यहां पताल में है दुनिया के अंत होने का राज, एक छोटा सा खंबा बयान करता है दास्तां
Saturday, September 22, 2018
Breaking News
Home » Photo Feature » यहां पाताल में छुपा है दुनिया के अंत होने का राज, एक छोटा सा खंबा बयान करता है दास्तां
यहां पाताल में छुपा है दुनिया के अंत होने का राज, एक छोटा सा खंबा बयान करता है दास्तां

यहां पाताल में छुपा है दुनिया के अंत होने का राज, एक छोटा सा खंबा बयान करता है दास्तां

चंडीगढ़। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में स्थित पाताल भुवनेश्वर नामक एक रहस्यमयी गुफा है, जिसे महादेव के रहस्यमयी नगरी के नाम से भी जाना जाता है।

जहां प्राकृतिक रूप से एक छोटा-सा खंभा उभरा हुआ है। गुफा की छत के नीचे इस खंबे की ऊंचाई करीब छह इंच है और इसका कद हर साल बढ़ता जा रहा है। स्कंद पुराण में इसका उल्लेख मिलता है। मान्यता अनुसार, यह खंभा कलयुग का प्रतीक है।

कहते हैं खंभा बढ़कर जिस दिन गुफा की छत पर पहुंचेगा उस दुनिया समाप्त हो जाएगी और दोबारा से सतयुग की शुरुआत होगी। लोग मानते हैं कि दुनिया के अंत पर भयानक प्रलय होगा और चारों और तबाही का मंजर होगा। इस कलयुग के प्रतीक खंभे के अलावा भी यहां और भी कई छोटे-छोटे खंभे हैं। इनके बारे में कहा जाता है कि इन खंभों से दूसरे युग की कहानी जुड़ी है। इस गुफा में स्थित सैकड़ों मूर्तियों और खंभों का रहस्य कोई नहीं जानता। यह पूरा क्षेत्र महादेव जी की रहस्यमयी नगरी के नाम से भी जाना जाता है।

इस गुफा में प्रवेश का एक संकरा रास्ता है जो कि करीब 100 फीट नीचे जाता है। नीचे एक-दूसरे से जुड़ी कई गुफाएं है। यह गुफाएं पानी ने लाइम स्टोन को काट कर बनाईं हैं। मंदिर के अंदर संकरे पानी की धारा से होते हुए गुफा में जाना होता है।किवदंती है कि यहां पर पांडवों ने तपस्या की और कलियुग में आदि शंकराचार्य ने इसे दोबारा खोजा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share