Home » पंजाब » रेलवे का फर्जी चेयरमैन बनकर लोगों को ठगने वाले काबू
control-of-people-cheating-by-becoming-fake-chairman-of-railway

रेलवे का फर्जी चेयरमैन बनकर लोगों को ठगने वाले काबू

लोगों से लाखों रुपये वसूलता थे, पुलिस ने काफी सामान लिया कब्जे में

मोहाली। रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से लाखों रुपये ठगने वाले दो शातिरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसमें एक आरोपी खुद को रेलवे का चेयरमैन बताता था। इतना ही नहीं अपनी कार पर इसी तरह से स्टिकर व अन्य चीजे रखता था। आरोपियों की पहचान गौतम कुमार उर्फ राजपूत मूल निवासी हरमिलाप नगर जीरकपुर बलटाना व हाल निवासी मार्डन वैली मोरिंडा रोड खरड़ व चुन्नी लाल निवासी रतपुल कालोनी पिंजोर पंचकूला हरियाणा के रूप में हुई है।

आरोपी युुवाओं को रेलवे प्रोटैक्शन फोर्स में इंस्पेक्टर, एसआई व एएसआई नाम पर ठगते थे। इन्होंने पंजाब, हरियाणा और यूपी के लोगों को शिकार बनाया था। एसएपसी सतिंदर सिंह ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि थाना सिटी खरड़ में आरोपियों पर धोखाधड़ी करने, जाली सकरारी दस्तावेज तैयार करने समेत आठ धाराओं के तहत केस दर्ज किया है

जानकारी के मुुताबिक पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी युवाओं को ठगी का शिकार बनाते हैं। ‌फिर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गौतम कुमार को खरड़ मॉर्डन वैली से कार समेत दबोचा। जबकि उसके साथी चुन्नी लाल को को रेड कर प्राइम कंप्यूटर सेंटर पिंजोर से गिरफ्तार किया गया। पुलिस जांच में सामने आया है कि गौतम कुमार उर्फ राजपूत पहले अंबाला कैंट में रेलवे विभाग में डीआरएम के साथ कांट्रेक्ट पर स्टेनों के पद पर काम करता था। ऐसे में उसने रेवले प्रोटेक्शन फोर्स की भरती के बारे में जानकारी दी।

जबकि चुन्नी लाल 1999 से प्राइम कंप्यूटर सेंटर पिंजोर से चला रहा था। उसी।कंप्यूटर सेंटर में ही रेलवे प्रोटैक्शन फोर्स की भरती संबंधी जाली नोटिफिकेशन, सिलेबस, फिजिकल टेस्ट, मेडिकल टेस्ट व लिखित परीक्षा के रोल नंबर ओएमआर शीट, फाइनल सिलेक्शन लिस्ट, ज्वाइनिंग लेटर, आईडी कार्ड तैैयार करके उस पर आरपीएफ भारतीय रेलवे का जाली लोगो, जाली मोहर तैयार करके स्कैन करके दस्तावेजों पर लगाते थे। मेडिकल आदि लिए अलग से 25 हजार रुपये अलग से वसूलते थे।

आरोपियों ने हरजिंदर सिंह निवासी गूनोमाजरा थाना ब्लॉक माजरी से आरोपियों ने चार लाख पचास हजार रुपये रेवले प्रोटेक्शन फोर्स में एएसआई रैंक के लिए थे। साथ ही उसे जाली ज्वाइनिंग लैटर दे दिया था। साथ ही सिलाई हुई वर्दी दिखाकर उसे लुभाते रहते थे। इस तरह आरोपी ह‌रिओम निवासी यूपी से एसआई रैंक पर भरती करवाने के लिए साढ़े चार लाख वसूले थे। लेकिन जब उन्होंने पडताल की तो दोनों की पोल खुल गई। पुलिस ने कंप्यूटर, वर्दियां व अन्य सामान बरामद किया।

Check Also

बारहवीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द, सी.बी.एस.ई. पैटर्न के आधार पर घोषित किया जायेगा परिणाम: विजय इंदर सिंगला

चंडीगढ़। स्कूल शिक्षा मंत्री पंजाब श्री विजय इंदर सिंगला ने शनिवार को ऐलान करते हुए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel