Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » कुंभ: चंडीगढ़ से प्रयागराज पहुचें सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मौनी अमावस्या पर संगम में मारी आस्था की डुबकी

कुंभ: चंडीगढ़ से प्रयागराज पहुचें सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मौनी अमावस्या पर संगम में मारी आस्था की डुबकी

हर-हर गंगे से गूंजा तीर्थराज प्रयाग, श्रद्धालुओं ने किया मां गंगा का आशीर्वाद प्राप्त

प्रयागराज/चंडीगढ़ :आज सोमवार को मौनी अमावस्या के शुभ अवसर पर करोङो श्रद्धालु प्रयाग कुम्भ मेले में संगम में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं|कड़ाके की ठंड भी श्रद्धालुओं को संगम में आस्था की डुबकी लगाने से नहीं रोक पाई है|ऐसी मान्यता है कि इस दिन कुंभ में पवित्र संगम में स्नान का विशेष महत्व होता है। जानकारी के अनुसार पिछले कई दिन से हर रोज दुनियाभर से लाखो श्रद्धालु प्रयागराज में संगम के पवित्र जल में डुबकी लगाने के लिए पहुंच रहे हैं, जहां इसी बीच चंडीगढ़ से भी कई लोग पहुचें हैं|वहीँ संगम नगरी इन दिनों हर-हर गंगे से गूंज रही है|

बतादे कि मध्य रात्रि से ही मौनी अमावस्या के शाही स्नान के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ संगम तट पर उमड़नी शुरू हो गई थी| लेकिन ज्ञात रहे कि सबसे पहले नियम के अनुसार संन्यासी संप्रदाय ने डुबकी लगानी होती है|जहां क्रम से श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा, श्री पंच दशनाम अखाड़ा, अखिल भारतीय श्री पंच निर्वाण अखाड़ा, श्री पंचायत दिगंबर अनि अखाड़ा, श्री पंच निर्मोही अनि अखाड़ा और इसके बाद श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन और अन्य ने डुबकी लगाई| जिसके बाद ही दुनिया के चारो तरफ से आये हुए श्रद्धालुओं ने पवित्र त्रिवेणी गंगा यमुना सरस्वती के संगम पर आस्था की डुबकी लगाना शुरू किया|

वहीँ कुंभ के इस मौके पर सिटी ब्यूटीफुल चंडीगढ़ से भी सैकड़ों श्रद्धालु प्रयागराज में मां गंगा के पवित्र जल में आस्था की डुबकी लगाने पहुंचे थे|जहां तटों पर भीड़ इतनी अधिक थी कि कई लोग तो मां गंगा के पवित्र जल के छींटे ही मार पाए| इसी बीच श्रद्धालुओं की बढ़ती भीड़ को प्रशासन द्वारा बार- बार हिदायत दी जा रही थी, कि कृपया आप लोग संगम में शीघ्र ही डुबकी मारकर बाहर आ जाएं ज्यादादेर तक न रुके, जिससे और भी लोगों को मौका मिल पाए|यहां यह भी देखा जा सकता था कि प्रशासन की इस चौकस व्यवस्था से साधु-संत काफी खुश नजर आ रहे थे|वहीँ इस खास मौके पर चंडीगढ़ अर्थ प्रकाश परिवार के हरभूषण कुमार, संजीव शर्मा, राजेंद्र कुमार, दीपक पठानिया, कमल किशोर, प्रदीप कुमार, राजकुमार गुप्ता राजेश शर्मा इत्यादि डुबकी लगाने प्रयागराज पहुंचे हुए थे| इस दौरान अर्थ प्रकाश के साथ खास बातचीत करते हुए साधु -संतों ने बताया की उन्हें पहले कभी भी ऐसी औचक व्यवस्था देखने को नहीं मिली जैसा अबकी बार इंतजाम किया गया, वो वाकई लाजबाब है|

बतादे की कुंभ मेले में किसी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए भारी सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं|यह सुनिश्चित करने के लिए कि भीड़ में कोई अराजक तत्व ना जा पाए और मेले में जुटे लाखों लोगों की सहायता के लिए कुंभनगर और इसके बाहर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है|

अबकी बार के कुंभ की कुछ खास बातें….

  • 45 वर्ग किमी में कुंभ मेला
  • 600 रसोईघर
  • 48 मिल्क बूथ
  • 200 एटीएम
  • 4 हजार हॉट स्पॉट
  • 1.20 लाख बॉयो टॉयलेट
  • 800 स्पेशल ट्रेनें चलाईं
  • 300 किमी. रोड बनी
  • 40 हजार एलईडी
  • 5 लाख गाड़ियों के लिए पार्किंग एरिया

गौरतलब है की उत्तर प्रदेश के प्रयाग में मकर संक्रांति के पावन अवसर पर 15 जनवरी यानी मंगलवार से 4 मार्च तक कुल 49 दिन तक चलने वाले कुंभ की शुरुआत हो चुकी है|साधु-संतों समेत लाखों की तादाद में आज संगम में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं।अबकी बार प्रयागराज में संगम तट पर दूधिया रोशनी में नहाए पीपों के पुल की आभा देखते ही बन रही है|वहीँ उत्तरप्रदेश सरकार कुंभ 2019 को अब तक का सबसे भव्य कुंभ बता रही है। पहले यह सिर्फ 20 वर्ग किमी इलाके में ही होता था। मेले में 50 करोड़ की लागत से 4 टेंट सिटी बसाई गई हैं, जिनके नाम कल्प वृक्ष, कुंभ कैनवास, वैदिक टेंट सिटी, इन्द्रप्रस्थम सिटी हैं। कुंभ के दौरान प्रयागराज में दुनिया का सबसे बड़ा अस्थायी शहर बस जाता है।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कुंभ के आयोजन पर 4300 करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं। इस बार यहां 20 हजार से अधिक पुलिसकर्मी, 6 हजार होमगार्ड, 40 थाने, 58 चौकियां, 40 दमकल स्टेशन, केंद्रीय बलों की 80 कंपनियां और पीएसी की 20 कंपनियां तैनात की गई हैं। किसी आतंकी गतिविधि से निपटने के लिए आतंकवाद रोधी स्क्वॉड के कमांडो, बम निरोधक दस्ता ओर खुफिया एजेंसियों को भी मुस्तैद किया गया है। वहीं, यहां एक आधुनिक एकीकृत कमांड एवं कंट्रोल सेंटर बनाया गया है जो 1200 सीसीटीवी के जरिए कुंभ मेले पर 24 घंटे नजर रखेगा। कुंभ की थीम- स्वच्छ कुंभ और सुरक्षित कुंभ है।

Check Also

दो सगी बहनों की हत्या का आरोपी चंडीगढ़ पुलिस के रिटायर्ड एसआई का बेटा

इकलौते भाई को राखी बांधने जाना था बहनों ने चंडीगढ़। स्वतंत्रता दिवस और राखी वाले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel