Home » ब्रेकिंग न्यूज़ » हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड दसवीं का रिजल्ट घोषित, नारनौद के टैगोर स्कूल की छात्रा रिषिता रही टॉपर

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड दसवीं का रिजल्ट घोषित, नारनौद के टैगोर स्कूल की छात्रा रिषिता रही टॉपर

64.59 फीसदी रहा रिजल्ट,फिर लड़कियों ने बाजी मारी

रेवाड़ी पहले,जींद दूसरे तथा महेंद्रगढ़ तीसरे स्थान पर

भिवानी। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड दसवीं का रिजल्ट शुक्रवार देर शाम घोषित कर दिया गया है। नारनौद के टैगोर स्कूल की छात्रा रिषिता टॉपर रही है। रिषिता ने 500 में से 500 अंक हासिल किए हैं। जबकि हरियाणा बोर्ड का रिजल्ट इस बार 64.59 फीसदी रहा है। 3 लाख 37 हजार 691 छात्रों में से 2 लाख 18 हजार 120 पास हुए हैं।

वर्ष 2019 में 57.39 फीसद विद्यार्थी पास हुए थे। इस बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी हैं और लड़कों से आगे रही हैं। छात्राओं का पास प्रतिशत 69.86 रहा है। लड़कों का पास पतिशत 60.27 है। वर्ष 2019 में लड़कियों ने बाजी मारी थी। परीक्षा में कुल 57.39 फीसद विद्यार्थी पास हुए थे। लड़कियों का पास प्रतिशत 62.17 था, जबकि छात्रों का पास प्रतिशत 53.43 रहा था। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चैयरमेन जगबीर सिंह और सचिव राजीव प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रें स कर परिणाम का ऐलान किया है।

ये परीक्षाएं 3 मार्च से आरंभ हुईं थी और 31 मार्च तक पूरी होनी थीं। कुल तीन लाख 61 हजार 329 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी। इसमें ओपन स्कूल के 89,423 विद्यार्थी थे। शैक्षिक में 3,47,809 परीक्षार्थी थे। शैक्षिक विद्यार्थियों में 1,55,743 छात्राएं हैं।

छात्राओं ने मारी बाजी-

हरियाणा बोर्ड 10वीं के परिणामों में छात्रों के मुकाबले छात्राएं अव्वल रही हैं। दसवींं की परीक्षा में 69.86 छात्राएं पास हुई हैं। जबकि 60.27 फीसदी लड़के पास हुए हैं। हालांकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में पढऩे वाले छात्रों के सफल होने का आंकड़ा लगभग बराबर रहा है। गांवों में रहने वाले 64.39 फीसदी विद्यार्थी सफल हुए हैं। जबकि शहरों में पढऩे वाले 65 फीसदी विद्यार्थियों ने परीक्षा उत्तीर्ण की है।

रेवाड़ी को मिला पहला स्थान

पूरे प्रदेश में रेवाड़ी जिले का परीक्षा परिणाम बेहतर रहा है। पूरे प्रदेश में रेवाड़ी पहले स्थान पर रहा है। जबकि जींद को दूसरा स्थान मिला है। महेंद्रगढ़ तीसरे स्थान पर रहा है। आंकड़ों के मुताबिक सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले 59. 74 फीसदी छात्र पास हुए हैं। जबकि प्राइवेट स्कूलों में पढ़ रहे 69.51 फीसदी छात्र सफल रहे हैं।

8 जून को करना था घोषित रिजल्ट

पहले भी हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा रिजल्ट तैयार करवा लिया था और आठ जून को रिजल्ट घोषित किया जाना था,लेकिन ऐन वक्त पर सरकार ने बाकी बचे विज्ञान विषयों की परीक्षा कराने का फैसला ले लिया था। जिसके बाद रिजल्ट घोषित करने का फैसला वापस ले लिया था। तभी से रिजल्ट घोषित करने का मामला अटका चला आ रहा था। बाद में कोरोना वायरस संक्रमण का हवाला देते हुए परीक्षा न कराने को लेकर अदालत में याचिका भी डाल दी थी। जिसका अभी तक कोई फैसला नहीं आया है।

19 मार्च को रोक दी परीक्षाएं

विश्व में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के चलते हरियाणा में भी सभी शिक्षण संस्थानों की परीक्षाएं रोक दी गई थी। इसी क्रम में शिक्षा बोर्ड ने 19 मार्च से दसवीं व 12 वीं की परीक्षा रोक दी गई थी। जिस वक्त परीक्षाएं रोकी गई थी। उस वक्त दसवीं कक्षा का विज्ञान विषय की परीक्षा आयोजित करवानी बाकी रह गई थी। इनके अलावा कुछ वैकल्पिक विषयों की परीक्षाएं भी आयोजित नहीं हो पाई थी। इसी तरह बारहवीं की विज्ञान व अन्य कई विषयों की परीक्षा बिना आयोजन के रह गई थी। उसके बाद से कोरोना वायरस संक्रमण लगातार बढता गया। जिसके चलते आज तक बाकी बचे विषयों की परीक्षाएं आयोजित नहीं हो पाई है।

Check Also

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को कोरोना, ट्वीट कर दी जानकारी, कई दिग्गजों ने जल्द स्वस्थ होने की कामना

नई दिल्ली: भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के कोरोना संक्रमित होने की खबर सामने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel