Breaking News
Home » Photo Feature » कहीं बारिश में डूबती जिंदगियां, कहीं बारिश को तरसती जिंदगियां…
कहीं बारिश में डूबती जिंदगियां, कहीं बारिश को तरसती जिंदगियां
कहीं बारिश में डूबती जिंदगियां, कहीं बारिश को तरसती जिंदगियां

कहीं बारिश में डूबती जिंदगियां, कहीं बारिश को तरसती जिंदगियां…

[Edited By: Shiva Tiwari]

देख तमाशा बारिश का……

क्या बारिश ए दौर है…कहीं बारिश से किसी की सांसे थम रही हैं तो कहीं बारिश की बूंदों को पाने के लिए किसी की सांसे व्याकुल हैं|अजब तमाशा कर रही है बारिश किसी को अपने में तहरा रही है तो किसी को अपनी एक बूंद भी नसीब नहीं करा रही है…|

वैसे तो मॉनसून देश के लगभग सभी राज्यों में एंट्री कर ही चुका है कुछ एक राज्य ऐसे हैं जहां मॉनसून का पहुंचना अभी बाकी है लेकिन जल्द ही पहुंचने की सम्भावना है| उधर जिन राज्यों में मॉनसून पंहुचा है उनमे कहीं-कहीं तो यह मॉनसून सही ढंग से व्यवहार कर रहा है लेकिन यही मॉनसून कहीं-कहीं लोगों को रुला रहा है|

जैसा कि आप से कुछ छुपा तो है नहीं..जो भी है आपके सामने है…हम सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में जब से मॉनसून ने दस्तक दी है यहां के लोगों का जीना दूभर हो गया है|हालांकि यहां लोग तपती गर्मी से निजात पाने के लिए बड़ी ही बेसब्री से मॉनसून के इंतजार में थे|वहीँ जैसे तैसे जब मॉनसून ने यहां एंट्री मारी तो लोगों में इन्तजार खत्म हुआ और वह ख़ुश हुए कि चलो अब मानसूनी बारिश उन्हें गर्मी से छुटकारा दिलाएगी|लेकिन उनका सोचना गलत था वह यह नहीं जानते थे कि जिस मानसूनी बारिश का इंतजार वो कर रहे हैं वह उनके लिए काल बनकर आएगी|

बारिश ऐसी हुई कि लोगों को गर्मी से छुटकारा तो दिलाया ही दिलाया साथ ही उन्हें दुनिया से भी छुटकारा दिला दिया|मानसूनी बारिश महाराष्ट्र के मुंबई समेत कई इलाकों के कई लोगों की जिंदगियां लील गई|जहां इसका कहर अब भी बरकरार है|आलम यह है कि इस बारिश ने कई लोगों से उनका रोजगार भी छीन लिया है|लोगों का घर से बाहर निकलना बंद हो गया है मानो ऐसा लगता है कि यहां जिंदगी की रफ्तार जैसे थम सी गई हो|

वहीँ दूसरी तरफ देश के कुछ ऐसे राज्य हैं जहां मॉनसून आने का लोग इन्तजार कर रहे हैं, वहीँ कहीं कहीं तो यह मॉनसून पहुंच भी गया है तब भी बारिश नहीं हो रही है|फिलहाल जिन राज्यों में मॉनसून नहीं पंहुचा है वहां के लोग इसके पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं कि कब ये आएगा और उन्हें सकून दिलाएगा|लोग टकटकी लगाए रोज आसमान की तरफ देखते हैं कि शायद अब मॉनसून आएगा और झमाझम बारिश होगी| तनिक भी मौसम विशेषज्ञ मॉनसून को लेकर कोई सम्भावना जता दें कि इस दिन बारिश के साथ मॉनसून आएगा तो लोगों में खुशी का ठिकाना नहीं रहता|उनमे उम्मीद जगती है कि अब तो बारिश होगी|यही उम्मीद लिए हुए लोग बारिश के इंतजार में लगे हुए हैं|पर बादल हैं कि बरसने का नाम ही नहीं ले रहे| न जाने कब ये बरसेंगे| लोग सोचते हैं कि मॉनसून कहीं आया तो ऐसा आया कि लोगों को तरमय कर दिया और कहीं ये हाल है कि आने का नाम ही नहीं ले रहा है…….

बात करें किसानों की तो वो भी बेचारे अपनी फसल बोने के लिए प्रकृति रूपी बारिश की राह तक रहे हैं|धान की फसल बोने का समय है और आप सभी जानते हैं कि धान की फसल बोने के लिए अधिक सी अधिक पानी की जरुरत पड़ती है जो कि प्रकृति रूपी बारिश सी ही संभव है| हालांकि कई किसान ऐसे हैं जिनके पास अपने खुद के पानी के साधन हैं जिनसे वह अपने खेतों में धान की फसल बो रहें हैं लेकिन ज्यादा से ज्यादा किसान ऐसे हैं जिन्हे अपनी फसल बोने के लिए सिर्फ प्रकृति रूपी बारिश का ही सहारा है| ऐसे में जिन इलाकों में मॉनसून नहीं पंहुचा है वहां जल्द जल्द से दस्तक दे और किसानो के खेतों को हरा भरा करे|साथ ही लोगों को गर्मी से राहत दिलाये| फिलहाल इतंजार है……..

Check Also

रहस्यमयी कुंड, जहां ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी

दुनिया में ऐसे कई जलकुंड हैं, जिनके रहस्य आज भी अनसुलझे हैं। एक ऐसा ही …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel