Home » पंजाब » नेक्टर लाइफ साइंस केमिकल फैक्ट्री में हुआ ब्लास्ट

नेक्टर लाइफ साइंस केमिकल फैक्ट्री में हुआ ब्लास्ट

15 वर्कर  घायल, चार की हालत गंभीर

डेराबस्सी। डेराबस्सी बरवाला मार्ग पर स्थित एक केमिकल फैक्ट्री में ब्लास्ट होने के कारण करीब 15 वर्कर गंभीर घायल हो गए। कंपनी में रिएक्टर ब्लास्ट होने के कारण पूरी बिल्डिंग तबाह हो गई। हादसे में जख्मी वर्कर्स को डेराबस्सी सिविल अस्पताल के अलावा प्राइवेट अस्पताल में भेजा गया है। खबर लिखे जाने तक किसी के मृत्यु का समाचार प्राप्त नहीं हुआ है।
जानकारी अनुसार बरवाला मार्ग पर गांव सैदपुरा मे स्थित नेक्टर लाइफ साइंस कंपनी के यूनिट नंबर दो के प्रोडक्शन प्लांट मे दोपहर 4:00 बजे  रिएक्टर ब्लास्ट हो गया। विस्फोट दौरान डेढ़ दर्जन व्यक्ति जख्मी और जले का शिकार हुए । इनमें से चार की हालत गंभीर बताई गई है जिन्हें डेराबस्सी से आगे चंडीगढ़ अस्पतालों में शिफ्ट किया गया है। हादसे के बाद 2 मंजिला इमारत का मलबा दूर-दूर तक फैल गया जबकि जबरदस्त धमाके के कारण 100 मीटर दूर तक की फैक्ट्री की बिल्डिंग के शीशे टूट गए गनीमत रही कि सॉल्वेंट्स का प्लांट जो कि महज 50 मीटर दूर था वहां पर धमाके का कोई असर नहीं हुआ।
उस समय दो मंजिला एपीआई  उत्पाद  प्रोडक्शन प्लांट में करीब डेढ़ दर्जन लोग शिफ्ट में काम कर रहे थे । अचानक हुए धमाके के बाद बिल्डिंग के मजबूत पिलर तक हिल गए और बिल्डिंग की आरसीसी दीवारें तक धमाके की चपेट में आने के बाद आसपास ताश के पत्तों की तरह बिखर गई । ब्लॉक में लगी मशीनेंं भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई फिलहाल ब्लास्ट का कारण रिएक्टर धमाका  माना जा रहा है  जिसकी पुष्टि  बाद में जांच के बाद पता चलेगी। ब्लास्ट  के समय  पास खड़े एक मिक्स सॉल्वेंट वाले टैंकर के ऊपर भी भारी  सामान गिरा जिसमें टैंकर की चादर भी फट गई और पार्किंग में खड़े दुपहिया वाहन भी इसकी चपेट में आए। गनीमत रही कि धमाके के बाद आग नहीं लगी अन्यथा नुकसान कहीं ज्यादा बढ़ सकता था।
केमिकल्स गिरने से ज्वलनशील पदार्थ और गैस की बदबू आसपास फैल गई और गैस आंखों में भी चुभने कि लोगों ने शिकायत की। धमाके  से करीब 15 वर्कर जख्मी हुए जिनमें से  7 वर्कर्स को डेराबस्सी सिविल अस्पताल पहुंचाया गया और उनमें से चार की हालत को गंभीर देखते हुए  जीएमसीएच 32 रेफर किया गया।  इसके अलावा घायल अन्य 8 वर्कर्स को जेपी अस्पताल जीरकपुर पहुंचाया गया। इस दौरान भारी भरकम तादाद में बचाव कार्य के लिए फैक्ट्री के  वर्कर्स के अलावा  पुलिस प्रशासन, फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस समेत अन्य विभाग के लोग यहां पहुंचे ।
अंदर रोशनी न होने से मलबे में दबे श्रमिकों को ढूंढने में दिक्कत आ रही थी। एक जख्मी जो मलबे में फंसा हुआ था  उसे जख्मी हालत में डेढ़ घंटे बाद दूसरी मंदिर से निकाला जा सका और उसे सिविल अस्पताल पहुंचाया गया । कंपनी प्रबंधकों  ने कहा कि धमाका हुआ हुआ है  लेकिन उसकी वजह क्या है उसकी जांच की जा रही है जबकि प्लांट में काम करने वाले लोगों का कहना था कि धमाका रिएक्टर में ही हुआ है और धमाके का इंपैक्ट इतना जोरदार था कि उसने इमारत के अंदर मशीन  के परखच्चे उड़ा दिए । दोपहर करीब 4:00 बजे हुए धमाके के बाद 4:10 पर डेराबस्सी दमकल विभाग को सूचित किया गया जहां से 2 गाड़ियों को रवाना किया गया। मौके पर  एसपी गुरसेवक सिंह,  डेराबस्सी, जीरकपुर एसएचओ, एसडीएम पूजा ग्रेवाल के अलावा कई अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी स्थिति का जायजा लेने पहुंचे।
धमाके में जख्मी हुए वर्कर्स जिन्हें जेपी अस्पताल में पहुंचाया गया था। उन वर्कर्स के नाम सुरेश, जगतपाल, शिबू, अक्षदीप,  घायल  हुए और अनिल, विवेक, तुषांत , इंतजार खान की स्थिति गंभीर बताई गई है।
इसके अलावा अन्य 7 जख्मी वर्कर्स को  डेरा बस्सी सिविल अस्पताल में लाया गया इनमें से तीन वर्कर्स जसवीर ,अमित और अश्विनी की नाजुक हालत को देखते हुए उन्हें चंडीगढ़ के जीएमसीएच सेक्टर 32 रेफर किया गया जबकि एक अन्य जख्मी अनूप कुमार को 90% बर्न के चलते पीजीआई रेफर किया गया। इसके अलावा तीन वर्कर्स ओम प्रकाश, सुरेंद्र और रमेश का इलाज डेराबस्सी सिविल अस्पताल में चल रहा है

Check Also

पेंशन के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटा रहे 2004 से पहले चयनित होने वाले कर्मियों को केंद्र सरकार का तोहफा

पेंशन के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटा रहे 2004 से पहले चयनित होने वाले कर्मियों को केंद्र सरकार का तोहफा

नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार ने अपने उन कर्मचारियों को एक बड़ी खुशखबरी दी है जो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel