी से बढ़ रही है। इन तीनों राज्यों में केस फैटलिटी रेट (सीएफआर) 2 प्रतिशत से ज्यादा है।

24 घंटों के दौरान 89 हजार से अधिक लोग हुए ठीक
नई दिल्ली। देश में लगातार पांचवें दिन कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या संक्रमण के नये मामलों से अधिक रही और पिछले 24 घंटों के दौरान 89 हजार से अधिक लोगों ने इस महामारी को मात दी, जिससे सक्रिय मामलों में और गिरावट दर्ज की गयी तथा यह महज 17.15 प्रतिशत रह गये। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 89,746 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिसके साथ ही अब तक कोरोना मुक्त होने वालों की संख्या 45,87,614 हो गयी है।

इससे पहले शनिवार को 95,880, रविवार को 94,612, सोमवार को 93,356 और मंगलवार को 1,01,468 लोग स्वस्थ हुए थे। संक्रमण के नये मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या अधिक होने से पिछले 24 घंटों में सक्रिय मामलों की संख्या में 7,484 की कमी आयी है और अब यह 9,68,377 रह गयी है। सक्रिय मामले शनिवार को 3790, रविवार को 3140, सोमवार को 7525 और मंगलवार को 27,438 कम हुए थे। पिछले 24 घंटे में 83,347 मामले सामने आये हैं जिससे संक्रमितों की कुल संख्या 56,460,11 पर पहुंच गयी है। इसी अवधि में 1,085 मरीजों की मौत हो गयी जिससे संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या 90 हजार का आंकड़ा पार कर 90,020 पर पहंच गयी है। रोगमुक्त होने वालों की दर 81.25 प्रतिशत हो गयी है। देश में सक्रिय मामले 17.15 प्रतिशत तथा मृत्यु दर 1.59 फीसदी है। देश के 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सक्रिय मामले कम हुए हैं। आंध्र प्रदेश में इनमें सबसे अधिक 3,053 और लद्दाख में सबसे कम 19 की कमी आयी है।

केस पॉजिटिविटी रेट भी राष्ट्रीय औसत से ऊपर
पंजाब और उत्तर प्रदेश के अलावा बाकी 5 राज्यों केस पॉजिटिविटी रेट भी राष्ट्रीय औसत 8.52 प्रतिशत से ज्यादा है। केस पॉजिटिविटी रेट से मतलब हर 100 टेस्ट पर पॉजिटिव पाए गए मामलों से है। केंद्र की तरफ से जारी बयान के मुताबिक कोरोना के खिलाफ जंग में केंद्र सरकार राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ कारगर समन्वय के साथ काम कर रही है।

देश में अब तक 56.68 लाख केस
बात अगर इन राज्यों में कोरोना के मामलों की करें तो महाराष्ट्र में अब तक करीब 12.43 लाख, आंध्र प्रदेश में 6.46 लाख, तमिलनाडु में 5.53 लाख, कर्नाटक में 5.34 लाख, उत्तर प्रदेश 3.7 लाख, दिल्ली में 2.53 लाख और पंजाब में 1 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। भारत में अब तक कोरोना संक्रमण के 56.68 लाख मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से 46 लाख से ज्यादा ठीक हो चुके हैं जबकि एक्टिव केसों की संख्या 9.68 लाख है।

Check Also

विदेशी छात्रों और कारोबारियों को भारत आने की इजाजत

नई दिल्ली। गृह मंत्रालय के ताजा निर्देशों से पहले कोरोना के चलते केवल वंदे भारत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel