Home » उत्तराखंड » चुनावी बेला में जनता के सवालों से सभासद परेशान
GOOD WORK: इंसानियत का वजूद बनी Chandigarh Police की यह महिला सब इंस्पेक्टर, पढ़ें कारनामा
GOOD WORK: इंसानियत का वजूद बनी Chandigarh Police की यह महिला सब इंस्पेक्टर, पढ़ें कारनामा

चुनावी बेला में जनता के सवालों से सभासद परेशान

देहरादून। छावनी परिषद क्लेमेनटाउन में विकास कार्यों पर बजट की मार पड़ रही है। रक्षा मंत्रालय से पिछले दो साल से कोई बजट नहीं मिलने पर विकास कार्य ठप हैं। ऐसे में छावनी परिषद के चुनाव नजदीक आते ही सभासदों की सांसें अटकने लगी हैं। चुनावी बेला पर उन्हें जनता के सवालों का जवाब देना भारी पड़ रहा है। छावनी परिषद क्लेमेनटाउन की बोर्ड बैठक में भी सभासदों ने विकास कार्यों को लेकर जमकर हंगामा किया। उन्होंने बोर्ड अध्यक्ष ब्रिग्रेडियर सुभाष पंवार के सामने नाराजगी जताई। कैंट बोर्ड के उपाध्यक्ष सुनील कुमार व पूर्व उपाध्यक्ष भूपेंद्र कंडारी ने कहा कि वार्डों में तमाम समस्याएं बनी हुई हैं। ना ही आंतरिक सड़कों का निर्माण हो पा रहा है और ना ही नालियों की सफाई व डोर टू डोर कूड़ा उठान। पथ प्रकाश व्यवस्था नहीं होने से अधिकांश क्षेत्रों में रात को अंधेरा पसरा रहता है।

उन्होंने कहा कि इससे स्थानीय लोगों में रोष है। इस पर कैंट बोर्ड के मुख्य अधिशासी अधिकारी अभिषेक राठौर ने सदन को अवगत कराया कि पिछले दो वित्तीय वर्षों से रक्षा मंत्रालय द्वारा छावनी परिषद में विकास कार्यों के लिए किसी भी प्रकार का बजट आवंटित नहीं किया है। सिर्फ क्लेमेनटाउन छावनी परिषद ही नहीं, बल्कि देहरादून कैंट बोर्ड व मध्य कमान लखनऊ के अधीन आने वाली सभी 24 छावनी परिषद बजट की मार झेल रही हैं। सभासदों ने कहा कि यदि बजट के अभाव में विकास कार्य नहीं हो पा रहे हैं तो खुद के संसाधनों से प्राप्त होने वाली आय से कैंट बोर्ड वार्डों में पथ प्रकाश की व्यवस्था तो कर सकता है। इस पर बोर्ड अध्यक्ष ने कैंट सीईओ को निर्देशित किया कि प्रत्येक सभासद के वार्ड में 20-20 स्ट्रीट लाइट उपलब्ध कराई जाएं।

बोर्ड बैठक में 61 भवन के मानचित्र भी पास किए गए। साथ ही 35 भवनों के म्यूटेशन को भी बोर्ड से हरी झंडी मिली है। बैठक में उपाध्यक्ष सुनील कुमार, कर्नल एमकेएस मौली, कर्नल महेंद्र बिष्ट, कर्नल अजय सिंह, कर्नल नवीन मिश्रा, सभासद भूपेंद्र सिंह कंडारी, मौ. तासीन अली, रामकिशन यादव, बीना नौटियाल, शाहिना अख्तर आदि भी उपस्थित रहे।
क्लेमेनटाउन स्थित छावनी परिषद अस्पताल में तीन चिकित्सक तैनात किए जाएंगे। बैठक में तय किया गया कि अस्पताल में एक-एक स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, दंत रोग विशेषज्ञ और नेत्र चिकित्सक की तैनाती की जाएगी। तीनों चिकित्सकों का चयन साक्षात्कार के आधार पर होंगे। ट्रेंचिंग ग्राउंड के खाली हुए स्थान पर वॉकिंग ट्रैक और पार्किंग बनाए जाने की भी स्वीकृति दी गई।

Check Also

कोरोना वायरस की दहशत, उत्तराखंड का स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर

देहरादून। चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel