Home » हिमाचल » मुख्यमंत्री ने शिमला शहर के लिए रखी 69 करोड़ की जलापूर्ति योजना की आधारशिला

मुख्यमंत्री ने शिमला शहर के लिए रखी 69 करोड़ की जलापूर्ति योजना की आधारशिला

सुन्नी में खण्ड चिकित्सा अधिकारी कार्यालय की घोषणा, सप्ताह में दो दिन बैठेंगे एसडीएम

शिमला। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज सुन्नी क्षेत्र के चाबा में शिमला शहर के लिए शिमला उठाऊ जलापूर्ति योजना के संवर्धन की आधारशिला रखी। यह जलापूर्ति योजना 69 करोड़ रुपये की लागत से पूरी होगी और शिमला शहर के लिए प्रतिदिन 10 मिलियन लीटर अतिरिक्त जल प्रदान करेगी।

इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना शिमला शहर के लोगों को 24 घण्टे जलापूर्ति सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा कि योजना अगले वर्ष अप्रैल माह तक पूरी की जाएगी, जिससे शिमला क्षेत्र में जल की समस्या का समाधान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चालू वित्त वर्ष के दौरान प्रदेश में पेयजल योजनाओं पर 275 करोड़ रुपये की राशि खर्च कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में 90 प्रतिशत घरों को पेयजल आपूर्ति प्रदान की जा रही है, जो राष्ट्रीय औसत 43.5 प्रतिशत से कहीं अधिक है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 4751 करोड़ रुपये की जल संग्रहण परियोजना प्रस्तावित की थी, जिसकी केन्द्र सरकार ने सैद्धांतिक मंजूरी प्रदान कर दी है। यह परियोजना किसानों की आय को दोगुणा करने की दिशा में कारगर सिद्ध होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने अपने लगभग एक वर्ष के कार्यकाल में प्रदेश का चहुंमुखी व सन्तुलित विकास सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्होंने राज्य के कुल 68 विधानसभा क्षेत्रों में से 62 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि दौरे का मुख्य उद्देश्य राज्य के प्रत्येक भाग के लोगों की विकासात्मक आवश्यकताओं तथा अपेक्षाओं के बारे में जानकारी हासिल करना तथा उनका समाधान करना है। उन्होंने कहा कि ठीक एक वर्ष पहले 18 दिसम्बर, 2017 को राज्य के लोगों ने वर्तमान सरकार के पक्ष में अपना फैसला दिया था।
जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार सुनिश्चित कर रही है कि बिना किसी पक्षपात व भेदभाव के राज्य के विकास के एकमात्र लक्ष्य को लेकर कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का पहला ही निर्णय वृद्धजनों के कल्याण पर लक्षित था। उन्होंने कहा कि वृद्धवस्था पेंशन के लिए बिना आय सीमा के आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया गया, जो राज्य सरकार का बुजुर्गों के प्रति सम्मान को दर्शाता है।

उन्होंने कहा कि सुन्नी तथा तत्तापानी क्षेत्र में जल क्रीड़ाओं की दृष्टि से काफी सम्भावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि सुन्नी-तत्तापानी-करसोग-जंजैहली-शिकारी माता को पर्यटन सर्किट की दृष्टि से विकसित करने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार इस क्षेत्र को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सुन्नी बस अड्डे का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश सौभाग्यशाली है कि देश का शासन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मजबूत हाथों में सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि प्रदेश को भी प्रधानमंत्री की उदारता के कारण सम्मानजनक लाभ प्राप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि आज श्री मोदी विश्व नेता के रूप में उभर कर सामने आए हैं। उन्होंने एक मजबूत व खुशहाल भारत के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री के हाथों को मजबूत करने के लिए राज्य के लोगों से आग्रह किया।

जय राम ठाकुर ने गौडु-पलघार स?क तथा घैणी-तबोग स?क के लिए 10-10 लाख रुपये की घोषणा की। उन्होंने क्षेत्र की विभिन्न सम्पर्क स?कों के लिए 23 लाख रुपये की घोषणा भी की। उन्होंने सुन्नी में खण्ड चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय की घोषणा की और यह भी घोषणा की कि एसडीएम ग्रामीण सप्ताह में दो दिन सुन्नी में बैठेंगे।

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने इस अवसर पर जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में हिमाचल प्रदेश को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए अथक प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र की खूबसूरती है कि एक सादी पृष्ठभूमि से सम्बन्ध रखने वाला व्यक्ति आज राज्य का मुख्यमंत्री है। उन्होंने कहा कि पहले ही दिन से राज्य सरकार गरीब तथा वंचित लोगों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि पिछले लगभग एक वर्ष के दौरान अध्यापकों की विभिन्न श्रेणियों के 2375 पदों को भरा गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री से सुन्नी को देश का प्रमुख जलक्रीड़ा गन्तव्य विकसित करने का आग्रह किया।
शिमला संसदीय क्षेत्र के सांसद वीरेन्द्र कश्यप ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के लिए 9000 करोड़ रुपये की केन्द्रीय परियोजनाएं प्राप्त करने में कामयाब रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत देश के पात्र परिवारों को 8 करोड़ नि:शुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए जा रहे हैं।
शिमला ग्रामीण क्षेत्र के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने उनके निर्वाचन सभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए आशा जाहिर की कि क्षेत्र को वर्तमान राज्य सरकार से विकास के मामले में उचित संस्तुति प्राप्त होगी। उन्होंने मुख्यमंत्री से क्षेत्र में स्वास्थ्य अधोसंरचना मजबूत करने का भी आग्रह किया।

क्षेत्र से भाजपा नेता डॉ. प्रमोद शर्मा ने मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत करते हुए क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों का विवरण दिया। उन्होंने मुख्यमंत्री से सुन्नी में एसडीओ कार्यालय खोलने का भी आग्रह किया। कैलाश फेडरेशन के अध्यक्ष रवि मैहता तथा भाजपा मण्डलाध्यक्ष रणदीप कंवर ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री तथा अन्यों का स्वागत किया।
करसोग के विधायक हीरा लाल, सक्षम गुडिय़ा बोर्ड की अध्यक्ष रूपा शर्मा, शिमला के उपायुक्त अमित कश्यप, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख अभियन्ता विक्रान्त सुमन, लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियन्ता ललित भूषण सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Check Also

चंडीगढ़, पंजाब के बाद हिमाचल में भी कर्फ़्यू

शिमला:।हिमाचल में लॉकडाउन के आदेशों का सख्ती से पालन नहीं होने के चलते सरकार ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel