Breaking News
Home » हेल्थ » भारत में गुप्त टीबी के मरीज 40 फीसदी से ज्यादा, जागरूकता फैलाएगी आईएमए

भारत में गुप्त टीबी के मरीज 40 फीसदी से ज्यादा, जागरूकता फैलाएगी आईएमए

आईएमए ने नारा दिया है ‘आईएमए का नारा, टीबी से छुटकारा’

  • टीबी से जुड़ा एक महत्वपूर्ण मुद्दा महिलाओं में टीबी को लेकर लापरवाही

चंडीगढ़। ट्यूबरक्लोसिस (टीबी) अथवा क्षय रोग को लेकर रविवार को मनाए गए विश्व टीबी दिवस पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए)ने लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया। यह कार्यक्रम टीबी के उन्मूलन के लिए किए जाने वाले जरूरी उपायों और इन उपायों के बारे में जागरूकता कायम करने के लिए आयोजित किया गया।

इसका उद्देश्य इस भयावह बीमारी के बारे में आम लोगों में जागरूकता बढ़ाना और वर्ष 2025 तक इस बीमारी के प्रकोप और इसके कारण होने वाली असामयिक मृत्यु एवं विकलांगता को खत्म करना है। इन कार्यक्रमों के लिए आईएमए ने नारा दिया है ‘आईएमए का नारा, टीबी से छुटकारा।

लोगों को ऐसे कार्यक्रमों के जरिये टीबी के खिलाफ जागरूक करने से देश में टीबी के उन्मूलन का मार्ग प्रशस्त होगा। इसमें 500 से अधिक स्टूडेंट्स, एनजीओ सदस्यों और हेल्थ वर्करों ने हिस्सा लिया।आईएमए के वित्त सचिव डॉ. रमेश दत्ता ने बताया विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) की ओर से उपलब्ध कराए हाल के आंकड़ों के अनुसार भारत ड्रग सेंसेटिव एवं मल्टी ड्रग रजिस्टेंस टीबी के मामले में आगे है। टीबी से जुड़ा एक महत्वपूर्ण मुद्दा महिलाओं में टीबी को लेकर लापरवाही है। रिसर्च से पता चला है कि महिलाओं में टीबी के मामलों की अनदेखी होती है। हमारे देश में 32 लाख महिलाएं टीबी से पीडि़त हैं। इनकी मृत्यु दर भी अधिक है।

टीबी के उन्मूलन के लिए न केवल प्राइवेट डॉक्टरों को शामिल करना जरूरी है बल्कि लोगों में जागरूकता कायम करना भी आवश्यक है ताकि टीबी के मामलों को सामने लाया जा सके। क्योंकि टीबी के खिलाफ जंग में टीबी के मरीज की पहचान और इलाज जरूरी है। भारत में गुप्त टीबी के मरीजों की संख्या भी काफी अधिक 40 फीसदी से अधिक है।

Check Also

जानें ऐसी गुणकारी औषधि के बारे में जो कई रोगों के उपचार की अकेली जड़ी-बूटी

अश्वगंधा ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है, जिसे किसी परिचय की जरूरत नहीं है। अनगिनत खुबियों के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel