Home » चंडीगढ़ » पैसे लेकर फेक करंसी मामला किया था रफा-दफा, ASI को अदालत ने सुनाई चार साल कैद की सजा
पैसे लेकर फेक करंसी मामला किया था रफा-दफा, ASI को अदालत ने सुनाई चार साल कैद की सजा
पैसे लेकर फेक करंसी मामला किया था रफा-दफा, ASI को अदालत ने सुनाई चार साल कैद की सजा

पैसे लेकर फेक करंसी मामला किया था रफा-दफा, ASI को अदालत ने सुनाई चार साल कैद की सजा

CBI की विशेष अदालत ने सुनाया फैसला, चार साल कैद की सजा के साथ-साथ 40 हजार का जुर्माना भी ठोंका

चंडीगढ़: सीबीआइ की विशेष अदालत ने एक करप्ट ASI को सजा दी है|ASI का नाम है दविंद्र कुमार एसएसआई दविंद्र कुमार को अदालत ने एक फेक करंसी मामले को पैसे लेकर रफा-दफा करने के आरोप में आरोपित सिद्द होने पर चार साल कैद की सजा सुनाई है और साथ में 40 हजार रूपए जुर्माना ठोंका है|सीबीआइ की विशेष अदालत ने मंगलवार यानी आज यह फैसला सुनाया है|

पूरे मामले पर एक नजर……

सेक्टर-24 निवासी अमनदीप सिंह ने सीबीआइ को शिकयत दी थी कि वह 21 मई 2013 की रात को सेक्टर-19 की मार्केट में खरीदारी करने के लिए गया हुआ था। यहां उसने एक दुकानदार से सामान खरीदा जिसके बदले में उसने उसे 500 रुपये का नोट दिया।लेकिन दुकानदार ने नोट नकली होने की बात कही और इसकी सूचना सेक्टर-19 थाना की एसएचओ हरजीत कौर को दे दी थी।जिसके बाद एसएचओ हरजीत कौर ने मामले की जांच के लिए एएसआइ दविंद्र कुमार को मौके पर भेजा।

एसआइ दविंद्र कुमार ने मौके पर पहुंचने के बाद उसका पहचान पत्र और मोटरसाइकिल की आरसी उससे ले ली और उससे पूछताछ की| पूछताछ केदौरान उसने दविंद्र को बताया कि उसने दिल्ली में रह रहे अपने एक दोस्त को मोबाइल बेचा था, उसी ने उसे यह पांच सौ का नोट दिया था|वह नहीं जानता था कि यह नकली है, उसे नोट असली लगा और उसने ले लिया और पांच सौ का नोट लेकर सेक्टर-19 की मार्किट में सामान खरीदने आ गया|

सीबीआई ने एएसआइ दविंद्र को किया ट्रैप……

अमनदीप ने सीबीआइ को बताया कि दविंद्र कुमार ने उसे फंसाने की धमकी दी और कहा अगर नहीं फंसना है तो मामला रफा-दफा करने के पांच हजार रुपये लगेंगे|इसके बाद पांच हजार तो उसने मना कर दिया, जिसके बाद 3500 रुपये में दविंद्र कुमार माना|दविंद्र कुमार ने उसे दस्तावेज देने और रिश्वत की रकम लेने के लिए 29 मई को थाने में बुलाया जहाँ पर जब अमनदीप ने दविंद्र को पैसे दिए और जैसे ही उसने पैसे हाथ में लिए तो ट्रैप लगाकर सीबीआइ टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया|

Check Also

हिमाचल में विधायकों को खाने पर मिलने वाली सब्सिडी खत्म

तपोवन, (धर्मशाला)। लोकसभा की तर्ज पर हिमाचल प्रदेश के विधायकों को भी विधानसभा की कैंटीन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel