Home » हिमाचल » हिमाचल में मिला चीनी नागरिक प्रदेश की पुलिस सतर्क

हिमाचल में मिला चीनी नागरिक प्रदेश की पुलिस सतर्क

धर्मशाला, 25 अक्तूबर: हवाला और मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार किये गये चीनी नागरिक लुओ सांग उर्फ चार्ली पेंग के दिल्ली में कुछ लामाओं के सम्पर्क में होने तथा बौद्ध धर्म के सर्वोच्च गुरु दलाई लामा और उनके सहयोगियों के बारे में जानकारी जुटाने का खुलासा हुआ है।

राज्य के पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने आज यहां पत्रकार वार्ता में बताया कि पेंग की गिरफ्तारी के बाद केंद्रीय जांच एजेंसियां और राज्य पुलिस स्तर्क हो गई हैं। पेंग को हवाला मामले में आयकर विभाग ने गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने कहा कि पेंग के हिमाचल में भी तीन सम्पर्क सामने आए हैं। इनमें यहां रह रही एक चीनी महिला भी शामिल है। इसमें एक कांगड़ा के बीड़ बिलिंग और एक जोगिंद्रनगर के चैतड़ा में था। एक कर्नाटक चला गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले के बाद हिमाचल पुलिस में तिब्बती और चाइनीज भाषा जानने वालों की कमी खलने लगी है और ऐसे लोगों की पुलिस में जरूरत है। राज्य पुलिस को इस तरह के मामलों में भाषा को लेकर केंद्रीय एजेंसियों पर निर्भर रहना पड़ता है। ऐसे में जांच में दिक्कत होती है।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने राज्य सरकार को सीआईडी में तिब्बती और चाइनीज भाषा जानने वाले तीन लोगों की भर्ती करने का प्रस्ताव भेजा है। इसमें एक शिमला, एक धर्मशाला और एक कुल्लू के आसपास तैनात रहेगा। सरकार इसे मंजूरी देती है तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कुंडू ने कहा कि हिमाचल में अब अपराधों का तौर तरीका बदला है। अब सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट करने और ऑनलाइन ठगी की घटनाएं बढ़ रही हैं जिनसे निपटने के लिये राज्य के हर जिले में साइबर अपराधा थाने खोलने की जरूरत है। इसके लिए भी सरकार को प्रस्ताव भेजा है। अभी केवल शिमला में ही सीआईडी क्राइम थाना है। इसके अलावा अटल टनल रोहतांग की सुरक्षा को लेकर भी सरकार को एक प्रस्ताव भेजा गया है जिसमें लाहुल स्पीति की तरफ सिसु में और मनाली की ओर गुमटी में पुलिस थाना खोलने की बात है। मंत्रिमंडल की अगली बैठक में इस प्रस्ताव को रखा जाएगा। उन्हें उम्मीद है कि सरकार प्रस्ताव को मंजूरी देगी।

Check Also

Railways will be surveyed afresh

जगाधरी-पांवटा साहिब रेल का नए सिरे से होगा सर्वेक्षण

केन्द्रीय रेल और मुख्यमंत्री के बीच हुई बैठक में लिया गया निर्णय Railways will be …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel