Home » व्यापार » फ्रंटलाइन वर्कफोर्स की सुरक्षा के लिए आगे आई इंडियन ऑयल, चला रही है मिशन टीकाकरण

फ्रंटलाइन वर्कफोर्स की सुरक्षा के लिए आगे आई इंडियन ऑयल, चला रही है मिशन टीकाकरण

नई दिल्ली। कोरोना महामारी ने जीवन के हर पहलू को प्रभावित किया है। लेकिन संकट की इस घड़ी में फ्रंटलाइन वर्कर्स ने अपनी जान की परवाह किए बिना पूरी जिम्मेदारी के साथ अपने कर्तव्य का निर्वहन किया है। इसमें आपके घरों तक सिलेंडर पहुंचाने वाले और पेट्रोल पंपों पर काम करने वाले फ्रंटलाइन वर्कर्स भी शामिल हैं।

देश की सबसे बड़ी ऑयल मार्केटिंग कंपनी इंडियन ऑयल सभी नागरिकों को निर्बाध ईंधन आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए कोविड-19 के खिलाफ मिशन टीकाकरण चला रही है।

कंपनी के उत्तरी क्षेत्रीय कार्यालय में दिल्ली-एनसीआर स्थित एलपीजी बॉटलिंग प्लांट, पीओएल स्थानों, एविएशन फ्यूल स्टेशन, रिटेल आउटलेट, एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटरशिप जैसे ग्राहक संपर्क बिंदुओं के ग्राहक परिचारकों, एलपीजी डिलीवरीमैन, अनुबंध श्रमिकों, और कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए टीकाकरण शिविर आयोजित कर रही है। कंपनी के उत्तरी क्षेत्र के कार्यकारी निदेशक (क्षेत्रीय सेवाएं) अरूप सिन्हा ने वर्कप्लेस पर टीकाकरण के लिए जोर दिया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ स्टेकहोल्डर्स की सुरक्षा की दिशा में एक सकारात्मक कदम है।

सिन्हा ने इस काम के लिए आगे आने और शिविरों में खुद को टीका लगवाने के लिए हितधारकों की भी प्रशंसा की। उन्होंने लाभार्थियों को सभी सुरक्षा सावधानी बरतने और कोविड के उचित व्यवहार का पालन करने की सलाह दी। शिविरों का आयोजन लेफ्टिनेंट कर्नल योगेश चंद्र, जीएम (ए एंड डब्ल्यू), एनआरओ की देखरेख में किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इंडियन ऑयल के उत्तरी क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित 6 टीकाकरण शिविरों में अब तक 18 से 59 वर्ष के आयु वर्ग के फ्रंटलाइन कार्यबल को कुल 3126 टीके लगाए गए हैं।

Check Also

जाना पड़ सकता है जेल अगर नहीं किया इन नियमों का पालन

नई दिल्ली: यदि आप जेल जाने से बचना चाहते हैं तो इन नियमों को ध्यान से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel