Home » हेल्थ » जोड़ों के दर्द समेत इन 5 भयंक बीमारियों को ठीक करता है यह जादुई पौधा

जोड़ों के दर्द समेत इन 5 भयंक बीमारियों को ठीक करता है यह जादुई पौधा

नई दिल्ली। पेड़ों के जरिए न केवल हमें फल फूल प्राप्त होते हैं। बल्कि पेड़ पौधों पर लगने वाली पत्तियां अक्सर हमे कई बीमारियों से भी बचा कर रखती है। जबकि कुछ पौधों की पत्तियां बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करती है।

ऐसा ही एक पौधा है पारिजात का। पारिजात के पौधे की लंबाई लगभग 20 से 30 फीट तक जाती है। इस पर लगने वाले सफेद चमेली के फूल बहुत खुशबूदार होते हैं। ज्यादातर लोग केवल पारिजात के पौधे के सिर्फ इसके फूलों की खुशबू के लिए जानते हैं। जबकि इस पौधे पर लगने वाले पत्ते आपको बहुत सी बीमारियों से राहत दिलाने के लिए जाने जाते हैं। आइए जानते हैं कैसे करें इनका उपयोग और किन बीमारियों में किया जा सकता है इस्तेमाल।

ऐसे में आप चाहें तो पारिजात की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। आपको बता दें कि पारिजात की पत्तियों के अंदर एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह गुण ही आपको स्किन से संबंधित कई तरह की समस्याओं से बचा कर रखते हैं। साथ ही यह स्किन पर पड़ने वाला उम्र का प्रभाव भी कम कर देते हैं।

इसके लिए आप जोजोबा आयल के अंदर पारिजात की पत्तियों के रस को मिलाएं। इसके बाद अपनी स्किन पर इसे लगाएं। इससे जल्दी ही आपकी स्किन बेहतर हो जाएगी।

आर्थराइटिस में राहत

इस समस्या में व्यक्ति के जोड़ों में असहनीय दर्द होता है। साथ ही शरीर के जोड़ो की कार्य क्षमता भी बुरी तरह प्रभावित होती है। लेकिन इस स्थिति से निपटने के लिए पारिजात के पत्तों का उपयोग किया जा सकता है। आपको बता दें कि पारिजात के अंदर एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो अर्थराइटिस में फायदेमंद हो सकते हैं। ऐसा हम नहीं बल्कि आयुर्वेद और यूनानी कहते हैं। यही नहीं इसकी प्रमाण भी सिद्ध की जा चुकी है। कुछ ही समय पहले पारिजात के पत्तों का उपयोग चूहों पर किया गया था। जिसके परिणाम सकारात्मक आए थे।

उपयोग का तरीका

इसके लिए आप सबसे पहले पारिजात के पत्तों के पाउडर को पानी के अंदर डालकर पिएं। इससे आपको आर्थराइटिस के दर्द से राहत मिलेगी। आप चाहें तो पारिजात के पत्तों के रस और नारियल के तेल से जोड़ों की मालिश भी कर सकते हैं। इससे आपको दर्द से राहत मिलेगी।

सूखी खांसी और अस्थमा में

मौसम के बदलने के दौरान या कुछ उल्टा सीधा खाने की वजह से अक्सर लोगों को गले में खराश, खांसी, जुकाम जैसी समस्या होने लगती है। ऐसे में यह लोग पारिजात की पत्तियों से बनी चाय का सेवन कर सकते हैं। पत्तों के अंदर मौजूद औषधीय गुण आपको तुरंत सूखी खांसी और जुकाम से राहत देंगे। इसके अलावा इस पौधे के पत्तों में पाए जाने वाले गुण अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति की स्थिति को भी बेहतर करते हैं।

उपयोग का तरीका –

इसके लिए आपको सबसे पहले कुछ पारिजात की पत्तियां, अदरक और 2 कप पानी लेना होगा। इसे कुछ देर तक उबालने के बाद छान कर इसका सेवन करें। इससे आपको राहत मिलेगी।

बुखार से लेकर प्लेटलेट्स में

पारिजात के अंदर ऐसे बहुत से गुण पाए जाते हैं, जो आपको बुखार से राहत दिलाने का कार्य करते हैं। यानी अगर आपको बुखार है, मलेरिया, डेंगू जैसी समस्या है तो आप पारिजात के पौधे के पत्तों का उपयोग कर सकते हैं।

बुखार में उपयोग की विधि

इसके लिए आपको केवल एक चम्मच पारिजात के पत्तियां और 2 कप पानी लेना है। अब इसे उबलने देना है। जब इसमें पानी आधा रह जाए तो बुखार होने पर इसका सेवन करें। इससे आपको तुरंत राहत

Check Also

voice disorder :

ज्यादा तेज बोलने से हो सकता है वॉइस डिसऑर्डर, देखें इसके लक्षण व बचाव

voice disorder : क्या आपको भी बोलने में तकलीफ होती है? या तेज बोलने पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel