Home » उत्तराखंड » उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा तेज
GOOD WORK: इंसानियत का वजूद बनी Chandigarh Police की यह महिला सब इंस्पेक्टर, पढ़ें कारनामा
GOOD WORK: इंसानियत का वजूद बनी Chandigarh Police की यह महिला सब इंस्पेक्टर, पढ़ें कारनामा

उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा तेज

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा हाल में उत्तराखंड सरकार के मंत्रिमंडल में संभावित विस्तार के बारे में संकेत दिये जाने के बाद एक बार फिर लगभग दो दर्जन दावेदारों में मंत्री पद पाने की उम्मीद जग गयी है। तीन साल पहले 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में जबरदस्त बहुमत से सत्ता में आयी भाजपा सरकार में केवल दस सदस्यीय मंत्रिमंडल को ही शपथ दिलायी गयी थी जबकि उत्तराखंड में अधिकतम 12 मंत्री हो सकते हैं।

राज्य मंत्रिमंडल में रिक्त ये दो स्थान उसके बाद कभी भरे ही नहीं गये। पिछले साल जून में प्रदेश के संसदीय कार्य मंत्रालय सहित कई अहम विभाग संभाल रहे प्रकाश पंत का निधन हो जाने के बाद मंत्रिमंडल के रिक्त पदों की संख्या बढ़कर तीन हो गयी। पंत के अचानक निधन के बाद मंत्रिमंडल के रिक्त पदों को भरे जाने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया लेकिन शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को संसदीय कार्य मंत्रालय और वित्त मंत्रालय की अतिरिक्त जिम्मेदारी दिये जाने के बाद इन चर्चाओं ने भी दम तोड़ दिया।

हालांकि इस बारे में अटकलों ने फिर से जोर पकड़ लिया है। हाल में मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि मंत्रिमंडल में रिक्त पड़े स्थानों को भरे जाने की आवश्यकता महसूस की जा रही है क्योंकि हर मंत्री बहुत सारे विभागों की जिम्मेदारी संभालने के कारण बहुत बोझ उठा रहा है। मंत्रिमंडल में रिक्त तीन स्थानों के लिये करीब दो दर्जन दावेदारों के नाम चर्चाओं में चल रहे हैं। पूर्व में मंत्री रह चुके चार विधायकों को उनके अनुभव के चलते सबसे मजबूत दावेदारों में गिना जा रहा है।

Check Also

अब आसानी से मिल जाएगा अपराधियों का ब्योरा

देहरादून। अब पुलिस को राज्य में सक्रिय अपराधियों और उनके अपराध का पूर्ण ब्योरा आसानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel