जेएंडके : आतंकियों का दोहरा हमला, 2 जवान शहीद, 11 जवान घायल
Thursday, June 21, 2018
Breaking News
Home » देश » जेएंडके : आतंकियों का दोहरा हमला, 2 जवान शहीद, 11 जवान घायल
जेएंडके : आतंकियों का दोहरा हमला, 2 जवान शहीद, 11 जवान घायल

जेएंडके : आतंकियों का दोहरा हमला, 2 जवान शहीद, 11 जवान घायल

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आंतकियों ने सुरक्षाबलों को अपना निशाना बनाया है। आतंकियों ने मंगलवार सुबह पुलवामा और अनंतनाग में घटना को अंजाम दिया। आतंकियों ने पुलवामा में कोर्ट कांप्लेक्स के पास जम्मू-कश्मीर के पुलिस के एक दल पर हमला किया जिस दौरान 2 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। वहीं दूसरी तरफ अनंतनाग में भी सीआरपीएफ के एक दल पर ग्रेनेड से हमला किया जिसमें 11 जवान जख्मी हो गए।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि आतंकवादियों ने पुलवामा जिला अदालत परिसर में पुलिस पिकेट पर तड़के फायरिंग की। पुलिसर्किमयों ने भी जवाबी फायरिंग की जिस दौरान गोली लगने से दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए। घटना के बाद इलाके की घेराबंदी कर दी गई। वहीं, अनंतनाग में भी आतंकियों ने सीआपीएफ पार्टी पर हमला किया। आतंकियों ने अनंतनाग के जंगलात मंडी में पेट्रोलिंग कर रहे सीआपीएफ कंपनी पर ग्रेनेड से हमला कर दिया।. इस हमले में सीआरपीएफ के 11 जवान जख्मी हो गए जिन्हें अस्?पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से एक जवान की हालत नाजुक बनी हुई है।

बता दें कि केंद्र सरकार की तरफ से जम्मू-कश्मीर में रमजान के दौरान शांति बनाए रखने के लिए सीजफायर के फैसले के बीच घाटी में आतंकी घटनाएं पहले के मुकाबले ज्यादा हो गई हैं। रमजान के शेष 5 दिनों के भीतर पाकिस्तान की तरफ से 5 बड़े आतंकी हमलों की आशंका जताई गई थी।

सीजफायर बढ़ाने पर सेना ने केंद्र सरकार को चेताया

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सीजफायर बढ़ाने के प्रस्ताव पर भारतीय सेना ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है। सेना ने कहा है कि सीजफायर बढ़ाने के फैसले पर वह केंद्र सरकार के साथ है लेकिन इस तरह का कदम उठाना राज्य की सुरक्षा के लिहाज से ठीक नहीं होगा। सेना की एकीकृत कमान के कोर कमांडरों ने पिछले दिनों गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ बैठक के दौरान उन्हें अपनी सुरक्षा चिंताओं से अवगत कराया।

एक अंग्रेजी चैनल के अनुसार सेना ने केंद्रीय गृहमंत्री से कहा कि सीजफायर को बढ़ाना तीन वजहों से उचित नहीं होगा। पहला- पाकिस्तान नहीं चाहता कि सीजफायर बढ़े, इसलिए बड़ी संख्या में आतंकवादियों को भेजा जा रहा है। अब तक दो से तीन आतंकवादी भेजे जाते थे लेकिन अब 5 से 6 आतंकी भेजे जा रहे हैं। पाकिस्तान चाहता है कि कश्मीर हिंसा तेज हो। दूसरा कारण सेना ने यह बताया कि स्थानीय आतंकवादियों को हथियार तथा गोला-बारूद की आपूर्ति कम होती जा रही है, इसलिए वे सुरक्षाबलों से हथियार छीन रहे हैं। सीजफायर बढऩे से उन्हें फिर से हथियार जुटाने में मदद मिलेगी। तीसरा कारण यह है कि सेना की कार्रवाई में बढ़ी संख्या में आतंकवादी मारे गए हैं, वे इस समय दबाव में हैं, ऐसे में अगर सीजफायर बढ़ाया गया तो उन्हें एकजुट होने का मौका मिल जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share