Home » Photo Feature » डिप्टी SP ने दिया इस्तीफा, छुट्टी नहीं मिली तो उठाया ये कदम
Deputy SP resigns on not getting leave

डिप्टी SP ने दिया इस्तीफा, छुट्टी नहीं मिली तो उठाया ये कदम

Deputy SP resigns on not getting leave: यह मामला उत्तर प्रदेश में झांसी का है| यहां डिप्टी SP रैंक के एक अधिकारी मनीष सोनकर ने इसलिए इस्तीफा दे डाला क्योंकि उन्हें छुट्टी नहीं दी जा रही थी| जब छुट्टी नहीं मिली तो मनीष सोनकर ने अपना इस्तीफा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) को भेज दिया| वहीं, एसएसपी ने भी उनके इस्तीफे को आगे उच्चाधिकारियों तक पंहुचा दिया| इधर, जब यह खबर फैली कि डिप्टी SP मनीष सोनकर ने सिर्फ इसलिए इस्तीफा दे दिया है क्योंकि उन्हें छुट्टी नहीं मिल रही थी तो मनीष सोनकर सुर्खियों में आ गए| जिसके बाद झांसी रेंज के डीआईजी जोगिंदर कुमार ने मनीष सोनकर से बातचीत की और उन्हें अपना इस्तीफा वापस लेने को कहा| हालांकि, मनीष सोनकर ने भी अपना इस्तीफा वापस ले लिया और उनकी छुट्टी की अर्जी को भी स्वीकृति मिल गई है| बतादें कि, मनीष सोनकर वर्तमान में झांसी में सीओ सदर के पद पर तैनात हैं|

बीमार हुई पत्नी और बेटी की देखभाल के लिए मांगी छुट्टी….

मनीष सोनकर ने अपनी कोरोना संक्रमित पत्नी और बेटी की देखरेख के लिए एसएसपी झांसी से छुट्टी की अर्जी लगाई थी| जिसे अस्वीकार कर दिया गया| जहां यह बात मनीष सोनकर को हजम नहीं हुई और उन्होने सीधा नौकरी से इस्तीफा देने जैसा कदम उठा लिया| एसएसपी झांसी की ओर से छुट्टी नहीं दिए जाने के बाद मनीष सोनकर ने उन्हें अपना इस्तीफा भेज दिया था|

आरोप- छुट्टी मांगी तो मतगणना केंद्र पर ड्यूटी लगा दी…..

मनीष सोनकर का एक पत्र भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है| पत्र में उन्होंने लिखा है कि वह आज तक निष्ठावान होकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते आए हैं, क्योंकि उन्हें हमेशा अपने परिवार, खासकर अपनी पत्नी से unconditional support मिलता आया है| लेकिन उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा अब जब पत्नी और बेटी को उनकी जरूरत है (और इस महामारी में किसी और को हमारी मदद के लिए नहीं बुला सकता), तो भी विभाग यह बात नहीं समझ रहा| उन्होने लिखा- कोरोना संक्रमित पत्नी और उनकी 4 साल की बेटी की देखरेख के लिए घर में कोई दूसरा नहीं है इसलिए उन्होने 1 मई को ही 6 दिन की छुट्टी मांगी थी, इसके बावजूद 2,3 मई की ड्यूटी बड़ागांव मतगणना केंद्र पर लगा दी गई| उनसे कहा गया वह पत्नी और बेटी को सरकारी फॉलोवर के सहारे छोड़कर ड्यूटी पर आ जाएँ| लेकिन वह पत्नी और बेटी को सरकारी फॉलोवर के सहारे छोड़ना उचित नहीं समझते हैं और वह ऐसे में इस्तीफा देना ही उचित समझते हैं|

एसएसपी ने कही अलग ही बात……

एसएसपी झांसी ने मामले को अलग तरीके से बताया| एसएसपी झांसी ने कहा कि मनीष सोनकर अधिकारिक तौर पर घर में एक फॉलोवर रख सकते हैं, जबकि वह 2 फॉलोवर रखे थे| दूसरे फॉलोवर का भुगतान सरकारी खजाने से करवा रहे थे, जिस पर उनके द्वारा आपत्ति की गई और सरकारी खजाने से भुगतान को रोक दिया गया था| जहां इस दूसरे फॉलोवर पर भुगतान के रोक के बाद से ही मनीष सोनकर ड्यूटी में हीला हवाली कर रहे थे| एसएसपी झांसी के अनुसार जब 2 मई को पंचायत चुनाव की मतगणना वाले दिन जब डीएम और एसएसपी झांसी मौके पर पहुंचे तो मनीष सोनकर मौके पर मौजूद नहीं थे| फोर्स भी तितर-बितर थी, जिसको देखने के बाद जब एसएसपी ने मनीष सोनकर से ड्यूटी पर आने के लिए कहा तो तभी उन्होंने अपने हाथ से लिखे इस्तीफे की फोटो उन्हें वॉट्सऐप कर दी|

Check Also

Milkha Singh Funeral

चंडीगढ़: हमेशा के लिए शांत हो गई एक शख्सियत, पंचतत्व में विलीन हुए Milkha Singh…मौके से आईं तस्वीरें देखिये

Milkha Singh Funeral: मशहूर धावक मिल्खा सिंह अब हमेशा के लिए शांत हो गए| शुक्रवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel