Home » चंडीगढ़ » खतरा कोरोना का: चंडीगढ़ में नाइट कर्फ्यू, मार्केट होगी बंद, सील होंगे बॉर्डर…प्रशासन ने कहा तब हम और क्या करेंगे?
Chandigarh Corona Virus Situation

खतरा कोरोना का: चंडीगढ़ में नाइट कर्फ्यू, मार्केट होगी बंद, सील होंगे बॉर्डर…प्रशासन ने कहा तब हम और क्या करेंगे?

Chandigarh Corona Virus Situation : पंजाब के राज्यपाल और यूटी के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने कहा है कि अगर चंडीगढ़ में कोरोना के मामले ज्यादा बढऩे चालू हुए तो एक मर्तबा फिर कफर्यू लगाने के साथ साथ मार्केट बंद करने व चंडीगढ़ के बॉर्डर सील करने व समारोह इत्यादि में लोगों की संखया सीमित करने की तरफ प्रशासन बड़ा कदम उठा सकता है। उन्होंने लोगों से अपील की कि प्रशासन के साथ कोविड प्रोटोकॉल फॉलो करने में सहयोग करें अन्यथा कठोर कदम उठाने पड़ सकते हैं। पंजाब राजभवन में हुई मीटिंग में प्रशासक के एडवाइजर मनोज परिदा, प्रिंसिपल होम सेक्रेटरी अरुण कुमार गुप्ता,डीजीपी संजय बेनीवाल मौजूद रहे। निगम कमीशनर केके यादव, डीसी मनदीप सिंह बराड़ मोहाली व पंचकूला के डीसी, पीजीआई सहित जीएमसीएच 32 व डायरेक्टर हेल्थ ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिये मीटिंग अटैंड की।

मीटिंग में प्रशासक बदनौर ने शुक्रवार को नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट , 1881 के तहत गुरू रविदास जयंती के अवसर पर कल शनिवार को छुट्टी घोषित कर दी। राज्यपाल ने लोगों में कोरोना के प्रति बढ़ रही लापरवाही पर गंभीरता दिखाते हुए कहा कि लोगों ने तमाम प्रोटोकॉलों की धज्जियां उडा रखी हैं। न मास्क लगा रहे हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। सेनेटाइजर का भी इस्तेमाल नहीं हो रहा और न ही हाथ धोए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि शहर के सभी मेडिकल इंस्टीच्यूशंस को हालांकि उन्होंने सामान्य ओपीडी चलाने के आदेश दिए थे लेकिन कोविड के बढ़ते केसों को देखते हुए अस्पताल अपने स्तर पर फैसला ले सकते हैं। प्रशासक ने चंडीगढ़ पुलिस के सभी पुलिस बल के जवानों को वैक्सीन के लिए प्रेरित करने और लगवाने की सलाह देने के लिए सराहना की। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ पुलिस दूसरों के लिए मिसाल बनकर सामने आई है। प्रशासक बदनौर ने आदेश दिया कि टेस्टिंग करने वाली मोबाइल टीमें जांच के लिए भीड़भाड़ वाले स्थानों जैसे मंडी, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, सुखना लेक, रोज फेस्टिवल वेन्यू व ऐसे अन्य स्थानों पर पहुंचे जहां लोगों की तादाद ज्यादा है। प्रशासक ने कहा कि लोग शादियों, कान्फ्रेंसों इत्यादि में पहुंचते हैं तो उन्हें होस्ट सेनेटाइजर व मॉस्क वगैरहा उपलब्ध कराएं।

जल्द 16 स्थानों पर लगने लगेगी वैक्सीन, प्राइवेट अस्पताल पैसा देकर लगाएंगे वैक्सीन…..

प्रिंसिपल हेल्थ सेक्रेटरी अरुण कुमार गुप्ता ने बताया कि फिलहाल 13 स्थानों पर वैक्सीन लगवाने की सुविधा है जिसे अगले कुछ दिनों में बढ़ाकर 16 स्थानों पर किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जल्द ही प्राइवेट अस्पताल भी वैक्सीन लगाने का काम शुरू कर देंगे जहां लोगों को पेमेंट देकर वैक्सीन लग सकेगी। उन्होंने बताया कि 60 साल से ऊपर के लोगों व 45 साल से ऊपर जो बीमार हैं उन्हें भी केंद्र सरकार की ओर से वैक्सीन लगवाने की हिदायत दी गई है।

मेडिकल संस्थानों के डायरेक्टरों ने वर्तमान स्थिति बताई….. Chandigarh Corona Virus Situation

पीजीआई के डायरेक्टर डा. जगतराम ने बताया कि नेहरू अस्पताल एक्सटेंशन में इस वक्त 55 कोविड पेशेंट हैं जिनमें से 10 चंडीगढ़, 32 पंजाब व 5 हरियाणा व 4 अन्य राज्यों से हैं। उन्होंने बताया कि पीजीआई ने 4500 ओपीडी ट्रीटमेंट किए हैं जिनमें से 2800 फिजिकल कंसलटेशन हैं। उन्होंने बताया कि करीब 4500 हेल्थ वर्करों ने जिनमें ज्यादातर डाक्टर हैं ने वैक्सीन ली है। उन्होंने बताया कि कोरोना का जो यूरोपीयन स्ट्रेन सामने आ रहा है वह ज्यादा घातक है और इसके रीजन में केस बढ़ रहे हैं। पीजीआई की डा. मिनी ने बताया कि पुणे के वायरोलॉजी इंस्टीच्यूट में कोरोना के 130 सैंपल भेजे गए हैं जिनसे पता चलेगा कि यह कोरोना का पुराना वाला या बिलकुल नया स्ट्रेन है। जीएमसीएच 32 की डायरेक्टर डा. जसबिंदर कौर ने बताया कि उन्होंने 5406 कोविड सैंपल टेस्ट किये हैं जिसमें से 93 पॉजीटिव पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि बीते एक सप्ताह में महज एक प्रतिशत का पॉजीटिव रेट रहा है। उन्होंने बताया कि 7360 मरीजों की फिजिकल जांच की गई जबकि 2546 हेल्थ वर्करों को कोरोना वैक्सीन दी गई। हेल्थ डायरेक्टर डा.अमनदीप कंग ने बताया कि उन्होंने 16,527 लोगों के कोविड सैंपल लिए जिसमें से बीते सप्ताह 2 प्रतिशत की रिपोर्ट पॉजीटिव पाई गई। उन्होंने बताया कि फलू क्लीनिक में 3052 मरीजों की स्क्रीनिंग की गई और 23, 394 मकानों में डेंगू चैक किया गया। बीते एक महीने में कोई डेंगू का केस नहीं मिला। लोगों को टेस्टिंग सुविधा देने के लिए पांच मोबाइल टीमें अलग अलग जगह तैनात की गई हैं। मोहाली के डीसी ने बताया कि फिलहाल उनके जिले में 501 एक्टिव केस हैं। पंचकूला के डीसी ने बताया कि उनके जिले में 127 एक्टिव केस हैं। डीसी चंडीगढ़ ने बताया कि उनके यहां 279 एक्टिव केस हैं। निगम कमीशनर केके यादव ने कहा कि फिलहाल अपनी मंडियों में किसी तरह का खतरा नहीं है क्योंकि यहां पूरी एहतियात बरती जा रही है।

रिपोर्ट- साजन शर्मा

Check Also

एक्साइज विभाग में उमदा कारगुजारी दिखाने वाले 10 इंस्पेक्टरों सम्मानित

जालंधर : एक्साइज विभाग में उमदा कारगुजारी दिखाने वाले 10 इंस्पेक्टरों को सोमवार को विभाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel