Home » चंडीगढ़ » चंडीगढ़: अब ट्राइसिटी लॉकडाउन की तैयारी

चंडीगढ़: अब ट्राइसिटी लॉकडाउन की तैयारी

Lockdown in Tricity: चंडीगढ़ (साजन शर्मा)। कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए यूटी प्रशासन वीकेंड लॉकडाउन के बाद अब बुधवार को ट्राइसिटी लॉकडाउन लगाने की तैयारी कर रहा है। प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा ने पंजाब व हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी से बात की है और ट्राइसिटी में एक साथ लॉकडाउन लगाने की मंजूरी मांगी है। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मोहाली में लॉकडाउन लगाने की मंजूरी दे दी है। पंचकूला के जवाब का अभी इंतजार है।

यूटी प्रशासन के अधिकारियों का मानना है कि रामनवमी के मौके पर शहर के विभिन्न मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटेगी। ऐसे में कोरोना का संक्रमण फैल सकता है। शहर में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में बेहद वृद्धि देखी गई है। संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए ही प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा ने ट्राइसिटी लॉकडाउन लगाने का सुझाव सोमवार को दोनों राज्यों को भेजा है। इस पर पंजाब के चीफ सेक्रेटरी ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह से चर्चा की, जिसके बाद सीएम ने मोहाली में बुधवार को लॉकडाउन लगाने की मंजूरी दे दी। हालांकि अभी तक पंचकूला की तरफ से जवाब नहीं आया है।

प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा ने बताया कि उन्होंने दोनों राज्यों के चीफ सेक्रेटरी से बात की है, ताकि बुधवार को एक साथ ट्राइसिटी में लॉकडाउन लगाया जा सके। हालांकि चंडीगढ़ के बारे में प्रशासक वीपी सिंह बदनौर मंगलवार को आखिरी फैसला लेंगे। परिदा ने कहा कि संक्रमण को रोकने के लिए यह सख्ती जरूरी है।

सीएचबी के सीईओ यशपाल गर्ग को जीएमसीएच-32 कोविड प्रबंधन प्रभारी बनाया

यूटी प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा ने चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड के सीईओ यशपाल गर्ग को जीएमसीएच-32 में कोविड प्रबंधन का प्रभारी बनाया है। अब यशपाल गर्ग के कंधों पर ये जिम्मेदारी सौंपी गई है कि जीएमसीएच-32 में कोरोना के मरीजों का सही से इलाज हो और उन्हें किसी चीज की कमी न हो। मनोज परिदा की तरफ से जारी आदेश के अनुसार यशपाल गर्ग जीएमसीएच-32 की निदेशक जसबिंदर कौर और चिकित्सा अधीक्षक के सहयोग से यह सुनिश्चित करेंगे कि जीएमसीएच-32 में कोरोना मरीजों को बेड, दवाइयों, डॉक्टरों व अन्य सुविधाओं की कमी न हो। इस मामले में यशपाल गर्ग स्वास्थ्य सचिव अरुण कुमार गुप्ता को समय-समय पर रिपोर्ट देंगे। परिदा ने यशपाल गर्ग की मदद के लिए पीसीएस सौरभ अरोड़ा की जिम्मेदारी लगाई गई है। गौरतलब है कि पिछले साल भी प्रवासी मजदूरों को घर भेजने की पूरी जिम्मेदारी प्रशासन ने शपाल गर्ग को सौंपी थी। गर्ग और सीएचबी के कर्मचारियों ने करीब एक महीने तक मजदूरों को उनके घर भेजने का काम किया था। इसके अलावा गर्ग की निगरानी में ही चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने सेक्टर-52 और 56 की टीन शेड कालोनी को खाली किया और कोरोना काल में 1704 परिवारों को मलोया में मकान सौंपा।

49 नए कन्टेनमेंट जोन घोषित

यूटी प्रशासन ने सोमवार को 49 नए माइक्रो-कंटेनमेंट जोन की घोषणा की है। ये माइक्रो-कंटेनमेंट जोन शहर के तीनों एसडीएम के इलाकों में कोरोना के मामले आने के बाद बनाये गए हैं। डीसी मनदीप सिंह बराड़ की तरफ से जारी किये आदेश के अनुसार इन इलाकों में अनिवार्य सेवाओं में लगे लोगों को छोड़ अन्य किसी के भी जाने पर पाबंदी रहेगी। इसके अलावा लोगों की स्क्रीनिंग भी की जाएगी। ये माइक्रो कंटेनमेंटजोन मुख्यत: सेक्टर-18, 19, 22, 27, 35, 42, 45, 63, धनास व अन्य इलाकों में हैं। जारी आदेश में कहा गया है कि केंद्र सरकार के दिशा-निदेर्शों के अनुसार ही शहर में कंटेनमेंट जोन घोषित किए जा रहे हैं।

Check Also

गृह मंत्री ने DGP सौंपी लॉकडाउन 20 मई तक बढ़ाने का फर्जी मैसेज की जांच

चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना से चल रही जंग के बीच कुछ असामाजिक तत्व अफवाहें फैलाकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel