Home » चंडीगढ़ » चंडीगढ़: 12 बजकर 18 मिनट पर जिला अदालत व 12 बजकर 28 मिनट पर हाईकोर्ट में होगा ब्लास्ट, पत्र के जरिये बार प्रेसिडेंट को दी गई सूचना
चंडीगढ़: 12 बजकर 18 मिनट पर जिला अदालत व 12 बजकर 28 मिनट पर हाईकोर्ट में होगा ब्लास्ट, पत्र के जरिये बार प्रेसिडेंट को दी गई सूचना
चंडीगढ़: 12 बजकर 18 मिनट पर जिला अदालत व 12 बजकर 28 मिनट पर हाईकोर्ट में होगा ब्लास्ट, पत्र के जरिये बार प्रेसिडेंट को दी गई सूचना

चंडीगढ़: 12 बजकर 18 मिनट पर जिला अदालत व 12 बजकर 28 मिनट पर हाईकोर्ट में होगा ब्लास्ट, पत्र के जरिये बार प्रेसिडेंट को दी गई सूचना

चंडीगढ़(रंजीत शम्मी): 29 अक्टूबर यानि आज के दिन 12 बजकर 18 मिनट पर जिला अदालत व 12 बजकर 28 मिनट पर हाईकोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी मिली है|वहीँ, इस धमकी के मद्देनजर शहर की पुलिस फोर्स पूरी तरह से मुस्तैद हो गई है|हाईकोर्ट और जिला अदालत को पुलिस ने चारो और से घेर लिया है, मजाल है कि परिंदा भी पर मार जाए|उधर, हाईकोर्ट और जिला अदालत के अंदर भी भारी मात्रा में पुलिस तैनात है, वहीँ, हाईकोर्ट और जिला अदालत की तरफ आने वाले हर एक मार्ग पर पुलिस ने नाके लगाए हुए हैं|आते-जाते हर वाहन की चेकिंग की जा रही है, साथ ही लोगों से पूछताछ भी की जा रही है| पुलिस ने किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए पूरी तरह से पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं|

बता दें कि, डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन को 23 अक्टूबर दिन बुधवार शाम करीब 4:00 बजे एक धमकी भरा लेटर मिला था।लेटर भेजने वाले ने कहा कि 29 अक्टूबर को वे जिला अदालत में सुबह 12 बजकर 18 मिनट पर और हाईकोर्ट में 12 बजकर 28 मिनट पर धमाका होगा।ये लेटर बार प्रेसिडेंट एनके नंदा को को स्पीड पोस्ट के जरिए रिसीव हुआ था|इस लेटर के मिलते ही हड़कंप मच गया था| जिसकी सूचना तुरंत पुलिस और कोर्ट के उच्च अधिकारियों को को दी गई थी।

लेटर में क्या लिखा था…..

लेटर भेजने वाले ने अपना पता हसनपुर मोहाली लिखा और खुद को जैश-ए-मोहम्मद का कमांडेंट आदिल खान बताया। उसने कहा कि वह पाकिस्तान से है और उसका मकसद सल्तनत की आंखें खोलना है।उसने लेटर में लिखा कि वह सरकार को पैगाम पहुंचाना चाहता कि अगर कश्मीर में जुल्म बंद नहीं किए गए तो वे जिहाद का रास्ता अपनाते रहेंगे।

लेटर भेजने वाले की भाषा में…..

सलाम वालेकुम हम लोगों को केवल इसलिए सूचित कर रहा है। क्योंकि हमारा मकसद केवल सल्तनत की आंखें खोलने का है। तथा सरकार को यह पैगाम पहुंचाना है कि यदि हमारे लोगों के ऊपर जुल्म ना बंद किया गया। तो हम मरते दम तक जिहाद का रास्ता अपनाएंगे इसलिए कश्मीर में जुलम को बंद किया जाए। आप सभी को हम यह पैगाम देना चाहते हैं कि 29 अक्टूबर 2019 को दिन में 12:18 पर हम चंडीगढ़ डिस्टिक कोर्ट और 12:28 पर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में उद्घाटन करेंगे। आप सब वकील भाइयों से यह गुजारिश है कि आप हमारे उद्घाटन से दूर रहें ।क्योंकि हम इतना जबरदस्त उद्घाटन करने जा रहे हैं कि हमारे उद्घाटन के बाद ऐसा धमाका होगा कि आप की सरकार के जिला अदालत हाई कोर्ट बनाने के लिए फिर से मेहनत करनी पड़ेगी। हमारे इस पैगाम को आप मजाक में मत लेना क्योंकि अल्लाह की रहमत से हम पूरी तैयारी कर चुके हैं। और केवल जो भाई लोग गैर सरकारी तौर पर काम करते हैं उनको नुकसान ना हो इसलिए आपको सूचित कर रहे हैं। यदि आपने हमारे इस पत्र को हलके ने लिया। तो इसके जिम्मेदार आप खुद होंगे और हमने पत्थर पर जो बता दिया है वह केवल आप लोगों की आंखें खोलने के लिए है क्योंकि जैश ए मोहम्मद और 911 को तो आप अच्छी तरह से जानते होंगे। इस बार का उद्घाटन 911 से भी अच्छा होगा आप लोग इस पत्र के बाद जरूर सरकारी नुमाइंदों को इसकी जानकारी देंगे लेकिन उसका आप लोगों को कोई फायदा नहीं होगा। क्योंकि हमने 29 अक्टूबर की सारी तैयारी कर ली है और हम उद्घाटन जरूर करेंगे इसलिए आप सरकारी नुमाइंदों पर भरोसा करके केवल अपना नुकसान ही करेंगे। इसलिए आप सब गैर सरकारी वकील भाइयों से इल्तजा है। कि आप 29 अक्टूबर को जितना हो सके जिला अदालत और हाईकोर्ट से अपने लोगों को उद्घाटन होने तक दूर रखें। क्योंकि हम लोग आम आवाम को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहते हैं क्योंकि आप हमारे इस पैगाम को सरकारी नुमाइंदों तक पहुंचा दें परंतु इस पत्र पर जो पता दिया है उसमें गांव का नाम तो ठीक है। परंतु देश का नाम पाकिस्तान है। और हम इस पत्र को पोस्ट करने बाला भी आप जैसा आम आदमी है जिसकी खुद ही नहीं पता इसलिए पत्र में क्या पैगाम है उसने पत्थर एक बूढ़ी औरत की विनती के बाद डाकखाना ने दिया है अपनी सरकार पर भरोसा करना है यह हम लोगों के पैगाम पर भरोसा करना है। यह मर्जी आप लोगों की है। पर उद्घाटन का जो समय हमने दिया है वह एकदम से सही है उद्घाटन उसी दिन होगा। और उसी समय होगा आपको सिर्फ पैगाम पहुंचाएं ताकि आप लोगों को भी कोई नुकसान ना हो। बाकी आपकी मर्जी है परंतु यह भरोसा है कि अल्लाह हमारा उद्घाटन उस दिन जरूर करवाएगा और ईशा अल्लाह हम अपने मसूड़ों में कामयाबी मिलेगी। चाहे कोई कितना जोर लगा ले क्योंकि हमारा काम पूरा हो चुका है। सिर्फ उस दिन का इंतजार है। अलविदा सलाम वालेकुम खुदा आप लोगों को रहमत बक्से उद्घाटन वाले दिन आप लोगों की हिफाजत करें।
कमांडेंट।

Check Also

ब्रेकिंग : चंडीगढ़ में भी रात के कफ्र्यू के समय में तब्दीली

चंडीगढ़। चंडीगढ़ प्रशासन ने भी केंद्रीय गृह मंत्रालय के गाइड लाइन के अनुसार चंडीेगढ़ में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel