नगर निगम में मनोनीत पार्षद बनने हेतु पहली बार यह उच्च नेता भी दौड़ में, देखें कौन

For the first time, this high leader is also in the race to become a nominated councilor in the muni

नगर निगम में मनोनीत पार्षद बनने हेतु पहली बार यह उच्च नेता भी दौड़ में, देखें कौन

चंडीगढ़। नगर निगम में जहां किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है, वहीं भाजपा अपने चहेतों को मनोनीत करवाने के लिए कोई कमी नहीं छोड़ेंगी। प्रशासन महीने के आखिरी सप्ताह में 9 मनोनीत (नोमिनेटिड) पार्षदों के नाम जारी कर  सकता है। इसमें कई ऐसे महत्वपूर्ण नाम शामिल हो सकते हैं जो शहर के लोगों को चौंका सकते हैं। 

बताया जाता है कि इनमें पार्टी अध्यक्ष अरुण सूद के अलावा, पूर्व अध्यक्ष संजय टंडन की पत्नी प्रिया टंडन, भाजपा के खजांची अमित जिंदल व हाल ही में भाजपा में शामिल हुए देवेंद्र बबला के अलावा, सीबीएम के संजीव चड्ढा, दिवाकर सहुजा, कवलजीत पंछी व पूर्व मनोनीत पार्षद रहे चरणजीव सिंह भी दोबारा मनोनीत होने के लिए जोडज़ोड़ में लगे हैं। इसके अलावा पूर्व मुख्य अभियंता मुकेश आन्नद, डॉ. जी दीवान, भाजपा नेता आशा जसवाल भी प्रबल दावेदार हैं। लेकिन पहली बार इन नेताओं के भी नाम उभरकर आ रहे हैं, जो खुद नगर निगम में मनोनीत होना चाहते हैं। सूत्रों के अनुसार, करीब दो दर्जन से अधिक नेता अपने आकाओं के माध्यम से नगर निगम में मनोनीत होने के लिए जोड़तोड़ कर रहे हैं। 

ज्ञात रहे नगर निगम में 9 पार्षदों को मनोनीत किया जाएगा, जबकि इस बार 35 पार्षद जीतकर नगर निगम में पहुंचे हैं। दूसरी यह भी पता चला है कि भाजपा अपने पार्षद मनोनीत करने के साथ साथ  नगर निगम में बहुमत साबित करने के लिए  सुप्रीम कोर्ट में भी लंबित पड़े मामले में भी जोर शोर से पैरवी कर मनोनीत पार्षदो को वोट का अधिकार दिलाने की कोशिश करेगी ।
 


Comment As:

Comment (0)


shellindir ucuz fiyatlara garantili takipçiler Tiny php instagram followers antalya haberleri online beğeni al

>