Home » पंजाब » डेराबस्सी के गांव जवाहरपुर में आया कोरोना पॉजिटिव केस, गांव में दहशत का माहौल

डेराबस्सी के गांव जवाहरपुर में आया कोरोना पॉजिटिव केस, गांव में दहशत का माहौल

डेराबस्सी, (जिंदल):- डेराबस्सी के निकटवर्ती गांव जवाहरपुर के मलकीत सिंह पुत्र भाग सिंह जो 2 दिन से जीएमसीएच सेक्टर 32 चंडीगढ़ में भर्ती थे उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है । यह खबर प्रशासन के अलावा गांव पहुंचते ही दहशत का माहौल है। गांव को सील करते हुए मलकीत के परिवार में रह रहे सदस्यों को भी क्वॉरेंटाइन करने के अलावा गांव में मलकीत के संपर्क में आए अन्य लोगों की हिस्ट्री पता की जा रही है।
गांव जवाहरपुर में 160 नंबर मकान में रहने वाले ज्ञानी मलकीत सिंह गांव में लगातार दूसरी बार चुने गए पंचायत सदस्य भी हैं। वह अपने छोटे भाई बलजिंदर सिंह के अलावा परिवार में मलकीत के बुजुर्ग माता-पिता, उसके भाई, दोनों की पत्नियां और दोनों के बच्चे मिलाकर कुल 10 सदस्य हैं जिन्हें अब होम क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। इसके अलावा गांव में मंदिर और गुरुद्वारे से अनाउंसमेंट करके सभी लोगों को घरों में रहने की हिदायत दे दी गई है। पुलिस भी अपनी तरफ से पूरे गांव में अनाउंसमेंट कर रही है और गांव को जाने वाले हर रास्ते को गाड़ियां लगाकर सील कर दिया गया है।
मलकीत सिंह का डेरा बस्सी में पहले दशमेश नामक टेंट हाउस था पर बीते कुछ सालों से ही टेंट हाउस बंद करके जवाहरपुर के नजदीक ही टेंट के परदे सीलिंग बनाने की फैक्ट्री चला रहा था। साथ ही इसका एक गोदाम भी था। गोदाम से 8 लोग और फैक्टरी से 16 लोगों को काम करते पाया गया। सबसे बड़ी बात यह है कि इनमें 1 दर्जन से अधिक अल्पसंख्यक समुदाय से शामिल है। डेराबस्सी पुलिस ने फैक्ट्री और गोदाम को सील करवाया और लोगों को अंदर ही रहने की सख्त पालना करने को कहा। इन सभी के नाम दर्ज कर लिए गए हैं। उम्मीद है कि कल मेडिकल टीम सैनिटाइजेशन टीम के साथ गांव का दौरा करेगी और ना केवल मलकीत सिंह के घर के सदस्यों को होम क्वॉरेंटाइन किया जाएगा बल्कि मलकीत के संपर्क में आए लोगों को उसकी फैक्ट्री के तमाम वर्कर्स को और जहां-जहां वह गए हैं उसका संपर्क हिस्ट्री पता करके उन्हें भी आइसोलेशन में लाया जाएगा।
यह उल्लेखनीय है कि मलकीत के ताया जी के बेटे गुरविंदर सिंह उर्फ छोटा भी गांव का सरपंच है। दो दिन पहले ही सैनिटेशन को लेकर इन्होंने पंचायत में सदस्यों के साथ एक बैठक की थी और बैठक के बाद पूरे गांव को सैनिटाइज करने के काम में भी यह लोग जुड़े रहे। पंचायत सदस्य होने के नाते मलकीत सिंह के संपर्क में आने वाले लोगों की तादाद ज्यादा रही है। पूरे गांव में पुलिस की नाकाबंदी को देखते हुए छतों पर चढ़े गांव के लोगों में कोरोना के प्रति खौफ और गहरा गया है। डेराबस्सी हल्के में यह पहला गांव हैं जहां का मूल निवासी बाशिंदा कोरोना की चपेट में आया है। इस खबर ने पूरे हल्के में दहशत का माहौल पैदा कर दिया है।

Check Also

लुधियाना में 2 किलो सोना लूटने वाला सरगना पंजाब पुलिस की वर्दी, नकली आईडी, चीनी पिस्तौल समेत काबू

खालिस्तानी एजंडे के हिस्सेके तौर पर राज्य में सुनियोजित कत्ल करने के लिए बनाई थी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel