Home » पोलीटिक » हरियाणा सी एम का बड़ा ब्यान कांग्रेस ने फोन टैपिंग से गिरवाई थी चंद्रशेखर की सरकार

हरियाणा सी एम का बड़ा ब्यान कांग्रेस ने फोन टैपिंग से गिरवाई थी चंद्रशेखर की सरकार

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फोन टैपिंग के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरते हुए कहा है कि फोन टैपिंग करवाना कांग्रेस का चरित्र है। जब भी देश में विकास की बात होती है तब कांग्रेस इस तरह के आरोप लगा कर देश के लोकतंत्र पर प्रश्न चिह्न खड़ा करती है। बुधवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि
एमनेस्टी इंटरनेशनल का समर्थन करने के लिए कांग्रेस की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि एमनेस्टी इंटरनेशनल वह एजेंसी है जिसने पहली बार पेगासस नामक इजरायली स्पाइवेयर की मदद से भारत में मंत्रियों और पत्रकारों के व्यक्तिगत डाटा की जासूसी के बारे में रिपोर्ट प्रकाशित की थी।
उन्होंने कहा कि पिछले सात वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने जनहित में अनेक कार्य किए हैं, इसलिए कांग्रेस के पास कोई मुद्दा ही नहीं बचा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इस तरह के खेल खेलने बंद करे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कभी भी देश को लोकतांत्रिक तरीके से चलाने में विश्वास नहीं करती। आज वह सिर्फ अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों और वामपंथी पोर्टल में प्रकाशित रिपोर्टों के बलबूते फोन टेपिंग के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कई ऐसे सबूत हैं जो इस बात को उजागर करते हैं कि कैसे कांग्रेस ने न केवल अपने नेताओं बल्कि पूर्व रेल मंत्री ममता बनर्जी सहित कई अन्य नेताओं की जासूसी कर उन नेताओं को भी परेशान किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में वित्त मंत्री रहे प्रणब मुखर्जी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने तत्कालीन गृह मंत्री पी. चिदंबरम के खिलाफ उनका फोन टैप करने की बात कही थी और जांच करने के लिए कहा था, यह सच्चाई भी किसी से छिपी हुई नहीं है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इतना ही नहीं तत्कालीन चंद्रशेखर सरकार को गिराने में भी कांग्रेस की मुख्य भूमिका से भी सभी वाकिफ हैं। उस समय भी कांग्रेस ने हरियाणा सीआईडी के दो पुलिसकर्मियों पर स्वर्गीय राजीव गांधी की उनके आवास 10 जनपथ के पास जासूसी करने के झूठे आरोप लगाये थे, हालांकि कांग्रेस कभी भी अपने इन आरोपों को साबित नहीं कर पाई।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान मीडिया सलाहकार विनोद मेहता, एडीजीपी/सीआईडी आलोक मित्तल और सलाहकार, पब्लिक सेफ्टी, ग्रीवेंस और गुड गवर्नेंस अनिल राव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
बाक्स—-
तथ्यों के आधार पर कह रहा हूं बात
एक सवाल के जवाब पर सीएम ने कहा कि मैं जो भी दावा कर रहा हूं वह तथ्यों के आधार पर है। सीआईडी चीफ के साथ होने को लेकर जब उनसे सवाल किया तो उन्होंने कहा, ये (आलोक मित्तल) पहले आईबी में भी रहे हैं। स्वभाविक है कि सामान्य लोगों के बजाय प्रोफेशनल्स के पास अधिक जानकारियां होती हैं। फोन टेपिंग के आरोपों की फ्रांस सरकार द्वारा जंच करवाए जाने के सवाल पर सीएम ने कहा कि बिल्कुल जांच करवाएं और जांच के तथ्य सामने आएंगे तो हम बताएंगे। कोई दूसरा देश, किसी अन्य देश की जांच करता है तो इसके पीछे उसके कई तरह के मंसूबे हो सकते हैं। ऐसे में किसी दूसरे देश की एजेंसी पर हम भरोसा नहीं कर सकते।

Check Also

फर्रुखाबाद की पूजा ने अंकित बनकर युवती से की है शादी, ट्रांसजेंडर से शादी करने वाली युवती ने घर जाने से किया इंकार

गोरखपुर। फर्रुखाबाद के रहने वाले ट्रांसजेंडर से शादी करने वाली युवती ने पिता के साथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel