Home » crime » लुधियाना : पचास हजार की रंगदारी नहीं देने पर छह बदमाशों ने शोरूम के मालिक को मारी गोली, वारदात को अंजाम बदमाश दो बाइक पर सवार

लुधियाना : पचास हजार की रंगदारी नहीं देने पर छह बदमाशों ने शोरूम के मालिक को मारी गोली, वारदात को अंजाम बदमाश दो बाइक पर सवार

लुधियाना। पचास हजार रुपये की रंगदारी नहीं देने पर छह बदमाशों ने वीरवार शाम को लोहारा में प्रिंस गैलरी एंड इलेक्ट्रानिक शोरूम के मालिक रणजोध सिंह के सिर में गोली मार दी। वारदात को अंजाम देने के लिए बदमाश दो बाइक पर सवार होकर आए थे। तीन शोरूम के बाहर खड़े रहे जबकि तीन अंदर घुस गए। गोली मारने के बाद सभी फरार हो गए। गंभीर हालत में कारोबारी को अपोलो अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। उसकी हालत अब खतरे से बाहर बताई जा रही है। फिलहाल पुलिस ने बरोटा रोड स्थित गुरु गोबिंद सिंह नगर के अरविंदर सिंह उर्फ अमन टैटू के खिलाफ केस दर्ज किया है।

ग्यासपुरा के सुरजीत सिंह नगर में रहने वाले घायल रणजोध सिंह ने बताया कि लोहारा स्थित राधा स्वामी सत्संग घर के पास उनका शोरूम है। करीब एक महीना पहले उनके पास काम करने वाले रिशी नाम के युवक पर पांच बदमाशों ने हमला कर दिया था। उन्होंने उसका इलाज करवाया और पुलिस के पास शिकायत भी की थी। बदमाशों को यह बात रास नहीं आई। उन्होंने उसे एक वायस मैसेज भेज कर धमकाया और कहा कि 50 हजार रुपये देगा तब तेरी जान छूटेगी। यही नहीं बदमाशों ने उसे कुछ फोटो भी भेजे जिसमें वह असलहे के साथ नजर आ रहे थे। इसकी शिकायत उन्होंने थाना साहनेवाल की पुलिस के पास की थी।

वीरवार शाम करीब छह बजे शोरूम के अंदर घुसे बदमाशों ने हाथों में देसी कट्टे और दातर पकड़ रखे थे। उन्होंने 50 हजार रुपये मांगे। नहीं देने पर कहने लगे कि अब गोली खा। इस बीच वह पैरों के पास पड़े बेसबाल बैट को उठाने के लिए झुके तो बदमाशों को लगा कि वह कोई हथियार निकालने लगा है। उन्होंने दो फायर कर दिए और वहां से भागने लगे। एक गोली सिर को छूटे हुए निकल गई जबकि दूसरी गोली पीछे लगी एलईडी में घुस गई। यह पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

पुलिस गंभीरता से लेती तो पहले पकड़ लिए जाते बदमाश

रणजोध ने रंगदारी मांगे जाने की शिकायत साहनेवाल थाने की पुलिस के पास की थी। कोई कार्रवाई न होने पर बाद में पुलिस कमिश्नर के पास गुहार लगाई गई। उनकी शिकायत एडीसीपी इनवेस्टीगेशन रुङ्क्षपदर कौर भट्टी को मार्क की गई। सुबह-शाम उन्हें बुलाया जाता लेकिन नतीजा कोई नहीं निकला।

कोविड काल में जेल से बाहर आया था गिरोह का सरगना

पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल का कहना है कि मुख्य आरोपित को अगस्त 2020 में पुलिस ने पत्रकार पर हमले के आरोप में गिरफ्तार किया था। कोविड काल में वह जेल से जमानत पर बाहर आया था। गिरोह बनाकर उसने फिर वारदात करना शुरू कर दी हैं।

Check Also

PUNJAB CABINET DELIBERATES UPON SEVERAL PRO-POOR INITIATIVES

PUNJAB CABINET DELIBERATES UPON SEVERAL PRO-POOR INITIATIVES

PUNJAB CABINET DELIBERATES UPON SEVERAL PRO-POOR INITIATIVES: The Punjab Cabinet led by Chief Minister Charanjit …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel